आप यहां हैं : होम » देश से »

स्टालिन के आवास पर सीबीआई की छापेमारी का समय दुर्भाग्यपूर्ण : पीएम

 
email
email
We are upset, timing of raid unfortunate: PM on searches at Stalin's house
नई दिल्ली: ्रमुक नेता एमके स्टालिन के यहां सीबीआई छापे को लेकर उपजे राजनीतिक विवाद के बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि सरकार का इससे कोई लेना-देना नहीं है और वह इस घटना से खिन्न हैं।

सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि हम सभी इस घटनाक्रम से खिन्न हैं। सरकार की इसमें कोई भूमिका नहीं है। हम ब्यौरे का पता लगाएंगे। ऐसा नहीं होना चाहिए था। छापे का समय काफी दुर्भाग्यपूर्ण है।

वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने भी द्रमुक नेता स्टालिन के चेन्नई स्थित आवास पर सीबीआई के छापे का कड़ा विरोध किया और कहा कि इस कार्रवाई को गलत समझा जाना तय है।

उन्होंने बताया, मैं सीबीआई कार्रवाई का कड़ा विरोध करता हूं। इसका गलत समझा जाना तय है। तमिलनाडु के शिवगंगा से लोकसभा सदस्य चिदंबरम ने कहा कि सामान्य तौर पर वह अन्य विभाग के कामकाज पर टिप्पणी नहीं करते हैं, लेकिन इस मामले में उन्हें प्रतिक्रिया देनी पड़ी।

वित्तमंत्री ने कहा कि सीबीआई कार्रवाई के बारे में उन्हें सुबह 8:30 में जानकारी मिली और उन्होंने सीबीआई के प्रभारी मंत्री को अपनी भावनाओं से अवगत करा दिया।

उन्होंने कहा, वजह चाहे जो हो। मुझे डर है कि इसे गलत समझा जाएगा। मैंने प्रभारी मंत्री को अपने विचारों से अवगत करा दिया है। कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग एवं प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री वी नारायणसामी सीबीआई के प्रभारी मंत्री हैं।

उनके द्वारा रखे गए विचारों के बारे में विस्तार से बताने के लिए कहने पर चिदंबरम ने कहा, मेरी सलाह है कि आप आगे के सवाल प्रभारी मंत्री या सीबीआई प्रमुख से कीजिए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
खत्म हो जाएगा पेट्रोल संकट, गन्ने के रस से चलेंगी गाड़ियां

शर्करा तकनीकी विशेषज्ञ एनके शुक्ला के मुताबिक गन्ने के रस से बना एथेनॉल ऊर्जा के अन्य साधनों से सस्ता है। उन्होंने बताया कि नागपुर व मुंबई में एथेनॉल से चलने वाली तीन बसें आ चुकी हैं।

Advertisement