आप यहां हैं : होम » ख़बरें क्रिकेट की »

रांची वन-डे : धोनी के घर में भारत की धमाकेदार जीत

 
email
email
Ranchi ODI : India beat England by seven wickets
रांची: ारतीय टीम ने अपनी शानदार गेंदबाजी और विराट कोहली (नाबाद 77) की प्रशंसनीय बल्लेबाजी की मदद से रांची के जेएससीए अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में शनिवार को खेले गए तीसरे एकदिवसीय मैच में इंग्लैंड को सात विकेट से हराकर सीरीज में 2-1 से बढ़त हासिल कर ली।

भारत ने टॉस जीतकर इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया था। इंग्लैंड के 156 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने 28.1 ओवरों में तीन विकेट खोकर मैच अपने नाम कर लिया।

भारत के लिए विराट कोहली ने सबसे अधिक रनों का योगदान दिया। उन्होंने अपनी पारी में नौ चौके और दो छक्के लगाए। सलामी बल्लेबाज गौतम गम्भीर ने 39 रनों को योगदान दिया। उन्हें ट्रैडवेल की गेंद पर जोए रूट ने कैच किया। तीसरे विकेट के लिए बल्लेबाजी करने उतरे युवराज सिंह ने भी अपनी 30 रनों की आकर्षक पारी में छह चौके जमाए। उन्हें जेम्स ट्रैंडवेल ने बोल्ड किया।

भारतीय टीम की ओर से कोहली और गम्भीर के बीच 67 रनों और कोहली और युवराज के बीच 66 रनों की साझेदारी हुई। चौथे विकेट के लिए बल्लेबाजी करने आए कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने मैच का विजयी शॉट लगाया।   

भारतीय पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही और गम्भीर के साथ पारी की शुरुआत करने आए अजिंक्य रहाणे बिना कोई रन बनाए स्टीवन फिन की गेंद पर बोल्ड हो गए। इस वक्त टीम का कुल योग 11 रन था।

इंग्लैंड की ओर से ट्रैडवेल ने दो और फिन ने एक विकेट हासिल किया।

इससे पहले, इंग्लैंड की पूरी टीम 42.2 ओवरों में 155 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। रूट ने सर्वाधिक 39, इयान बेल और टिम ब्रेसनन ने टीम के कुल योग में 25-25 रनों का योगदान दिया।

रूट ने अपनी पारी में चार चौके लगाए। उनके अलावा कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर अधिक समय नहीं बिता सका। रूट और ब्रेसनन के बीच सातवें विकेट के लिए 47 रनों की साझेदारी हुई। इंग्लैंड के तीन बल्लेबाज अपना खाता भी नहीं खोल सके।

इंग्लैंड ने पारी की धीमी शुरुआत की और उसे 24 रनों के कुल योग पर कप्तान एलिस्टर कुक (17) के रूप में पहला झटका लगा। कुक को युवा गेंदबाज शमी अहमद ने पगबाधा आउट किया।

उनके बाद खेलने आए केविन पीटरसन भी अधिक देर तक नहीं टिक सके और ईशांत शर्मा की गेंद पर विकेटों के पीछे कैच थमा बैठे। पीटरसन ने 17 रनों का योगदान दिया। पीटरसन और बेल के बीच दूसरे विकेट के लिए 44 रनों की साझेदारी हुई।

इंग्लैंड को 68 रनों के कुल योग पर तीसरा झटका लगा। सलामी बल्लेबाज इयान बेल 25 रनों के निजी स्कोर पर भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर कप्तान धोनी के हाथों कैच हो गए। बेल ने अपनी पारी में 43 गेंदों में तीन चौके लगाए।

इंग्लैड का चौथा विकेट इयोन मोर्गन (10) के रूप में गिरा। उन्हें 97 रन के कुल योग पर रविचंद्रन अश्विन ने युवराज सिंह के हाथों कैच आउट कराया। उनके बाद क्रीज पर आए क्रेग कीसवेटर खाता भी नहीं खोल सके और रवीन्द्र जडेजा की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए। जडेजा ने अपने इसी ओवर में समित पटेल को शून्य पर आउट कर इंग्लैंड को छठा झटका दिया।

मेहमान टीम का सातवां विकेट 145 के कुल योग पर रूट के रूप में गिरा। वह ईशांत की गेंद पर विकेट के पीछे कैच थमा बैठे। उनके बाद कोई भी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजी का सामना नहीं कर सका और आखिरी तीन खिलाड़ी टीम के लिए महज 10 रन ही जुटा पाए।

इंग्लैंड का नौवां विकेट फिन (3) के रूप में गिरा। अंतिम विकेट के लिए बल्लेबाजी करने आए जेड डेर्नबैक खाता खोले बिना ही जडेजा की गेंद पर बोल्ड हो गए।

भारत की ओर से जडेजा ने तीन और ईशांत व अश्विन ने दो-दो विकेट झटके। शमी, भुवनेश्वर और सुरेश रैना ने भी एक-एक विकेट चटकाए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
भारत पहले से ही हिन्दू राष्ट्र : गोवा के उप-मुख्यमंत्री

उपमुख्यमंत्री ने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगी दीपक धवलीकर की उस टिप्पणी का बचाव किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि मोदी देश को हिन्दू राष्ट्र बना सकते हैं।

Advertisement