आप यहां हैं : होम » देश से »

डीजल मूल्यवृद्धि पर सहयोगी दल खफा, दिग्विजय ने की दोहरी कीमत की वकालत

 
email
email
Diesel price hike:  Allies Mayawati, DMK slam govt, Digvijay too not happy

PLAYClick to Expand & Play

नई दिल्ली / जयपुर: ीजल की कीमतें 50 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दी गईं हैं और सूत्रों के मुताबिक इसकी कीमत हर महीने 50 पैसे प्रति लीटर बढ़ेंगी। दरअसल, सरकार ने डीजल की कीमत से अपना नियंत्रण कम कर लिया है।

हालांकि सरकार ने पेट्रोल की कीमत 25 पैसे प्रति लीटर कम करने का भी ऐलान किया है, लेकिन डीजल के दाम बढ़ाने का विरोध शुरू हो गया है। डीजल के दाम बढ़ाने पर हो रहे विरोध के बाद कांग्रेस पार्टी के अंदर अब इस फैसले के राजनीतिक परिणाम को लेकर चिंता दिखने लगी है।

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने डीजल का इस्तेमाल करने वाले किसानों के लिए राहत की मांग करते हुए उन्हें सीधे कैश सब्सिडी की वकालत की है। उनका कहना है कि उपभोक्ताओं में सिर्फ 12 फीसदी किसान हैं। डीजल के दामों के लिए केंद्र सरकार को इसके लिए दोहरी नीति अपनानी चाहिए और किसानों को पंपिग सेट या ट्रैक्टर के लिए रियायती दरों पर डीजल मिलना चाहिए। कैश ट्रांसफर के जरिये इस पर सब्सिडी दी जा सकती है।

यूपीए की सहयोगी डीएमके ने डीजल की कीमतों को नियंत्रण मुक्त करने के कदम पर पुनर्विचार की मांग की है और वह चाहती है कि सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडरों की सीमा और बढ़ाई जाए। वहीं, बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने भी सरकार के फैसले की आलोचना की है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
भारत पहले से ही हिन्दू राष्ट्र : गोवा के उप-मुख्यमंत्री

उपमुख्यमंत्री ने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगी दीपक धवलीकर की उस टिप्पणी का बचाव किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि मोदी देश को हिन्दू राष्ट्र बना सकते हैं।

Advertisement