आप यहां हैं : होम » देश से »

बजट सत्र के दौरान तेलंगाना पर फैसले के आसार नहीं

 
email
email
नई दिल्ली: ेलंगाना समर्थक समूहों के दबाव के बावजूद संसद के चालू बजट सत्र के दौरान केंद्र सरकार की ओर से पृथक राज्य की मांग पर कोई फैसला किए जाने के आसार नहीं है। संसद का बजट सत्र 10 मई तक चलेगा।

सरकार के एक पदाधिकारी ने कहा कि सरकार अैर कांग्रेस पार्टी में विचार-विमर्श चल रहा है इसलिए बजट सत्र में कोई फैसला होने के आसार नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार वर्तमान सत्र में महत्वपूर्ण वित्तीय कामकाज निपटाने की कोशिश करेगी और इसमें कोई व्यवधान नहीं चाहेगी।

इस पदाधिकारी ने कहा ‘हमें वर्ष 2014 में होने जा रहे लोकसभा चुनावों से पहले फैसला करना ही होगा। लेकिन हम इस संवेदनशील मुद्दे पर ऐसे समय पर फैसला नहीं कर सकते जब सत्र चल रहा हो क्योंकि इससे संसद में व्यवधान हो सकता है।’ सरकार को यह भी चिंता है कि जल्दबाजी में तेलंगाना पर फैसला करने से देश के अन्य भागों से उठ रही पृथक राज्यों की मांग तेज हो जाएगी।

हाल ही में गोरखा मुक्ति मोर्चा ने सरकार से कहा था कि अगर वह पृथक तेलंगाना के गठन पर विचार कर रही है तो उसे गोरखालैंड राज्य की उनकी मांग पर विचार करना चाहिए।

बहरहाल, पृथक तेलंगाना की वकालत करते हुए राकांपा प्रमुख और कृषि मंत्री शरद पवार ने प्रधानमंत्री से कहा कि मामले में देर करना ठीक नहीं होगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement