आप यहां हैं : होम » देश से »

रेलमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों का पुलिस से टकराव

 
email
email
Samajwadi Party says Railway Minister Bansal must resign

PLAYClick to Expand & Play

नई दिल्ली: ेल बोर्ड में मलाईदार पद दिलाने के लिए रिश्वत लेने के आरोप में रेल मंत्री पवन कुमार बंसल के भांजे की गिरफ्तारी के बाद मंत्री के इस्तीफे की मांग कर रहे भाजपा के युवा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच बंसल के आवास के बाहर टकराव हुआ।

पुलिस ने भाजपा की युवा इकाई ‘युवा मोर्चा’ के राष्ट्रीय प्रमुख अनुराग ठाकुर की अगुआई में विरोध प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं को हटाने के लिए पानी की तेज बौछारों का इस्तेमाल किया।

ये लोग 6 अशोक रोड स्थित बंसल के आवास के बाहर शाम के लगभग छह बजे इकट्ठा हुए थे। यहां बड़ी संख्या में तैनात पुलिसकर्मियों ने लगभग 100 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया।

प्रदर्शनकारियों ने बंसल के आवास की तरफ अपने मार्च के दौरान इंडिया गेट जाने के रास्ते में मौजूद अशोक रोड को जाम कर दिया। पार्टी के झंडे और पोस्टरों से लैस इन लोगों ने संप्रग सरकार और बंसल के खिलाफ नारेबाजी की।

अनुराग ने मौके पर मौजूद संवाददाताओं से कहा, ‘यह सरकार बेशर्म है। कांग्रेस प्रमुख और प्रधानमंत्री ने अपने मंत्रियों को देश को लूटने का लाइसेंस दे दिया है। हमले अगले एक हफ्ते तक विरोध प्रदर्शन करेंगे।’

इधर, घूसकांड पर यूपीए के साथ खड़ी समाजवादी पार्टी ने भी रेलमंत्री का इस्तीफा मांगा है। समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव का कहना है कि अगर रेल मंत्री दूसरी पार्टी के होते तो अब तक कार्रवाई हो जाती।

इससे पूर्व रविवार को रेलमंत्री पवन बंसल और कानूनमंत्री अश्विनी कुमार का पक्ष लेते हुए कांग्रेस ने कहा कि आननफानन में दोनों मंत्रियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के सरकारी आवास पर हुई बैठक के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने संवाददाताओं से कहा, जांच चल रही है। परिणाम आने दीजिए। उसके बाद हम कोई फैसला लेंगे।

दूसरी ओर, बीजेपी ने कांग्रेस पर भ्रष्टाचारियों को संरक्षण देने का आरोप लगाया। बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने दावा किया है कि रेलमंत्री के भांजे और बंसल के बेटे पार्टनर हैं। सोमैया ने रेलमंत्री पवन बंसल के बेटे को घोटाले से जोड़ते हुए कागजी सबूत भी दिखाए पवन बंसल के भांजे विजय सिंगला चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और रियल स्टेट के बड़े कारोबारी भी।

रेल घोटाले में उनकी गिरफ्तारी और रेलमंत्री से नजदीकी रिश्ते सरकार के लिए सिरदर्द बन गए हैं, वहीं बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने मांग की है कि सीबीआई रेलमंत्री से इस मामले में पूछताछ करे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
नाराज सुमित्रा महाजन ने कहा, चाहें तो नया स्पीकर चुन लें

लोकसभा अध्यक्ष ने ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित कुछ अन्य सदस्यों द्वारा उनकी व्यवस्था को चुनौती देने और आरजेडी सदस्य पप्पू यादव द्वारा आसन पर अखबार फाड़कर फेंके जाने पर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए कहा कि वे चाहें, तो नया स्पीकर चुन सकते हैं।

Advertisement