आप यहां हैं : होम » विषय »Lk Advani »

'Lk Advani' - 164 video result(s)

'Lk Advani' - 145 news result(s)

जसवंत, आडवाणी की तरह वाजपेयी को भी किनारे कर देते नरेंद्र मोदी : राहुल गांधीकांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को चुनिंदा उद्योगपतियों का चौकीदार बताते हुए कहा कि उन्होंने (मोदी) अपनी ही पार्टी के एक वरिष्ठ नेता (आडवाणी) को बाहर कर एक बड़े उद्योगपति अडानी को अपने साथ कर लिया है।
चुनावों के बाद पार्टी की दी गई किसी भी भूमिका को स्वीकार करूंगा : आडवाणीगांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में बावला से रोडशो शुरू करते हुए आडवाणी ने कहा, यह पहला चुनाव है, जहां इस बात को महसूस किया जा सकता है कि लोग मौजूदा सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए विचार बना चुके हैं। इस बात में कोई संदेह नहीं है कि बीजेपी नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनाएगी।
एकजुटता दिखाने की कोशिश : आडवाणी ने नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में भरा पर्चाकाफी लंबे समय से आडवाणी और मोदी के आपसी रिश्ते सहज नहीं रहे हैं। लेकिन आज बीजेपी ने मोदी और आडवाणी को एक साथ दिखाकर यह संदेश देने की कोशिश की है कि पार्टी के सभी नेता एकजुट हैं।
गांधीनगर से चुनाव न लड़ने के बारे में कभी नहीं सोचा : आडवाणीबीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने उनकी सीट संबंधी किसी भी विवाद को नकारते हुए कहा कि उन्होंने अपनी परंपरागत गांधीनगर सीट से चुनाव नहीं लड़ने के बारे में कभी नहीं सोचा।
आडवाणी ने गांधीनगर में कहा, नरेंद्र मोदी अच्छे पीएम साबित होंगेआडवाणी ने पहले मध्य प्रदेश में भोपाल से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी, लेकिन पार्टी और आरएसएस के हस्तक्षेप के बाद उन्होंने गांधीनगर से लड़ने का फैसला किया।
बीजेपी ने बाबरी विध्वंस से जुड़े कोबरा पोस्ट के स्टिंग पर रोक लगाने की मांग की'ऑपरेशन राम जन्मभूमि' नाम से किए गए इस स्टिंग में यह आरोप लगाया है कि बाबरी मस्जिद को योजनाबद्ध तरीके से गिराया गया और इसकी जानकारी बीजेपी और संघ के कुछ आला नेताओं को थी।
चुनाव डायरी : अपनों से ही जूझता बीजेपी नेतृत्वबीजेपी में इस वक्त 'फ्री फॉर ऑल' क्यों है? ऐसा क्यों लग रहा है कि केंद्रीय नेतृत्व कमजोर पड़ रहा है? क्यों पार्टी के नेता आगे निकलने के चक्कर में एक-दूसरे के पैरों पर अपने पैर रख रहे हैं? अगर सरकार बनने से पहले ही आपसी लड़ाई का ये हाल है, तो सरकार बनने पर क्या होगा?
चुनाव डायरी : बीजेपी में नरेंद्र मोदी या फिर कोई नहींबीजेपी के बारे में कहा जा रहा है कि उसमें दो धड़े हैं। एक '170 ग्रुप' जो चाहता है, पार्टी की सीटें 170 के ऊपर न जाएं, ताकि मोदी की जगह कोई और पीएम बन सके। दूसरा '270 ग्रुप', जो मोदी को प्रधानमंत्री बनाना चाहता है। जाहिर है ये काल्पनिक प्रश्न हैं, लेकिन राजनीति में कुछ भी हो सकता है।
वरिष्ठ नेताओं को किनारे नहीं कर रही है बीजेपी : वेंकैया नायडूलोकसभा चुनावों में टिकट नहीं दिए जाने पर वरिष्ठ नेताओं की नाराजगी के मुद्दे पर बीजेपी नेता वेंकैया नायडू ने जोर देकर कहा है कि पार्टी में कोई मतभेद नहीं है तथा किसी वरिष्ठ नेता को किनारे करने का कोई सवाल नहीं है।
टिकट नहीं मिलने से आहत हूं, अगले कदम पर कार्यकर्ताओं से राय लूंगा : बीजेपी नेता हरीन पाठकहरीन पाठक अहमदाबाद पूर्व से निवर्तमान सांसद हैं और इस बार उनके स्थान पर अभिनेता परेश रावल को टिकट दे दिया गया है। पाठक ने कहा, पिछले तीन महीनों के दौरान जो गतिविधियां हुई हैं, उससे पार्टी कार्यकर्ता आहत हुए हैं। पार्टी में कांग्रेस के निचले स्तर के दलबदलुओं को शामिल किया जा रहा है।
अभी लालकृष्ण आडवाणी युग का अंत नहीं हुआ है : शिव सेनाशिवसेना ने आडवाणी के टिकट संबंधी मामले पर भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए प्रश्न किया कि पार्टी ने उनकी लोकसभा सीट की उम्मीदवारी का निर्णय लेने में इतना समय क्यों लिया? शिवसेना ने साथ ही कहा कि हालांकि नरेंद्र मोदी का युग शुरू हो गया है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि आडवाणी युग समाप्त हो गया है।
लालकृष्ण आडवाणी के करीबी हरिन पाठक का टिकट कटने के आसारपार्टी के सूत्रों का कहना है कि पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह के बाद आडवाणी के एक और क़रीबी हरिन पाठक पर भी तलवार लटकी है। कहा जा रहा है कि हरिन पाठक का भी टिकट कट सकता है।
चुनाव डायरी : बीजेपी के 'सागर' में बनता 'टापू'गुजरात और मध्य प्रदेश की मिलती सीमाएं, विदिशा-भोपाल की नजदीकियां और आडवाणी-सुषमा की करीबियां... यहीं पर खड़े मिलते हैं सुषमा-आडवाणी के करीबी कर्नाटक के अनंत कुमार, जो मध्य प्रदेश के स्थायी प्रभारी कहे जाते हैं और इन सबके बीच हैं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान।
अभिज्ञान का प्वाइंट : आडवाणी की सीट पहले तय क्यों नहीं की...2014 के इन चुनावों में हर पार्टी का लक्ष्य नज़र आता है युवा वोटरों को अपनी ओर खींचना। बीजेपी बार बार ये भी कहती है कि नरेंद्र मोदी का असर सबसे ज़्यादा देश के युवाओं में है। नेताओं की रिटायरमेंट की उम्र क्या होनी चाहिए, इस पर भी बहुत बहस हो चुकी है।
लोकसभा चुनाव : बीजेपी की दूसरी लिस्ट में 52 नाम, येदियुरप्पा को शिमोगा से टिकटबीजेपी ने लोकसभा चुनावों के लिए शनिवार को जारी दूसरी सूची में 52 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की, जिनमें कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, राज्यसभा सदस्य और पत्रकार चंदन मित्रा, फिल्म कलाकार निमू भौमिक और जॉय बनर्जी तथा गायक बाबुल सुप्रियो के नाम शामिल हैं।
चुनाव डायरी : क्यों मचा है बीजेपी में घमासान?सुषमा स्वराज ने कुछ विवादास्पद लोगों को साथ जोड़ने की पार्टी की कोशिशों का सार्वजनिक रूप से विरोध किया है। बीजेपी में सुषमा के इस कदम से हैरानी है। पार्टी नेताओं को यह समझ नहीं आया है कि सुषमा ने अपनी बातें संसदीय बोर्ड में रखने के बजाए सार्वजनिक रूप से क्यों कहीं?
लालकृष्ण आडवाणी : सफल नेता, असफल बागी?बीजेपी के सबसे बड़े नेता उस सीट से चुनाव लड़ना चाहते हैं, जिसका प्रतिनिधित्व वह 1991 से करते आ रहे हैं, इसमें खबर क्या है? पार्टी के मार्गदर्शक के रूप में उन्हें अपनी इच्छा को सार्वजनिक रूप से प्रकट करने की आवश्यकता क्यों पड़ी?
संसद में जो हुआ, वह 'कांग्रेस का ड्रामा' था : सुषमा स्वराजतेलंगाना विधेयक पेश किए जाने के समय लोकसभा में सदन में स्प्रे छिड़के जाने और माइक आदि तोड़े जाने की अभूतपूर्व घटना को 'शर्मनाक' और 'कांग्रेस का ड्रामा' करार देते हुए भाजपा ने कहा कि ऐसी अराजक स्थिति में सरकार को लेखानुदान मांगें पारित कराने के अलावा इस सत्र में और कुछ नहीं करना चाहिए।
आडवाणी ने कहा, लोकसभा चुनाव लडूंगाभाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने साफ कर दिया कि वह आगामी लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। इसके जरिए उन्होंने उन अटकलों पर विराम लगाने की कोशिश की, जिसमें कहा जा रहा था कि वह राज्यसभा से संसद पहुंच सकते हैं।
लोकसभा चुनाव में दोहरे अंक में सिमट सकती है कांग्रेस : आडवाणीभाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी ने चार राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की हार को आपातकाल के बाद के चुनावों की सबसे बुरी हार करार देते हुए कहा कि अगले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस घटकर दोहरे अंकों में सिमट सकती है।

Lk Advani से जुड़े अन्य समाचार »

Advertisement

Advertisement