आप यहां हैं : होम » देश से »

कोलकाता में छात्र की मौत, परिवार की सीबीआई जांच की मांग, लेफ्ट ने बुलाया बंद

 
email
email
Kolkata student's family wants CBI probe into his death
कोलकाता: ीपीएम के छात्र संगठन स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के युवा कार्यकर्ता सुदीप्तो गुप्ता की मौत के मामले ने पश्चिम बंगाल में सियासत को गरमा दिया है। एसएफआई ने आज दक्षिण कोलकाता के इलाकों में 12 घंटे के बंद का ऐलान किया है। इसके अलावा लेफ्ट की छात्र इकाइयां पूरे प्रदेश में चक्का जाम कर विरोध जताएगी।

सीपीएम जहां पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए इसकी न्यायिक जांच की मांग कर रही है, जबकि पुलिस और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इसे एक दुर्घटना बता रही हैं। ममता बनर्जी मृतक के परिवार से सहानुभूति तो जता रही हैं, लेकिन उन्होंने जांच की बात तक नहीं कही। सुदीप्तो के परिवार ने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की है।

वैसे पुलिस ने सुदीप्तो की मौत के मामले में एक बस चालक को गिरफ्तार किया है और उस पर लापरवाही से वाहन चलाने का आरोप लगाया गया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि बस चालक की गिरफ्तारी के साथ मामले में आगे की जांच की जा रही है।

पुलिस के मुताबिक सुदीप्तो का सिर पोल से टकराया, जिससे उसकी मौत हुई, लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट कुछ और ही कहानी बयां कर रही है। सुदीप्तो की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बारे में जो जानकारी मिल रही है, उसके मुताबिक उनके शरीर पर चोट के पांच निशान थे। ये चोट सिर के पीछे, कान, आंख और गले के पास थी। सिर के अंदर घाव के गंभीर निशान मिले हैं।

रिपोर्ट यह भी बताती है कि सुदीप्तो के गले में पत्थर के छोटे-छोटे टुकड़े थे। सिर के पीछे और दोनों कानों के पास किसी भारी चीज से मारने के निशान हैं। इन सभी घावों से लगातार खून बहा, जिसकी वजह से सुदीप्तो की मौत हुई। बुधवार को सुदीप्तो की अंतिम यात्रा में हजारों वामपंथी कार्यकर्ताओं के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेब भट्टाचार्य भी शामिल हुए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement