आप यहां हैं : होम » ख़बरें क्रिकेट की »

बगावत का संकेत देकर स्वदेश लौटे वॉटसन

 
email
email
मोहाली: स्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के उपकप्तान शेन वॉटसन ने खुद को तीसरे टेस्ट के लिए अयोग्य करार दिए जाने के बाद स्वदेश वापसी की राह पकड़ ली है। टीम प्रबंधन ने सोमवार को वॉटसन सहित चार खिलाड़ियों को प्रोटोकॉल तोड़ने के कारण 14 मार्च से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट से बाहर कर दिया था। बाकी के तीन खिलाड़ी टीम के साथ बने रहे लेकिन वॉटसन बगावत का संकेत देकर स्वदेश लौट गए।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने इसका खंडन किया है। सीए ने कहा कि वॉटसन अपनी गर्भवती पत्नी ली फर्लांग की देखभाल के लिए स्वदेश लौटे हैं, न कि प्रबंधन के फैसले से नाराज होकर। वॉटसन की पत्नी इस महीने के अंत में अपने पहले बच्चे को जन्म देने वाली हैं।

ऑस्ट्रेलियाई टीम प्रबंधन द्वारा अपने एक आदेश का अनुपालन नहीं करने को लेकर तीसरे टेस्ट की संभावित टीम से बाहर किए गए खिलाड़ियों में वॉटसन के अलावा, जेम्स पेटिंसन, उस्मान ख्वाजा और मिशेल जॉनसन शामिल हैं।

दरअसल, हुआ यह था कि हैदराबाद की करारी शिकस्त के बाद कोच मिकी अर्थर ने सभी खिलाड़ियों को एक-एक होमवर्क दिया, जिसके तहत उनको अपनी तीन-तीन कमियों के बारे में बताना था। खिलाड़ियों के इन सुझावों के आधार पर टीम प्रबंधन अगले मैच की तैयारी करता।

खिलाड़ियों को यह काम मंगलवार को दिया गया था और सुझाव देने के लिए शनिवार तक का समय मिला था। रविवार रात तक अधिकांश खिलाड़ियों ने ई-मेल या पत्र के जरिए अर्थर को अपना होमवर्क होने की जानकारी दे दी, लेकिन, वॉटसन पेटिंसन, ख्वाजा और जॉनसन ने इस आदेश की अनदेखी की।

सोमवार को अर्थर ने कप्तान माइकल क्लार्क और टीम प्रबंधक गेविन डोवे के साथ बैठक की और अवज्ञा करने वाले खिलाड़ियों को तीसरे टेस्ट की संभावित सूची से बाहर करने का फैसला लिया। इसकी जानकारी सोमवार को ही मीडिया को मिल गई। इसके बाद सोमवार शाम होते-होते यह भी खबर आई कि वॉटसन स्वदेश लौट गए हैं।
 
अर्थर ने कहा, "मेरा मानना है कि ये चारों खिलाड़ी मेरी जरूरतों को पूरा नहीं कर पाए, जिसके बाद चारों को अगले टेस्ट के लिए टीम से बाहर कर दिया गया। मैं अपनी टीम को दुनिया की सबसे बेहतरीन टीम बनाना चाहता हूं। परंतु अगर खिलाड़ी इस तरह का व्यवहार करेंगे, तो मैं ऐसा कैसे कर पाऊंगा।"

अर्थर बोले, "हैदराबाद टेस्ट में हार के कारण टीम को काफी दुख पहुंचा था। हम श्रृंखला में वापसी करने के तरीकों के बारे में चर्चा कर रहे थे। हमें विशेषतौर पर यह मालूम था कि हमारी टीम कहां पर हैं और श्रृंखला में कैसे वापसी करेगी। दुर्भाग्यवश इन चारों ने अनुशासन का पालन नहीं किया।"

सीए के प्रवक्ता ने कहा है कि वॉटसन की पत्नी गर्भवती हैं और जल्द ही मां बनने वाली हैं। वॉटसन उनकी देखभाल के लिए ही स्वदेश लौटे हैं। उनका प्रबंधन के इस फैसले से कोई लेना-देना नहीं है। प्रवक्ता ने हालांकि यह साफ नहीं किया कि वॉटसन 22 मार्च से नई दिल्ली में खेले जाने वाले चौथे टेस्ट मैच से पहले भारत लौटेंगे या नहीं।

ऑस्ट्रेलिया की टीम में 16 खिलाड़ी शामिल हैं। अब इस निर्णय के बाद 13 खिलाड़ी रह गए हैं, जिनमें से तीसरे टेस्ट के लिए अंतिम एकादश का चयन होगा। विकेटकीपर बल्लेबाज मैथ्यू वेड चोटिल हैं। उनके स्थान पर ब्रेड हेडिन को भारत बुलाया गया है। वेड तीसरे टेस्ट में खेलेंगे या नहीं इस पर फैसला अंतिम समय में हो पाएगा।

पेटिंसन ने इस शृंखला में शानदार गेंदबाजी की है। उन्होंने चेन्नई टेस्ट की पहली पारी में पांच विकेट हासिल किए थे। अब तक खेले गए दो मैचों में वह 8 विकेट ले चुके हैं। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज भी कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं। अब वॉटसन के टीम के बाहर होने से टीम की मुश्किलें और बढ़ सकती है।

अर्थर ने कहा कि यह उनके तथा कप्तान क्लार्क के लिए सबसे कठिन फैसला था। बकौल अर्थर, "यह काफी कठिन फैसला था। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट से जुड़े सभी लोगों के पास यह संदेश गया है कि हम अपने काम को लेकर काफी गम्भीर हैं और हम इस टीम को एक नई ऊंचाई तक ले जाना चाहते हैं।"

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement