आप यहां हैं : होम » खेल-खिलाड़ी »

हॉकी वर्ल्ड लीग : चीन पर भारी पड़ा भारत, राउंड-3 का रास्ता साफ

 
email
email
Hockey world league: India beat China
नई दिल्ली: ारतीय पुरुष हॉकी टीम ने शनिवार को मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में चीन को इस खेल का ककहरा पढ़ाया और अब तक के आंकड़ों के लिहाज से जून में होने वाले एफआईएच हॉकी वर्ल्ड लीग राउंड-3 के लिए स्थान सुरक्षित करने में सफल रहा।

भारत ने अपने चौथे राउंड रोबिन मैच में चीन पर 4-0 से जीत दर्ज की और 12 अंकों के साथ छह टीमों की तालिका में खुद की स्थिति मजबूत की। मध्यांतर तक भारतीय टीम 2-0 से आगे थी।

भारत को अब रविवार को बांग्लादेश के खिलाफ खेलना है, जिसका परिणाम उसके आगे बढ़ने पर कोई असर नहीं डालेगा। वैसे 40वीं वरीय बांग्लादेशी टीम के खिलाफ भारत को जीत दर्ज करने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

भारत के लिए 12वें मिनट में वीआर रघुनाथ ने पेनाल्टी कार्नर पर पहला गोल किया। इसके बाद 29वें मिनट में आकाशदीप सिंह ने रघुनाथ के एक फ्लिक को डिफलेक्ट करके अपनी टीम को 2-0 से आगे किया।

अब तक टूर्नामेंट में अजेय भारत के लिए तीसरा गोल धर्मवीर सिंह ने 40वें मिनट में किया। भारत के लिए चौथा गोल रुपिंदर पाल सिंह ने 44वें मिनट में पेनाल्टी कार्नर पर किया।

भारत के स्थान सुरक्षित करने के बाद अब बाकी बचे एक स्थान के लिए आयरलैंड, बांग्लादेश और चीन के बीच रस्साकसी है। आयरलैंड को रविवार को दिन के दूसरे मैच में चीन से भिड़ना है।

दोनों टीमों का यह अंतिम मुकाबला होगा और चीन को हराने की सूरत में आयरलैंड राउंड-3 के लिए क्वालीफाई कर जाएगा और चीन का सफर खत्म हो जाएगा।

चीन अगर आयरलैंड को हराने में सफल रहा तो उसके नौ अंक हो जाएंगे लेकिन गोल अंतर के लिहाज से वह आयरलैंड से नीचे और बांग्लादेश से ऊपर तीसरे क्रम पर पहुंच पाएगा।

भारत अगर बांग्लादेश को हराने में सफल रहा तो फिर चीन का पत्ता कट जाएगा लेकिन अगर बांग्लादेश भारत को और चीन, आयरलैंड को चौंकाने में सफल रहा तो बांग्लादेश 12 अंकों के साथ राउंड-3 में पहुंच जाएगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 
ब्रिटेन में 12 साल की लड़की, 13 साल का लड़का, बने सबसे कम उम्र के मां-बाप

यह लड़की जब गर्भवती हुई, उस समय वह प्राइमरी स्कूल में पढ़ती थी। उसने सप्ताहांत एक पुत्री को जन्म दिया। जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ बताए जाते हैं।

Advertisement