आप यहां हैं : होम » देश से »

ईरान में आए भूकंप से भारत भी हिला, क्षति नहीं

 
email
email
Earth quake in northern India
नई दिल्ली: ाष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों के साथ ही उत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों में मंगलवार अपराह्न भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए।

भूकंप के कारण जान-माल के नुकसान की फिलहाल कोई खबर नहीं है। भूकंप का केंद्र ईरान-पाकिस्तान की सीमा के पास स्थित था, जहां इसकी तीव्रता 7.8 मापी गई।

भारत में कश्मीर से लेकर उत्तरी भारत के लगभग सभी हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान आदि राज्यों से भी भूकंप की खबरें आई हैं।

भारतीय भूगर्भ विज्ञान विभाग के भूकंप विभाग के अध्यक्ष वी. दत्तात्रेय ने कहा, "भूकंप का केंद्र ईरान-पाकिस्तान सीमा पर स्थित था और रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 7.8 मापी गई।"

एक अधिकारी ने बताया कि भारतीय समय के अनुसार भूकंप अपराह्न 4.14 बजे धरती से 33 किलोमीटर की गहराई से उठा।

कुछ सेकंड तक आए भूकंप के तेज झटकों ने कई जगहों पर लोगों को डरा दिया। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में लोग अपने-अपने कार्यालयों और घरों से बाहर निकल आए।

पूर्वी दिल्ली के मयूर विहार इलाके की निवासी मालिनी सक्सेना ने कहा, "मैंने पहले हल्के झटकों पर ध्यान नहीं दिया, लेकिन झटकों के लगातार आते रहने पर मेरा ध्यान गया कि यह तो भूकंप है।"

नई दिल्ली से सटे हरियाणा के गुड़गांव में एक बहुमंजिला इमारत में रहने वाली अनुष्का ने बताया, "मैं सो रही थी कि मुझे भूकंप के झटके महसूस हुए। मैं उठ पड़ी। मेरे घर के गलियारे में लटकी हुई गुड़िया जोर-जोर से हिल रही थी और चम्मच आपस में खड़खड़ा रहे थे।" कुछ लोगों ने छत से लटके पंखे को झूलते देखा।

भूकंप की खबरें इंटरनेट पर सोशल साइटों पर खूब छाई रहीं और पूरे देश से लोगों ने भूकंप के झटके महसूस करने के अनुभव साझा किए।

हैदराबाद से दुबई में अपनी भाभी से स्काइप के जरिए बात कर रही मुंजला एच ने कहा, "अपनी भाभी से स्काइप पर बात करते समय मैंने भूकंप के झटके महसूस किए और आप भी ट्विटर पर 'हैश अर्थक्वेक और हैश फ्यू' के अंतर्गत इस कंपा देने वाली घटना को देख सकते हैं। मैं इस समय हैदराबाद में हूं और मेरी भाभी दुबई में हैं।"

पूर्वोत्तर भारत में मंगलवार की सुबह ही भूकंप के दो हल्के झटके महसूस किए गए थे। पहला झटका असम, मेघालय, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, और मणिपुर में सुबह 6.53 बजे महसूस किया गया जबकि दूसरा झटका असम के डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया में और अरुणाचल प्रदेश के कुछ इलाकों में अपराह्न 2.04 बजे महसूस किया गया।

पहले भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.6 थी और दूसरे झटके की तीव्रता 5.0 थी।

स्थानीय भूकंप विज्ञान केंद्र के अधिकारियों ने बताया कि पहले भूकंप का केंद्र जहां असम के दर्राग जिले में था, वहीं दूसरा भूकंप अरुणाचल प्रदेश-चीन सीमा के पास से उठा था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
भारत पहले से ही हिन्दू राष्ट्र : गोवा के उप-मुख्यमंत्री

उपमुख्यमंत्री ने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगी दीपक धवलीकर की उस टिप्पणी का बचाव किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि मोदी देश को हिन्दू राष्ट्र बना सकते हैं।

Advertisement