आप यहां हैं : होम » देश से »

नरेंद्र मोदी के 'पुण्य कार्य' में भी कांग्रेस को दिखी सियासत : बीजेपी

 
email
email
Congress seeing politics in pios work of Narendra Modi: BJP
नई दिल्ली: ीजेपी ने मंगलवार को कहा कि नरेंद्र मोदी की हैदराबाद रैली में आने वाले श्रोताओं से 5-5 रुपये एकत्र करके आपदा की चपेट में आए उत्तराखंड के लोगों के लिए जारी राहत कार्यों में सहयोग किया जाएगा। इस पुण्य काम से कांग्रेस का सियासत खेलना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।

पार्टी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘मोदी की रैली से ये पैसे बीजेपी के लिए नहीं लिए जा रहे हैं, बल्कि उत्तराखंड के लोगों की सहायता करके उनके जख्मों को मरहम लगाने का प्रयास किया जा रहा है। दूसरी ओर कांग्रेस इससे भी सियासत करके राज्य के लोगों के जख्मों पर नमक छिड़कने का काम कर रही है।

उधर, हैदराबाद में पार्टी के वरिष्ठ नेता एम वेंकैया नायडु ने कहा, ‘कांग्रेस नरेंद्र मोदी से घबराई हुई है। वे नरेंद्र मोदी की बढ़ती शोहरत को पचा नहीं पा रही है। इसलिए वे ऐसे आरोप लगा रहे हैं। वे अनुचित तरीके से हमला करने की कोशिश कर रहे हैं।’

नायडू ने कहा, ‘हमें समझ नहीं आता कि कांग्रेस को इस पर ऐतराज क्यों है। भागीदारी की भावना जगाने के लिए पार्टी ने यह फैसला किया है। नाम मात्र की राशि जो ली जाएगी वह उत्तराखंड के राहत कार्यों में खर्च होगी। यदि वह (केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी) कहते हैं कि यह एक ‘फ्लॉप शो’ है तो वह भी ‘फ्लॉप शो’ कर सकते हैं। कांग्रेस का शो तो खुद ही ‘फ्लॉप शो’ है। कांग्रेस इस देश में पिछले 50 साल से ‘फ्लॉप शो’ चला रही है।’

कांग्रेस नेता और सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर मोदी की सार्वजनिक सभा के लिए प्रति व्यक्ति पांच रुपये शुल्क तय करने की आलोचना करते हुए व्यंग्य किया है कि इससे गुजरात के मुख्यमंत्री की ‘असली कीमत’ पता चलती है।

उन्होंने कहा, ‘बाबा प्रवचन का टिकट 100 से 1,00,000 रुपये। बॉक्स ऑफिस पर फ्लाप होने के बावजूद सिनेमा का टिकट 200 से 500 रुपये और एक मुख्यमंत्री को सुनने के लिए टिकट पांच रुपये। बाजार ने बता दी है असली कीमत।’

मोदी की लोकप्रियता को भुनाने के उद्देश्य से बीजेपी की आंध्रप्रदेश इकाई 11 अगस्त को हैदराबाद में होने वाली उनकी सार्वजनिक सभा में शामिल होने के लिए पांच रुपये प्रति व्यक्ति की दर से पंजीयन शुल्क एकत्र कर रही है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement