आप यहां हैं : होम » दुनिया से »

अमेरिकी युद्धपोत, समुद्र आधारित रेडार उत्तर कोरियाई तट के निकट पहुंचा

 
email
email
वाशिंगटन: ोरियाई प्रायद्वीप में बढ़ते तनाव के बीच अमेरिका अपना एक युद्धपोत और समुद्र आधारित रेडार प्रणाली समेत प्रमुख सैन्य हर्बे-हथियार उत्तर कोरिया तट के नजदीक ले जा रहा है।

अमेरिकी टीवी चैनल सीएनएन की एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी विध्वंसक पोत यूएसएस जॉन एस मैककैन और एसबीएक्स-1 से उस इलाके में नौसैनिक तैनाती की शुरुआत हो सकती है।

पेंटागन के प्रेस सचिव जार्ज लिटल ने बताया, ‘‘मैं सभी से आग्रह करूंगा कि वह इस पोत की तैनाती को दक्षिण कोरिया में हाल के सैन्य अभ्यासों से अलग रखें। एशिया प्रशांत क्षेत्र में हमारे पोतों की नियमित आवाजाही है और हम अपने पोतों की आवाजाही का उपयोग ढेर सारे उद्देश्यों से करते हैं।’’

लिटल ने कहा, ‘‘सो, मैं कोरियाई प्रायद्वीप के हाल के तनावों के साथ साथ इसे जोड़ने पर बेहद सतर्क रहूंगा।’’ अमेरिका की तरफ से कदम दक्षिण कोरिया के साथ संयुक्त सैन्य अभ्यास के बाद उठाया गया है। सैन्य अभ्यास में परमाणु क्षमता वाले बी-2 स्टील्थ बमवर्षक और बी-52 तथा एफ-22 रैप्टर स्टील्थ विमानों का उपयोग किया गया था।

पेंटागन के प्रेस सचिव ने कहा, ‘‘हम किसी गलत आकलन के प्रति चिंतित हैं। गलत आकलन और जोखिम से बचना स्पष्ट रूप से हमारा लक्ष्य है। हम प्रायद्वीप में शांति और स्थिरता का रास्ता चुनना चाहते हैं। उत्तर कोरियाई हाल के दिनों में कथनी और करनी दोनों में उकसावेबाजियों की श्रृंखला से जुड़े रहे।’’ लिटल ने कहा, ‘‘उनके लिए वक्त आ गया है कि वे अपने अंतरराष्ट्रीय दायित्वों का वहन करें और शांति की राह चुनें।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिका ने उत्तर कोरियाई पक्ष की तरफ ऐसी किसी तरह की सैन्य गतिविधियां नहीं देखी है जो किसी तत्काल सैन्य कार्रवाई इंगित करती हो।

अमेरिकी अधिकारी ने कहा, ‘‘सो, हम समझते हैं कि कोरियाई प्रायद्वीप में चीजें कुछ आसान होंगी। कम से कम हो ऐसी उम्मीद करते हैं। स्वाभाविक रूप से हम किसी आपात स्थिति के लिए तैयार हैं।’’ इस बीच, दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री यून ब्यूंग-से आज यहां अमेरिकी विदेश मंत्री से मिलने वाले हैं। उम्मीद की जा रही है कि इस मुलाकात में क्षेत्र में खतरे और सुरक्षा हालात पर चर्चा होगी।’’

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...



Advertisement

 

Advertisement