आप यहां हैं : होम » देश से »

नेतृत्व विवाद के बाद पहली बार एक मंच पर दिखेंगे आडवाणी-मोदी

 
email
email
Advani, Rajnath, Narendra Modi to be at Chikhalia's condolence meet
अहमदाबाद: ीजेपी में 2014 के चुनाव में नेतृत्व को लेकर उठे विवाद के बाद आज पहला मौका है जब नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह और पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी एक साथ मंच पर होंगे। ये तीनों गुजरात के जूनागढ़ में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे, जिसमें स्थानीय बीजेपी नेता भावना बेन का सम्मान किया जाएगा।

इससे पहले मोदी एक कॉन्क्लेव में मुस्लिम युवाओं की बात ध्यान से सुनते नजर आए और कहा कि सवालों पर गौर किया जाएगा। इसे साल 2014 से पहले उनके 'इमेज मेकओवर' की कोशिश से जोड़कर देखा जा रहा है।

मोदी के ज्ञात आलोचक सैयद जफर महमूद ने शनिवार को उनके समक्ष मुस्लिमों की समस्याओं के विभिन्न पहलुओं और 2002 दंगों की एक स्लाइड शो भी प्रदर्शित की और कहा कि उन्हें इस बात की प्रसन्नता है कि उनके विचारों पर ध्यान दिया गया।

मोदी ने प्रस्तुति समाप्त होने के बाद महमूद से कहा, ‘‘यह बहुत अच्छा है, आपने सब कह दिया और मैं उस पर विचार करूंगा।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या मोदी अधिक स्वीकृति के लिए समाज के विभिन्न वर्गों तक अपनी पहुंच बना पा रहे हैं, महमूद ने कहा, ‘‘हां, आप सही कह रहे हैं। मेरा मानना है कि मुझे निमंत्रित करने का उद्देश्य यही था, मेरा पहला जवाब था माफ कीजिए मैं नहीं आ पाउंगा लेकिन बाद में मैंने इसके बारे में बहुत सोचा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘..बेहतर होगा जाना और उनसे मुलाकात करना। उन्हें बताया जाए कि भारत के मुस्लिमों का क्या विचार है। भाजपा से मुस्लिम समुदाय की क्या शिकायतें हैं? मुस्लिम समुदाय भाजपा और मोदी से इतना दुखी क्यों है?’’

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
भारत पहले से ही हिन्दू राष्ट्र : गोवा के उप-मुख्यमंत्री

उपमुख्यमंत्री ने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगी दीपक धवलीकर की उस टिप्पणी का बचाव किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि मोदी देश को हिन्दू राष्ट्र बना सकते हैं।

Advertisement