Hindi news home page

Ravish kumar


'Ravish kumar' - 629 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • प्राइम टाइम इंट्रो : हाजी अली दरगाह जा सकेंगी महिलाएं

    प्राइम टाइम इंट्रो : हाजी अली दरगाह जा सकेंगी महिलाएं

    मंदिरों और मज़ारों में प्रवेश और पूजा का अधिकार अभी तक पूरी तरह से सभी को हासिल नहीं हो सका है. हमारे समाज में आज तक छुआछूत अलग अलग रूपों में मौजूद हैं. कई बार हाउसिंग सोसायटी में अघोषित तरीके से मज़हब और जाति के आधार पर पाबंदियों के किस्से सुनने को मिलते रहते हैं.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : कमज़ोरों के साथ कितना सख़्त है सिस्टम

    प्राइम टाइम इंट्रो : कमज़ोरों के साथ कितना सख़्त है सिस्टम

    अक्सर सुबह शाम चैनलों को देखकर लगता है कि नेताओं, कलाकारों और कुछ मूर्ख लोगों के विवादित बयानों में ही अपना देश बसता है. यह एक सीमित मात्रा में ज़रूरी हो सकता है लेकिन क्या यही मीडिया सिस्टम का काम है. मीडिया सिस्टम यानी जिसमें आप भी शामिल हैं और हम भी शामिल हैं.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : 20 फुट से ऊंची नहीं हो सकती दही हांडी

    प्राइम टाइम इंट्रो : 20 फुट से ऊंची नहीं हो सकती दही हांडी

    2014 में मुंबई हाईकोर्ट ने कहा कि दही हांडी की ऊंचाई 20 फुट से ज़्यादा नहीं होगी. 18 साल से कम उम्र के किशोर इसमें हिस्सा नहीं लेंगे. इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में भी चुनौती दी गई मगर सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के फैसले को खारिज नहीं किया. इस कारण मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में इस बात को लेकर उत्सुकता है कि जन्माष्टमी के दिन गोविंदा क्या करेंगे.

  • अगर चुनाव जीतने की कोशिश राष्ट्रीय कर्तव्य है, तो राष्ट्रवाद क्या चुनाव जीत जाना है...?

    अगर चुनाव जीतने की कोशिश राष्ट्रीय कर्तव्य है, तो राष्ट्रवाद क्या चुनाव जीत जाना है...?

    प्रधानमंत्री वास्तविक समय में ही स्वीकार कर रहे हैं कि दलित और पिछड़े उनके लिए चुनौती हैं. वह इस चुनौती से भाग नहीं रहे हैं, बल्कि सामना करने की बात कह रहे हैं. लेकिन उनका यह बयान राजनीति की नई व्याख्या के लिए प्रेरित करता है. दलितों-पिछड़ों के अलावा उनके हिसाब से राष्ट्रवादी कौन है...? क्या वह सवर्णों को राष्ट्रवादी बता रहे हैं...? क्या दलित-पिछड़े राष्ट्रवादी नहीं होते...?

  • एलजी ने सरकारी जमीन को बेचने के आरोप में कथित रूप से मनीष सिसोदिया के पूर्व OSD को सस्पेंड किया

    एलजी ने सरकारी जमीन को बेचने के आरोप में कथित रूप से मनीष सिसोदिया के पूर्व OSD को सस्पेंड किया

    दिल्ली के उपराज्यपाल ने सरकारी जमीन को अवैध तरीके से निजी शख्श को देने के मामले में दो दानिक्स अधिकारियों को संस्पेंड कर दिया है जबकि एक दानिक्स अधिकारी पर जांच की सिफारिश की गई है. सस्पेंड होने वाले नवेंद्र सिंह उप-मुख्यमंत्री के ओएसडी भी रह चुके हैं.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : बाढ़ हमारे लिए कितनी फ़ायदेमंद?

    प्राइम टाइम इंट्रो : बाढ़ हमारे लिए कितनी फ़ायदेमंद?

    चैनलों पर बाढ़ की जो तस्वीरें तैर रही हैं वो क्यों सिर्फ तबाही का मंज़र पेश करती हैं. क्या बाढ़ की कहानी सिर्फ संपत्ति और जानमाल के नुकसान की ही कहानी है. जब हमें स्कूल से लेकर कॉलेज तक यही पढ़ाया गया है कि बाढ़ अच्छी चीज़ है, तो हम बाढ़ को लेकर जश्न क्यों नहीं मनाते हैं.

  • आखिर दो लोग मिलकर एक लेख क्यों लिखते हैं...?

    आखिर दो लोग मिलकर एक लेख क्यों लिखते हैं...?

    आप किसी संपादक को जानते हैं, तो उनसे कहें कि जब दो लोगों का संयुक्त रूप से लिखा कोई एक लेख छापें तो ज़रूर बताएं कि कौन-सी बात किसने लिखी है. इस लेख में ऐसा क्या है, जिसे एक लेखक नहीं लिख सकता, और उसे दूसरे की मदद मांगनी पड़ी. सिम्पल-सा जवाब चाहिए - दो लोग मिलकर एक लेख क्यों लिखते हैं... दो लोग मिलकर दो लेख क्यों नहीं लिखते हैं...?

  • गोद में बैठे शिवराज सिंह चौहान की तस्वीर के पांच विश्लेषण

    गोद में बैठे शिवराज सिंह चौहान की तस्वीर के पांच विश्लेषण

    मध्य प्रदेश के उन दो पुलिसकर्मियों को तहेदिल से बधाई, जिन्होंने अपने मुख्यमंत्री को गोद में उठा रखा है. मुख्यमंत्री की निंदा या इस तस्वीर पर मौज लेने वाले यह न देख पाये कि उस तस्वीर में एक को छोड़ बाकी सब अपना दायित्व निभा रहे हैं.

  • पांच सौ से अधिक नए दफ्तर क्यों बना रही है बीजेपी...

    पांच सौ से अधिक नए दफ्तर क्यों बना रही है बीजेपी...

    भारतीय जनता पार्टी के नए मुख्यालय के भूमिपूजन की बात सामान्य खबर से ज्यादा की हैसियत नहीं पा सकी. कोई पार्टी ऐलान करे कि दिल्ली में अत्याधुनिक मुख्यालय के साथ साथ 525 जिला मुख्यालयों में आधुनिक सुविधाओं से लैस दफ्तर बनाने जा रही हैं, तो निश्चित रूप से कोई सामान्य घटना नहीं है.

  • क्या राहुल गांधी कर्नाटक में पदयात्रा करेंगे?

    क्या राहुल गांधी कर्नाटक में पदयात्रा करेंगे?

    किसानों की आत्महत्या पर अनगिनत रिपोर्ट, आंदोलन, अभियान और संसद से लेकर मीडिया में बहस हो चुकी है. सरकार पर तीखे हमले के साथ-साथ विपक्ष और सरकार की सहमति के स्वर बहस, आंदोलन और रिपोर्टिंग के बाद कहां ग़ुम हो जाते हैं?

  • हे सिंधु राष्ट्र के नागरिकों, जीत के जश्न में योजनाओं के स्लोगन मत ठेलो

    हे सिंधु राष्ट्र के नागरिकों, जीत के जश्न में योजनाओं के स्लोगन मत ठेलो

    कल तक जैसे बलूचिस्तान के बारे में पता नहीं था उसी तरह बैडमिंटन के बारे में भी कम जानते थे, मगर पीवी सिंधु के खेल से लगा कि इस खेल के हम भी कभी चैंपियन होने वाले रहे होंगे लेकिन प्रतियोगिता से ठीक पहले स्कूल बस मिस हो गई थी.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : दलित कबड्डी टीम की जीत गले नहीं उतरी

    प्राइम टाइम इंट्रो : दलित कबड्डी टीम की जीत गले नहीं उतरी

    मिलेनियम सिटी या अल्युमुनियम सिटी नाम रख देने से कुछ खास नहीं बदल जाता. जब सड़कों का ढांचा नहीं बदला तो दिमाग़ का सांचा कैसे बदल जाएगा. गुड़गांव नामक अतिप्राचीन और उत्तर आधुनिक नगर व्यवस्था से सटा एक गांव है चकरपुर.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : भारत की बलूचिस्तान नीति में बड़ा बदलाव

    प्राइम टाइम इंट्रो : भारत की बलूचिस्तान नीति में बड़ा बदलाव

    बात हो रही थी कि कश्मीर से बात नहीं हो रही है तो संसद में कश्मीर पर बात हुई, तय हुआ कि कश्मीर से बात करेंगे लेकिन कश्मीर पर किसी से बात नहीं करेंगे, अब जब भी बात करेंगे पाक अधिकृत कश्मीर पर बात करेंगे. राज्यसभा में समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ने कहा था कि भारत पाक अधिकृत कश्मीर का मसला क्यों नहीं उठाता है.

  • रवीश कुमार : मेरे लिए दीपा जीत गई है

    रवीश कुमार : मेरे लिए दीपा जीत गई है

    दीपा ने अपने खेल को एक नया मुक़ाम दिया है. वो मेडल नहीं जीत सकी तो क्या हुआ, उसने सवा करोड़ की आबादी वाले एक देश को अपने खेल के रूप में नायाब मेडल दिया है. आने वाले दिनों में न जाने कितनी लड़कियों में दीपा सपने बनकर आया करेगी. लड़कियां अपने ख़्वाब में मेडल नहीं, दीपा को देखा करेंगी.

  • चौराहों पर मिलने वाले तिरंगे का आकार आसमान जैसा, इंसान का आकार इंसान से भी छोटा

    चौराहों पर मिलने वाले तिरंगे का आकार आसमान जैसा, इंसान का आकार इंसान से भी छोटा

    तिरंगे का आकार बड़ा होते-होते कहीं यह नागरिकों के बीच अमीरी-गरीबी का एक और प्रतीक न बन जाए. जाहिर है दस हजार से एक लाख का बड़ा झंडा वही खरीदेगा जो अमीर होगा. गरीब तो दो रुपये का झंडा ही अपने बच्चे को देगा. देशभक्ति का आकार नहीं होता है... जज़्बा होता है.

  • मंत्री जी, यह बौद्धिक आतंकवाद नहीं, मानवतावाद है...

    मंत्री जी, यह बौद्धिक आतंकवाद नहीं, मानवतावाद है...

    अगर आपने वाक़ई आतंकवाद के पीछे धर्म के होने की अवधारणा से मुक्ति पा ली है तो आइए, उसी बौद्धिकता के साथ हो लीजिए, जो दुनिया में आतंकवाद को पालने-पोसने में शामिल राष्ट्र प्रमुखों, संभ्रांत नेताओं और कॉरपोरेट के मिले होने के विश्लेषणों में शामिल हैं. जिस बौद्धिकता को आप आतंकवाद बताना चाहते हैं, दरअसल वह कुछ और नहीं, मानवतावाद है.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : कश्मीर में तनाव से निपटने में ढिलाई हुई?

    प्राइम टाइम इंट्रो : कश्मीर में तनाव से निपटने में ढिलाई हुई?

    राज्यसभा में कश्मीर के हालात पर काफी खुल कर चर्चा हुई. सरकार ने भी सबको सुना और विपक्ष ने भी खूब सुनाया, बाद में सरकार ने भी सुनाया. लेकिन यह सब तकरार के माहौल में नहीं, संवाद के वातावरण में हो रहा था. संसद ने एकमत से प्रस्ताव पास किया गया कि सदन कश्मीर के हालात पर चिंतित है.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : सजा बढ़ने से ट्रैफिक नियमों का पालन कितना बढ़ेगा?

    प्राइम टाइम इंट्रो : सजा बढ़ने से ट्रैफिक नियमों का पालन कितना बढ़ेगा?

    2015 में भारत की सड़कों पर दुर्घटना में 1,46,000 से ज़्यादा लोग मारे गए. यह संख्या 2014 में सड़क दुर्घटना में मारे गए लोगों से ज्यादा है. 2014 में 1,39,671 लोग सड़क दुर्घटनाओं में मारे गए थे. 2015 में चार लाख लोग घायल हुए. हर दिन चार सौ लोगों की मौत होती है.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : गोरक्षा के नाम पर गोरखधंधे पर सख़्ती

    प्राइम टाइम इंट्रो : गोरक्षा के नाम पर गोरखधंधे पर सख़्ती

    गोली मार देने की बात मुझे नहीं जंची, भले ही यह बात इसलिए कही गई हो कि ठोस तरीके से मैसेज चला जाए. मेरी राय में प्रधानमंत्री को ऐसे अतिरेक से बचना चाहिए था. जिन गौ रक्षकों को वे दो दिन से असामाजिक तत्व, नकली गौ रक्षक, भारत की एकता को तोड़ने वाला मुट्ठी भर समूह बता रहे थे, उनके लिए यह कहना कि मुझे गोली मार दो मगर मेरे दलित भाइयों को मत मारो.

  • पीएम मोदी और शिवपाल सिंह के 'साहसिक' बयानों से होगी पार्टी में गुंडे बदमाशों की सफाई..

    पीएम मोदी और शिवपाल सिंह के 'साहसिक' बयानों से होगी पार्टी में गुंडे बदमाशों की सफाई..

    शनिवार को भारतीय राजनीति में दो बड़ी दुर्घटना हुई हैं. एक दुर्घटना उत्तर प्रदेश के इटावा में हुई है और दूसरी दिल्ली में हुई. इसे दुर्घटना इसलिए कह रहा हूं कि दो जगहों से दो बड़े नेताओं ने बयान जारी कर अपनी पार्टी और समर्थकों के विशाल हुजूम को अपराधी घोषित कर दिया है.

Advertisement

 

Advertisement