आप यहां हैं : होम » बिज़नेस »

एलपीजी उपभोक्ताओं के लिए केवाईसी फॉर्म भरने की समयसीमा बढ़ी

 
email
email
Govt extends deadline for filling KYC form by LPG consumers
नई दिल्ली: रकार ने एलपीजी उपभोक्ताओं के लिए केवाईसी (अपने ग्राहक को जानिए) फॉर्म को भरने की समयसीमा 15 दिन और बढ़ाकर 30 नवंबर तक कर दी है।

एलपीजी के कई कनेक्शन या दूसरे नामों से कनेक्शन रखने वाले उपभोक्ताओं का पता लगाने के लिए सरकार ने केवाईसी फॉर्म भराने की प्रक्रिया शुरू की है। इससे पहले भी समयसीमा 15 दिन बढ़ाकर 15 नवंबर की गई थी।

तेल उद्योग के एक अधिकारी ने कहा कि इस भारी-भरकम प्रक्रिया को देखते हुए पेट्रोलियम कंपनियों के आग्रह पर इसकी समयसीमा बढ़ाकर 30 नवंबर की जा रही है।

अधिकारी ने कहा कि पेट्रोलियम कंपनियां ‘एक घर एक कनेक्शन’ की नीति को लागू कर रही हैं। ऐसे में उपभोक्ताओं से कहा गया है कि जिनके पास एक से ज्यादा कनेक्शन हैं वे उसे स्वैच्छिक तौर पर लौटा दें।

एक की पते पर एक ही नाम से कई कनेक्शन या एक ही पते पर पति-पत्नी दोनों के नाम से यदि कनेक्शन हुआ तो उसे काट दिया जाएगा।

यदि एक ही पते पर अलग-अलग नामों से कई कनेक्शन हैं तो ऐसे में डिस्ट्रिब्यूटरों से कहा गया है कि वे सही उपभोक्ता की पहचान के लिए केवाईसी फॉर्म जुटाएं।

केवाईसी फॉर्म में उपभोक्ता को सभी आवश्यक जानकारियां मसलन नाम, जन्मतिथि, पिता का नाम, मां का नाम, पति या पत्नी का नाम, पिनकोड के साथ पते के अलावा वैकल्पिक रूप से बैंक की जानकारी देने होगी। उपभोक्ताओं को फॉर्म का पता तथा आईडी प्रमाण जमा कराना होगा। नए सब्सिडी वाले एलपीजी कनेक्शन केवाईसी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद जारी किए जाएंगे।

अधिकारी ने बताया कि 31 मार्च, 2013 तक सभी एलपीजी ग्राहक तीन सब्सिडी वाले सिलेंडरों के पात्र हैं। अगले साल 1 अप्रैल से एलपीजी उपभोक्ता एक वित्त वर्ष में सब्सिडी वाले छह सिलेंडर प्राप्त कर सकेंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
खत्म हो जाएगा पेट्रोल संकट, गन्ने के रस से चलेंगी गाड़ियां

शर्करा तकनीकी विशेषज्ञ एनके शुक्ला के मुताबिक गन्ने के रस से बना एथेनॉल ऊर्जा के अन्य साधनों से सस्ता है। उन्होंने बताया कि नागपुर व मुंबई में एथेनॉल से चलने वाली तीन बसें आ चुकी हैं।

Advertisement