आप यहां हैं : होम » देश से »

लड़की को 'सजा' देना चाहते थे बलात्कारी!

 
email
email
Wanted to teach lesson to girl: Rapists
नई दिल्ली: िल्ली की मेडिकल छात्रा के साथ चलती बस में गैंगरेप करने के बाद उसकी बेरहमी से पिटाई कर बस से नीचे फेंक देने वाले छह आरोपी दरअसल उसे इस बात के लिए 'सज़ा' देना चाहते थे, क्योंकि उसने इन आरोपियों को अपने पुरुष मित्र की पिटाई करने से रोका था। यह जानकारी पुलिस सूत्रों ने दी है।

इन आरोपियों में से अब तक चार - रामसिंह (मुख्य आरोपी, बस ड्राइवर), विनय, पवन, मुकेश - को गिरफ्तार किया जा चुका है, तथा फरार हो चुके बाकी दो को तलाश करने के लिए राजस्थान और बिहार में पुलिस टीमें भेजी गई हैं। फरार दो आरोपियों में से एक का नाम अक्षय ठाकुर है, और वह बिहार स्थित औरंगाबाद का रहने वाला है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, रविवार शाम को रामसिंह अपने साथियों के साथ मौजमस्ती करने निकला था, और उसी दौरान उन्होंने इस लड़की और उसके पुरुष मित्र को दक्षिणी दिल्ली के मुनीरका बस स्टैंड पर देखा, और द्वारका छोड़ देने का झांसा देकर बस में बिठा लिया। सूत्रों के मुताबिक बस में आरोपियों की लड़की के मित्र से इस बात पर बहस शुरू हो गई, क्योंकि उन्होंने टिप्पणी की कि वह रात के समय लड़की के साथ क्या कर रहा है। इस पर जब लड़की ने आपत्ति की, तो आरोपियों ने उसे 'सबक सिखाने' का फैसला किया।

पुलिस का कहना है कि अब बढ़ई के रूप में काम करने वाला एक और व्यक्ति सामने आया है, जिसका दावा है कि इन्हीं आरोपियों ने इसी तरह का झांसा देकर उससे भी 8,000 रुपये ठगे थे। उस व्यक्ति को आरोपियों ने रेप की वारदात से लगभग एक घंटा पहले आरके पुरम, सेक्टर-4 में बस में बिठाया था, और फिर उसे लूट लिया। उसने दावा किया है कि उसे इन आरोपियों ने आउटर रिंग रोड पर आईआईटी गेट के नज़दीक बस से नीचे धकेल दिया था, और फिर वे लोग मुनीरका की ओर चले गए थे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement