आप यहां हैं : होम » देश से »

बच गए बंसल, पार्टी हाईकमान के सामने दी सफाई

 
email
email
Bribe issue: Nephew arrested, Rail minister offer resignation to PM

PLAYClick to Expand & Play

नई दिल्ली: ोर ग्रुप की बैठक में रेल मंत्री पवन बंसल ने अपनी सफाई दी है। परिणामस्वरूप, पार्टी ने उन्हें मंत्री पद पर बनाए रखने का फैसला किया है।

इधर, सीबीआई ने रेलमंत्री पवन बंसल के भांजे विजय सिंगला को गिरफ़्तार किया है। सिंगला पर 90 लाख रुपये घूस लेने का आरोप है। सिंगला को शुक्रवार को सीबीआई ने चंडीगढ़ से गिरफ़्तार किया।

रेल मंत्री बंसल के भतीजे की गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस पार्टी ने रेलमंत्री पवन बंसल से नाराजगी जताते हुए सफाई देने के लिए कहा था। उनकी सफाई के बाद पार्टी ने मंत्री पद पर बनाए रखने का फैसला किया है।

रेलमंत्री ने सफाई देते हुए कहा कि इस घूस कांड से उनका कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि मेरे कामकाज में किसी का दखल नहीं है। रेलमंत्री ने यहां तक कहा कि इस मामले की उन्हें जानकारी नहीं थी। रेलमंत्री पीके बंसल ने गिरफ्तार हुए अपने भांजे से दूरी बनाई, किसी भी गड़बड़ी से इनकार किया। उनहोंने कहा, मैंने सार्वजनिक जीवन में अत्यंत ईमानदारी बरती है। अपने भांजे के साथ मेरे कोई व्यावसायिक संबंध या किसी तरह का वित्तीय लेनदेन नहीं है। बंसल ने कहा, मैं मामले में त्वरित सीबीआई जांच की उम्मीद करता हूं।

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि रेलमंत्री ने खुद इस्तीफे की पेशकश की है और स्पष्टीकरण दे दिया है। उन्होंने कहा कि रेलमंत्री ने कहा है कि इस मामले की जांच होने चाहिए। विपक्ष के रेलमंत्री के इस्तीफे की मांग पर उनका कहना है कि विपक्ष को इस्तीफा मांगने का रोग लग गया है।

वहीं, मुख्य विपक्षी दल ने सरकार पर हमला आरंभ कर दिया है। भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने इस मामले में सीधे पीएम मनमोहन सिंह और कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी पर निशाना साधा है। पार्टी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने सरकार पर हमला करते हुए पीएम से इस्तीफा की मांग की है।

बता दें कि बीती रात विजय सिंगला के साथ चंडीगढ़ से एक और शख़्स संदीप गोयल को भी गिरफ़्तार किया गया है। वहीं, सीबीआई ने रेलवे बोर्ड के सदस्य महेश कुमार मुंबई से गिरफ़्तार किया। महेश कुमार पर घूस देने का आरोप है। इन तीनों के अलावा सीबीआई ने मंजू नाथ नाम के एक और शख़्स को गिरफ़्तार किया है।

अब सीबीआई विजय सिंगला, महेश कुमार और संदीप गोयल को दिल्ली लाने की तैयारी कर रही है। बताया जा रहा है कि विजय सिंगला ने पहले महेश कुमार से प्रोमोशन के लिए 10 करोड़ रुपये की मांग की थी, जो बाद में दो करोड़ रुपये पर तय हुई। उसी की पहली किस्त 90 लाख रुपये में दी जा रही थी।

खास बात यह है कि महेश कुमार को दो दिन पहले ही रेलवे बोर्ड का सदस्य बनाया गया है। वह रेलवे बोर्डे के चेयरमैन बनना चाहते थे। बताया जा रहा है कि सभी आरोपियों को गिरफ्तारी के बाद दिल्ली लाया गया।  इस सभी लोगों को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया और कोर्ट ने चार दिन की रिमांड सीबीआई को दे दी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
खत्म हो जाएगा पेट्रोल संकट, गन्ने के रस से चलेंगी गाड़ियां

शर्करा तकनीकी विशेषज्ञ एनके शुक्ला के मुताबिक गन्ने के रस से बना एथेनॉल ऊर्जा के अन्य साधनों से सस्ता है। उन्होंने बताया कि नागपुर व मुंबई में एथेनॉल से चलने वाली तीन बसें आ चुकी हैं।

Advertisement