आप यहां हैं : होम » देश से »

दिल्ली गैंगरेप : पीड़ित को वेंटिलेटर से हटाया, लेकिन संक्रमण की आशंका

 
email
email
Delhi gangrape case: Victim is not on ventilator,concerns about infection

PLAYClick to Expand & Play

नई दिल्ली: िल्ली में चलती बस में गैंगरेप की शिकार हुई लड़की को वेंटिलेटर से हटा दिया गया है और अब वह बोलने की कोशिश कर रही है। हालांकि डॉक्टरों ने कहा कि आज उसका प्लेटलेट्स काउंट और गिर गया है। सफदरजंद अस्पताल के आईसीयू में भर्ती इस लड़की का इलाज कर रहे डॉक्टरों को उसके लीवर में भी संक्रमण फैलने की आशंका दिख रही है। रविवार रात को अस्पताल में भर्ती कराए जाने के बाद लड़की की पांच सर्जरी की जा चुकी है और उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है।

गुरुवार को सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि पीड़ित को बुरी तरह से पीटा गया और अभी तक लड़की की दो बड़ी सर्जरी कर आंत के संक्रमित हिस्से को हटा दिया गया है। बुरी तरह से घायल और नाजुक दौर से गुज़र रही लड़की ने गजब की हिम्मत और हौसला दिखाया है। डॉक्टर उसे बचाने और बेहतर बनाने के लिए पूरी ताकत लगाए हुए हैं। कल उसने अपने परिवारवालों से लिखकर पूछा, क्या आरोपी पकड़े गए?

वहीं गैंगरेप के एक फरार आरोपी को बदायूं से पकड़ा गया है। वह नाबालिग है, इसलिए उसे जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया जाएगा। एक अन्य आरोपी अक्षय ठाकुर को बरेली से हिरासत में लेने की खबर है। इसके साथ ही गैंगरेप के पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिनमें से मुकेश न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल में बंद है, बाकी तीनों (रामसिंह, पवन और विनय) फिलहाल पुलिस रिमांड में हैं।

पुलिस ने गैंगरेप की पीड़ित लड़की का एटीएम, उसकी घड़ी, दो मोबाइल फोन और कपड़ों के जले टुकड़े बरामद कर लिए हैं। दिल्ली पुलिस को आज हाइकोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट भी देनी है। गुरुवार को पीड़ित लड़की के दोस्त ने शिनाख्त परेड में एक आरोपी मुकेश की पहचान कर ली है, जिससे इस बात पर मुहर लग गई कि आरोपी मुकेश वारदात के वक्त मौजूद था और उसमें शामिल भी था। मुकेश मुख्य आरोपी और बस ड्राइवर राम सिंह का भाई है, जो उस रात बस चला रहा था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement