आप यहां हैं : होम » बिज़नेस »

जेपीसी से चाको को हटाएं : गैर-कांग्रसी दल | बीजेपी सदस्यों को हटाएं : कांग्रेस

 
email
email
2G scam: all-out war for Joint Parliamentary Committee

PLAYClick to Expand & Play

नई दिल्ली: ैर-कांग्रेसी दलों के सांसदों ने गुरुवार को लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार से मिलकर 2-जी पर बनी जेपीसी के चेयरमैन पीसी चाको को हटाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। इसमें बीजेपी, बीजेडी, डीएमके, एआइडीएमके और लेफ्ट के साथ तृणमूल तक के नेता शामिल थे।

वहीं, कांग्रेस ने बीजेपी के तीन सदस्यों को हटाने की मांग की है। कांग्रेस ने लोकसभा अध्यक्ष से मांग की है कि जेपीसी में भाजपा के सदस्य जसवंत सिंह, यशवंत सिन्हा और रवि शंकर प्रसाद को हटाया जाना चाहिए।

लेफ्ट ने आरोप लगाया कि पीसी चाको निष्पक्ष नहीं हैं। मीरा कुमार से मिलने वालों में आठ दलों के 15 सांसद शामिल थे। जेपीसी का कायर्काल 10 मई को खत्म होने वाला है। इसका कार्यकाल बढ़ाने के लिए संसद में एक प्रस्ताव पास करना होगा। अगर ऐसा नहीं हुआ तो कमेटी को तय 10 मई के पहले ही अपनी रिपोर्ट सौंपनी होगी।

विपक्ष के सांसदों का मानना है कि सरकार कमेटी का कार्यकाल बढ़ाने के लिए प्रस्ताव नहीं लाएगी क्योंकि वह जेपीसी की मीटिंग ही नहीं बुलाना चाहती।

बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद का कहना है कि जेपीसी के 14 सदस्य उनके साथ चाको को हटाने की मांग को लेकर मीरा कुमार से मिले थे।

जेपीसी में अध्यक्ष को मिलाकर 30 सदस्य हैं। लोकसभा से 20 और राज्यसभा से 10 सदस्य हैं। सपा−बसपा का समर्थन मिले तो सरकार के साथ 14 सदस्य रहेंगे। 2-जी पर ड्राफ़्ट रिपोर्ट के ख़िलाफ 16 सदस्य हैं। रिपोर्ट पर मुहर लगाने के लिए टीएमसी−जेडीयू की ज़रूरत पड़ेगी। कमेटी में जेडीयू के दो सदस्य हैं।

जेपीसी (कुल−30) किसकी कितनी ताकत आइए जानें -
कांग्रेस−11, एनसीपी−1, बीएसपी−2, सपा −1, टीएमसी −1, बीजेपी−6, जेडीयू−2, एआईडीएमके−1, डीएमके−2, सीपीआई−1, सीपीआईएम−1, बीजेडी−1

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement