आप यहां हैं : होम » देश से »

हम सत्ता में आए तो आयकर अधिकारियों को बचाने सोनिया नहीं आएंगी : गडकरी

 
email
email
Nitin Gadkari threatens IT officials, Sonia Gandhi won't save them, if BJP wins

PLAYClick to Expand & Play

नागपुर: ीजेपी अध्यक्ष की कुर्सी छोड़ने के बाद नितिन गडकरी ने अपनी कंपनियों के खिलाफ जांच कर रहे आयकर अधिकारियों को साफ धमकी दे डाली। नागपुर में गडकरी ने एक सभा में साफ-साफ कहा कि अगर बीजेपी की सरकार आ गई, तो आयकर अधिकारियों को बचाने सोनिया गांधी और चिदंबरम नहीं आएंगे।

गडकरी ने खुले तौर पर कहा, "मैं मर्द आदमी हूं... अब बीजेपी का प्रेसिडेंट भी नहीं हूं कि मर्यादाओं में बंधा रहूं... मुझे मालूम है कि नागपुर, पुणे और दिल्ली में बैठकर आयकर अधिकारी क्या कर रहे हैं... मेरे और पार्टी के साथ सहानुभूति रखने वाले ऑफिसर भी हैं, जो हमें बताते हैं कि कौन मेरे खिलाफ काम कर रहे हैं... इस सरकार (यूपीए सरकार) की नैया तो डूबने वाली है...उन्हें (आयकर अधिकारी) याद रखना चाहिए कि अगर हमारी सरकार आई तो उन्हें सोनिया और चिदंबरम बचाने नहीं आएंगे।"

गडकरी ने कांग्रेस पर यह भी आरोप लगाया कि वह सीबीआई की तरह आयकर विभाग का भी बेजा इस्तेमाल करती है और जल्द ही उसकी नैया डूबने वाली है।

इसके अलावा गडकरी ने कांग्रेस पर खुद को फंसाने का आरोप लगाते हुए खुली चुनौती दी और कहा कि वह भी कांग्रेसियों के भ्रष्टाचार को बेनकाब करेंगे। बीजेपी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद गडकरी पहली बार नागपुर पहुंचे थे, जहां उनके स्वागत के लिए बड़ी संख्या में समर्थक मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि बीजेपी अध्यक्ष के चुनाव से एक दिन पहले 22 जनवरी को आयकर विभाग ने गडकरी के पूर्ती समूह से संबद्ध छद्म कंपनियों के सिलसिले में मुंबई में नौ स्थानों पर जांच की थी। गडकरी को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के समर्थन से फिर से बीजेपी अध्यक्ष पद मिलने की पूरी उम्मीद थी, लेकिन इस कार्रवाई के बाद सारा खेल बिगड़ गया और अंतत: उन्हें मैदान से हटना पड़ा।

कांग्रेस पर वंशवाद की राजनीति का आरोप लगाते हुए पूर्व बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, "एक मालकिन बाकी सब नौकर..." उन्होंने कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार पर सीबीआई का इस्तेमाल कर समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव तथा बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती के साथ ब्लैकमेलिंग करने का भी आरोप लगाया।

उन्होंने मीडिया को निशाने पर लेते हुए कहा, राजनीतिक संकट किसी के जीवन का हिस्सा है और मैं ऐसी बातों से परेशान नहीं हूं। मैं महाराष्ट्र के आत्महत्या वाले क्षेत्र में गरीबों और किसानों की मदद के लिए सामाजिक कार्य कर रहा हूं और करता रहूंगा। समर्थकों की भारी नारेबाजी और नागपुर से अगला लोकसभा चुनाव लड़ने की उनकी मांग पर गडकरी ने कहा, आप लोग चुनाव लड़ेंगे और आप लोग जीतेंगे।

(इनपुट भाषा से भी)

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement