आप यहां हैं : होम » देश से »

राजनीतिक पार्टी बनने के बाद आईएसी का नाम इस्तेमाल नहीं करेंगे केजरीवाल

 
email
email
If Anna says, will not use IAC name: Kejriwal
नई दिल्ली: रविन्द केजरीवाल ने कहा कि वह 26 नवंबर को अपनी राजनीतिक पार्टी के गठन के बाद ‘इंडिया अगेन्स्ट करप्शन (आईएसी)’ के नाम का इस्तेमाल नहीं करेंगे।

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘अन्ना हमारे के लिए बहुत प्रिय हैं। मैं उनका बहुत सम्मान करता हूं। 26 नवंबर को हमारी पार्टी की शुरुआत के बाद हम आईएसी के नाम का इस्तेमाल नहीं करेंगे।’

इससे पहले, दिन में उन्होंने कहा कि वह अन्ना हजारे को अपना गुरु मानते हैं और उनसे रोजाना बात करते हैं।

केजरीवाल ने कहा कि यदि अन्ना उनसे आईएसी के नाम का इस्तेमाल बंद करने को कहते हैं तो वह इसका इस्तेमाल नहीं करेंगे। उनसे अन्ना और उनके सहयोगियों के इस दावे के बारे में सवाल किया गया था कि आईएसी नाम उनके पास ही रहेगा।

इस बीच, सामाजिक कार्यकर्ता किरण बेदी ने कहा कि आईएसी नाम अन्ना हजारे के साथ ही रहेगा। उन्होंने कहा कि हम आईएसी के नाम से दान लेंगे। जनता आईएसी के नाम पर दान दे सकती है। अरविन्द केजरीवाल के संगठन का नाम ‘पब्लिक कॉज रिसर्च फाउण्डेशन (पीसीआरएफ)’ है।

अन्ना ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आईएसी का बैक खाता किरण बेदी, सुनीता गोदरा और लेफ्टिनेंट कर्नल बिजेन्दर कोखर के नाम पर रहेगा। ये सभी नई समन्वय समिति के सदस्य हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
बिहार : दो गिलास जूस के लिए दिए 35 हजार रुपये

पटना के गांधी मैदान के पास जूस का ठेला लगाने वाले राजू को दो गिलास जूस के लिए 35 हजार कीमत दी गई। दरअसल, यह रकम उन चोरों ने दी थी, जिन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के भाई साधु यादव के घर से 70 लाख रुपये चोरी किए थे।

Advertisement