आप यहां हैं : होम » ख़बरें क्रिकेट की »

IPL-स्पॉट फिक्सिंग : 14 आरोपियों को पांच दिन की पुलिस रिमांड में भेजा गया

 
email
email
Sreesanth, two teammates, 11 bookies arrested for spot fixing in IPL

PLAYClick to Expand & Play

नई दिल्ली: ारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व तेज़ गेंदबाज तथा इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रेंचाइज़ी राजस्थान रॉयल्स के मौजूदा सदस्य शांताकुमारन श्रीसंत को टीम के दो अन्य खिलाड़ियों - अजित चन्दीला और अंकित चव्हाण - के साथ दिल्ली पुलिस ने टूर्नामेंट के दौरान स्पॉट फिक्सिंग करने के आरोप में मुंबई में गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि श्रीसंत को उसके एक दोस्त के घर से गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने इन तीनों खिलाड़ियों के अलावा मुंबई और दिल्ली से 11 बुकी भी गिरफ्तार किए हैं, जिनमें दिल्ली पुलिस आयुक्त के अनुसार 'सबसे बड़ा बुकी' कहलाने वाला टिंकू भी शामिल है। तीनों खिलाड़ियों को अदालत में पेश करने के लिए विमान से दिल्ली लाया गया है, और इन्हें साकेत कोर्ट मे पेश किया गया। कोर्ट ने सभी आरोपियों को पांच दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। इस बीच, भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) ने तीनों खिलाड़ियों को सस्पेंड कर दिया है।

ख़बर है कि बुधवार को मुंबई के साथ खेले गए मैच और उससे पहले मोहाली में हुए मैच में भी इन खिलाड़ियों ने स्पॉट फिक्सिंग की थी। सट्टेबाजों से मिली जानकारी के आधार पर इन तीनों पर दिल्ली पुलिस कई महीनों से कड़ी नज़र रखे हुए थी। सूत्रों के अनुसार, गिरफ्तार किए गए बुकीज़ में से पांच के नाम चंद्रेश चांदभाई पटेल, मंडल भूपेंद्र कुमार भट्ट, अमित रामगोविन्द सिंह, एसएस नैयर तथा बीजू उपेंद्र जनार्दन हैं।

इस बीच, दिल्ली में पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार ने बताया कि कुल 11 सटोरिये गिरफ्तार किए गए हैं, जिनमें दिल्ली का सबसे बड़ा सटोरिया टिंकू भी शामिल है। उन्होंने यह भी कहा कि फिक्सिंग के इस मामले में बल्लेबाज शामिल नहीं हैं और इस रैकेट का मास्टरमाइंड विदेश में है। स्पॉट फिक्सिंग के सबूत के तौर पर मैच का वीडियो भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिखाया गया, और बुकीज़ और खिलाड़ियों के बीच हुई बातचीत रिकॉर्ड की गई है। तय किए गए तरीके से गेंदबाज मैदान से बुकी को इशारा करते थे, जिसके तहत श्रीसंत ने तौलिये से इशारा किया। उन्होंने बताया कि एक ओवर के लिए 60 लाख रुपये लगाए गए थे, और चन्दीला को 20 लाख रुपये दिए जाने थे। इसके साथ ही कमिश्नर ने यह भी साफ किया है कि इस मामले में अभी और गिरफ्तारियां की जा सकती हैं। दिल्ली पुलिस ने खिलाड़ियों पर मकोका लगाने का फैसला किया है, इसके तहत जमानत नहीं मिलती।

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------
- यह भी ज़रूर पढ़ें -
-----------------------------------------------------------------------------------------------------------
* भ्रष्टाचार बिल्कुल बर्दाश्त नहीं, जांच करवाएंगे : बीसीसीआई प्रमुख
* स्पॉट फिक्सिंग : परिजनों ने कहा, फंसाया गया है चंदीला को
* फिक्सिंग कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी : राजस्थान रॉयल्स
* आइए जानते हैं, क्या होती है स्पॉट फिक्सिंग...?
-----------------------------------------------------------------------------------------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------------

पुलिस सूत्रों के अनुसार, इन खिलाड़ियों पर बीते हफ्ते के दौरान अलग-अलग मैचों में स्पॉट फिक्सिंग करने का आरोप है। सूत्रों ने यह भी बताया कि छठे संस्करण में पहुंच चुके और खिलाड़ियों को रईस बना देने के लिए मशहूर इस टूर्नामेंट के दौरान कथित रूप से की जा रही स्पॉट फिक्सिंग के खिलाफ दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल द्वारा कई महीने से जांच चल रही थी, और ये गिरफ्तारियां उसी जांच का हिस्सा हैं।

पुलिस कह रही है कि श्रीसंत, अंकित और चन्दीला को करोड़ों रुपये दिए गए। इस बार आईपीएल शुरू होने के वक्त से ही बुकीज़ और खिलाड़ी स्पेशल सेल के निशाने पर थे। तकरीबन छह महीने पहले बुकीज़ के एक रैकेट का भंडाफोड़ किए जाने के बाद से ही फोन टैप किये जा रहे थे। राजस्थान और दिल्ली से ऑपरेट करने वाले दो बड़े बुकी शुभम और जुपिटर इन तीनों खिलाड़ियों के लगातार संपर्क में थे।

सूत्रों के मुताबिक मुंबई में बुधवार को खेले गए मैच और उससे पहले मोहाली में हुए मैच में हुई थी स्पॉट फिक्सिंग की गई थी, और इनसे जुड़े पैसों के कुछ लेन-देन के बारे में भी जानकारी मिली है। सूत्रों ने बताया है कि खिलाड़ियों ने 50 लाख रुपये से भी ज़्यादा की एक रकम पर सहमति दी थी, और एक खिलाड़ी बुधवार के मैच में एक ओवर के दौरान 20 रन देने के लिए तैयार हो गया था। वैसे बुधवार के मैच में श्रीसंत और चन्दीला नहीं खेले थे, इसलिए इस मैच में प्राइम सस्पेक्ट अंकित चव्हाण है।

श्रीसंत, अजित चन्दीला तथा अंकित चव्हाण इस वक्त आईपीएल की राजस्थान रॉयल्स टीम के खिलाड़ी हैं, जिसकी को-ओनर बॉलीवुड स्टार शिल्पा शेट्टी हैं। टीम प्रबंधन ने एक बयान जारी कर कहा है, "हम पूरी तरह आश्चर्यचकित हैं... हम अधिकारियों के साथ पूरी तरह सहयोग करेंगे, ताकि मामले की तह तक जांच की जा सके... राजस्थान रॉयल्स का प्रबंधन हर ऐसी गतिविधि को कतई बर्दाश्त नहीं करेगा, जो खेल की भावना के विरुद्ध हो..." (पूरा बयान पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

केरल रणजी टीम की ओर से खेलने वाले शांताकुमारन श्रीसंत भारत की ओर से 53 एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच तथा 27 टेस्ट मैच भी खेल चुके हैं, तथा इससे पहले भी वह आईपीएल के दौरान ही हरभजन सिंह के साथ थप्पड़ विवाद को लेकर चर्चा में रहे थे। श्रीसंत ने वर्ष 2005 में भारत के लिए पहला वन-डे इंटरनेशनल और वर्ष 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट मैच खेला था। उन्होंने 27 टेस्ट मैचों में अब तक 87 विकेट लिए हैं, जबकि 53 वन-डे मैचों में वह 75 विकेट चटका चुके हैं।

उधर, 29-वर्षीय चन्दीला इससे पहले हरियाणा रणजी टीम और आईपीएल की दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेले हैं, और सिर्फ दो फर्स्ट क्लास मैचों का अनुभव रखने वाले चन्दीला ने पिछले साल पुणे के खिलाफ हैट-ट्रिक ली थी. जबकि 27-वर्षीय अंकित चव्हाण इससे पहले मुंबई रणजी टीम के लिए खेलते रहे हैं, और फिर मुंबई इंडियन्स के लिए भी। उन्हें 18 फर्स्ट क्लास मैचों का अनुभव है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement