आप यहां हैं : होम » ख़बरें क्रिकेट की »

पहले टेस्ट के लिए फिट हो जाऊंगा : माइकल क्लार्क

 
email
email
सिडनी: ांसपेशी में चोट से जूझ रहे माइकल क्लार्क का दूसरे अभ्यास मैच में खेलना संदिग्ध है, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई कप्तान को यकीन है कि वह 22 फरवरी से भारत के खिलाफ शुरू हो रहे पहले क्रिकेट टेस्ट तक फिट हो जाएंगे।

अपने 89 टेस्ट के करियर में क्लार्क कभी भी चोट के कारण टेस्ट से बाहर नहीं रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनके पास चोट से उबरने का पर्याप्त समय है और वह तीन दिवसीय अभ्यास मैच भी खेलना चाहते हैं, लेकिन फिजियो एलेक्स कोंटूरिस के फैसले को मानेंगे।

क्लार्क ने भारत रवाना होने से पहले पत्रकारों से कहा, मैं बेहतर महसूस कर रहा हूं। मेरे पास रिकवरी, रिहैबिलिटेशन और फिजियोथैरेपी के लिए चार दिन हैं। मुझे यकीन है कि समय रहते मैं सौ फीसदी फिट हो जाऊंगा। उन्होंने कहा, पूरी टीम की तरह ही भारत के हालात में ज्यादा से ज्यादा तैयारियों की मुझे भी जरूरत है। मैं तीन दिवसीय अभ्यास मैच खेलना चाहूंगा, लेकिन फिजियो एलेक्स की सलाह पर अमल करूंगा। फिलहाल तो मेरा इरादा तीन दिवसीय मैच खेलने का है। क्लार्क ने कहा, अभी काफी समय है और इसमें कोई शक नहीं कि मैं पहले टेस्ट तक फिट हो जाऊंगा। मुझे एलेक्स से बात करनी होगी और देखना होगा कि तैयारी का सर्वोत्तम तरीका क्या होगा। चोट के कारण वेस्टइंडीज के खिलाफ रविवार को आखिरी वन-डे नहीं खेल सके क्लार्क ने कहा कि वह भारतीय हालात के अनुकूल ढलने के लिए कुछ समय वहां बिताना चाहते हैं।
 
क्लार्क ने कहा, मुझे लगता है कि भारतीय हालात में खुद को ढालने के लिए मुझे वह मैच खेलना चाहिए। बल्लेबाजी और गेंदबाजी ही नहीं बल्कि कप्तानी के लिए भी क्योंकि भारत के हालात ऑस्ट्रेलिया से एकदम अलग हैं। उन्होंने कहा, लेकिन मैं विशेषज्ञों की राय मानूंगा। इंग्लैंड ने पिछले साल 28 बरस में पहली बार भारत में टेस्ट शृंखला जीती। उसके दो स्पिनरों ग्रीम स्वान और मोंटी पनेसर ने इसमें अहम भूमिका निभाई, लेकिन क्लार्क ने कहा कि अभी यह तय नहीं है कि ऑस्ट्रेलिया भी यही रणनीति अपनाएगा या नहीं।

उन्होंने कहा, हम भारत के अलग हिस्सों में खेल रहे हैं। हमें विकेट को देखकर ही कोई फैसला लेना होगा। हमारे पास अच्छे तेज गेंदबाज और स्पिनर है। मुझे भी भारत में गेंदबाजी में मजा आता है, लेकिन देखते हैं कि आगे क्या होता है। माइक हसी के संन्यास और शेन वाटसन के विशेषज्ञ बल्लेबाज के रूप में उतरने के कारण पहले टेस्ट के लिए अभी उन्होंने बल्लेबाजी क्रम भी तय नहीं किया है।

उन्होंने कहा, हमने 17 खिलाड़ियों को तीन अलग-अलग चरणों में वहां भेजा ताकि हालात के अनुकूल खुद को ढाल सकें। अभ्यास मैचों की भूमिका अहम होगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
विठ्ठल-रखुमाई मंदिर ने रखे सभी जातियों के पुजारी

महाराष्ट्र के मशहूर पंढरपुर के विठ्ठल−रखुमाई मंदिर ने नई मिसाल कायम की है। राज्य में ऐसा पहली बार हो रहा है कि इतने बड़े धार्मिक स्थल पर सभी जातियों के पुजारियों की नियुक्ति हुई है।

Advertisement