Hindi news home page

Ravish kumar


'Ravish kumar' - 650 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • प्राइम टाइम इंट्रो : संयुक्त राष्ट्र में भारत का पाक को जवाब

    प्राइम टाइम इंट्रो : संयुक्त राष्ट्र में भारत का पाक को जवाब

    संयुक्त राष्ट्र की आम सभा का 71वां सत्र चल रहा है. न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र संघ के मुख्यालय में 20 सितंबर से शुरू हुए इस सत्र में रोज़ 30 से अधिक देशों के प्रतिनिधियों और प्रमुखों के भाषण होते हैं. यह सत्र बुलाया गया है "The Sustainable Development Goals: a universal push to transform our world."

  • #युद्धकेविरुद्ध : गरीबी, बेरोजगारी से युद्ध का ऐलान, मोर्चे पर कब तैनात होंगे एंकर!

    #युद्धकेविरुद्ध : गरीबी, बेरोजगारी से युद्ध का ऐलान, मोर्चे पर कब तैनात होंगे एंकर!

    क्या सोमवार को युद्धकामी एंकर और चैनल ग़रीबी, कुपोषण, बेरोज़गारी और शिशु मृत्यु दर के आंकड़े निकाल कर प्राइम टाइम में बहस करेंगे? अगर भारत और पाकिस्तान के बीच इन बातों पर युद्ध करना होगा तो युद्धकामी एंकरों को कुपोषण और ग़रीबी पर बहस करने के लिए उन्हीं लोगों को बुलाना होगा जिन्हें वे दिन रात बददुआएं देते रहते हैं, जिन्हें एनजीओ टाइप बताकर पाकिस्तान के प्रेमी बताते हैं.

  • #युद्धकेविरुद्ध : युद्ध से पहले प्रधानमंत्री ये 35 काम ज़रूर करें

    #युद्धकेविरुद्ध : युद्ध से पहले प्रधानमंत्री ये 35 काम ज़रूर करें

    हमला सिर्फ उड़ी के बेस कैंप पर नहीं हुआ है बल्कि सोशल मीडिया पर बने भक्तों के कैंप पर भी हो गया है. विरोधी को भी छर्रे लग गए हैं. दोनों चीख़ रहे हैं. युद्ध की ललकार और न होने पर फटकार की भरमार हो गई है. प्रधानमंत्री क्या करें, क्या न करें की बाढ़ आई हुई है. इसी सैलाब से भयाक्रांत होकर मैंने तय कर लिया है कि प्रधानमंत्री कभी नहीं बनूंगा.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : मराठा समाज किस बात से हुआ नाराज़?

    प्राइम टाइम इंट्रो : मराठा समाज किस बात से हुआ नाराज़?

    जब भी हम यह मानने लगते हैं कि भारत की राजनीति अब ईवेंट मैनेजमेंट से ही चलेगी तभी भारत की जनता ग़लत साबित कर देती है. लगता है वो जिद पर अड़ी हुई है कि लोकतंत्र में राजनीति को प्रबंधन से नहीं चलने देंगे. राजनीति चलेगी तो सिर्फ और सिर्फ उसके बुनियादी मुद्दों से.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : शहीदों के परिवारों को गर्व भी तो ग़म भी

    प्राइम टाइम इंट्रो : शहीदों के परिवारों को गर्व भी तो ग़म भी

    एक सिपाही से ही पूछा जाए कि वो कहां जा रहा है. युद्ध का उन्माद फैलाने वाले और रचने वालों से इस सवाल का जवाब नहीं मिलेगा. हम किसी सिपाही के बारे में तभी जानते हैं जब वो शहादत का प्राप्त होता है. युद्ध की अनिवार्यता और युद्ध की व्यर्थता दुनिया भर में बहस का मुद्दा है लेकिन एक सिपाही अपनी लाइन ऑफ ड्यूटी कभी क्रॉस नहीं करता है.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : उरी हमले का कैसे जवाब देगी सरकार?

    प्राइम टाइम इंट्रो : उरी हमले का कैसे जवाब देगी सरकार?

    विरोधी चुनाव पूर्व बयानों को निकाल कर प्रधानमंत्री से पूछ रहे हैं कि बताइये क्या करेंगे. बहुत कहते थे कि एक के बदले दस सर काट कर लायेंगे, अब लाने का वक्त आ गया है, लाकर दिखाइये. लव लेटर लिखने का टाइम चला गया तो बताइये कि कौन सा टाइम आया है. विरोधियों या आलोचकों के पूछने के अंदाज़ से ऐसा लग रहा है जैसे वे भी मांग कर रहे हों कि युद्ध करके दिखाने का वक्त आ गया है. दूसरी तरफ समर्थक भी युद्ध के लिए ललकार रहे हैं.

  • सपा क्या, पूरे देश की राजनीति ही 'शिवपालों' से चलती है...

    सपा क्या, पूरे देश की राजनीति ही 'शिवपालों' से चलती है...

    हमारे राजनीतिक दल आंतरिक रूप से एक गिरोह की तरह संचालित होते हैं. कहीं पार्टियों में परिवार पल रहे हैं तो कहीं परिवार पार्टियों को पाल रहे हैं. सब के सब शिवपालों के भरोसे पल रहे हैं. इनमें नेता के अलावा उद्योगपति और पत्रकार भी जोड़ लीजिए, इसलिए राजनीति या पार्टी से शिवपालों का निकालना इतना आसान नहीं है. आइए, सब मिलकर शिवपाल यादव की रक्षा करें. यही काम तो सब अलग-अलग शिवपालों के लिए करते हैं, तो एक को सूली पर क्यों चढ़ाया जाए.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : भारत में इंजीनियरिंग के हाल पर चर्चा

    प्राइम टाइम इंट्रो : भारत में इंजीनियरिंग के हाल पर चर्चा

    15 सितंबर को इंजीनियर दिवस मनाया जाता है. उनकी सोचिए जो इंजीनियर तो बन गए हैं लेकिन उसके लायक हैं ही नहीं. भारत के युवाओं का अच्छा खासा प्रतिशत इंजीनियर बनने का सपना देखता है, वो नहीं भी देखता है तो उसके बदले मां बाप सपना देखते हैं.

  • गिनी माही से एक दशक पहले एस एस आज़ाद ने बुनियाद रखी थी चमार गीतों की

    गिनी माही से एक दशक पहले एस एस आज़ाद ने बुनियाद रखी थी चमार गीतों की

    “आठवीं नौवीं में पढ़ता था, तब पंजाब के नवां शहर के गांव मूसापुर में कांशीराम जी की सभा हुई थी. उनकी बातों को सुनने के बाद मैं कांशीराम जी को पढ़ने समझने लगा. उन्हीं के ज़रिये जाना कि डॉक्टर का मतलब एक और होता है. हम तो बीमारियों के इलाज करने वाले को डाक्टर कहते थे लेकिन डाक्टर बाबा साहब अंबेडकर के बारे में तो मुझे कुछ पता ही नहीं था.'

  • प्राइम टाइम इंट्रो : चिकनगुनिया की चुनौती से कैसे निपटें?

    प्राइम टाइम इंट्रो : चिकनगुनिया की चुनौती से कैसे निपटें?

    क्या दिल्ली की तमाम एजेंसियों के पास वायरल से निपटने के लिए पर्याप्त संसाधन हैं, जब आप यह सवाल पूछेंगे तब आपको पता चलेगा कि ये हर साल क्यों फैल रहा है और रुक क्यों नहीं रहा है. हम दिल्ली वाले चिकनगुनिया को लेकर एमसीडी से लेकर दिल्ली सरकार तक से काफी गुस्से में है.

  • हम सब हैं भीड़ बनने, बनाने और उसे बचाने के अपराधी...

    हम सब हैं भीड़ बनने, बनाने और उसे बचाने के अपराधी...

    राजनीतिक दल कब भीड़ में बदल जाए, पता नहीं. ऐसा लगता है, हमने अपनी आज़ादी की लड़ाई से कुछ नहीं सीखा. अहिंसक प्रदर्शन करने की परंपरा का विकास हमारे राजनीतिक दलों ने भी नहीं किया है. सबका रिकॉर्ड ख़राब है. क्या कभी किसी भीड़ की हिंसा का नतीजा निकला है...? सरकारों को भीड़ से लाभ होता है, इसलिए वह एक भीड़ को बचाती है तो एक भीड़ को डराती है. हर किसी के पास अपनी एक भीड़ है. भीड़ हिंसा न करे, इसका कोई उपाय किसी के पास नहीं है.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : शहाबुद्दीन की रिहाई किसकी नाकामी?

    प्राइम टाइम इंट्रो : शहाबुद्दीन की रिहाई किसकी नाकामी?

    कानून तो अपना काम करेगा, लेकिन कानून तभी तो काम करता है जब उसके पीछे सरकार की एजेंसियां काम करती हैं. कानून अपने आप सपने में या किसी हमसफर के ख़्याल से काम नहीं करता है. मोहम्मद शहाबुद्दीन की ज़मानत पर रिहाई ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की साख दांव पर लगा दी है.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : कावेरी नदी जल बंटवारे का विवाद

    प्राइम टाइम इंट्रो : कावेरी नदी जल बंटवारे का विवाद

    बेंगलुरू बस डिपो में उपद्रवियों ने एक साथ कई बसों में आग लगा दी. देखते ही देखते कई बसें धू-धू करके जलने लगीं. और ये इससे पहले दिन में बेंगलुरू के मैसूर रोड सैटलाइट बस स्टैंड में तमिलनाडु की नंबर प्लेट वाली जितनी भी गाड़ियां थीं उन सभी में उपद्रवियों ने या तो आग लगा दी या फिर तोड़फोड़ की.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : क्या ट्वीटर का भी असर अब ठंडा पड़ने लगा है?

    प्राइम टाइम इंट्रो : क्या ट्वीटर का भी असर अब ठंडा पड़ने लगा है?

    ट्वीटर पर ट्रेंड कराने का ट्रेंड चल पड़ा है. इसके ज़रिये आपकी बात कुछ लोगों की निगाह में आ जाती है और कई बार मीडिया की निगाह में. अब इसका हिसाब करने का वक्त आ गया है कि मामूली एक्शन के अलावा इस तरह के ट्रेंड का सिस्टम पर क्या असर पड़ता है.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : भारत मलेरिया मुक्त क्यों नहीं बन पाया?

    प्राइम टाइम इंट्रो : भारत मलेरिया मुक्त क्यों नहीं बन पाया?

    श्रीलंका मलेरिया से मुक्त हो गया है. मलेरिया मुक्त श्रीलंका की घोषणा महत्वपूर्ण है ऐतिहासिक नहीं क्योंकि दुनिया के कई देश मलेरिया से मुक्ति पा चुके हैं और 90 के करीब देश मुक्ती पाने के प्रयास में हैं या मुक्ति के नाम पर नियंत्रण कर रहे हैं. मलेरिया से श्रीलंका की मुक्ति पर बात होनी चाहिए क्योंकि मच्छरों से हम भी तो परेशान हैं.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : आरएसएस से जुड़ा बयान वापस नहीं लेंगे राहुल गांधी

    प्राइम टाइम इंट्रो : आरएसएस से जुड़ा बयान वापस नहीं लेंगे राहुल गांधी

    राहुल गांधी पिछले कुछ महीनों से लगातार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर बयानी हमला कर रहे हैं. सवाल है कि क्या राहुल गांधी ज़मीन पर उतर कर आरएसएस से लड़ने की तैयारी कर रहे हैं. क्या राहुल गांधी इस लड़ाई में कांग्रेस को भी झोंक देंगे. क्या कांग्रेस का आम कार्यकर्ता और नेता भी संघ से लड़ने के लिए तैयार है.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : क्या 18,000 रुपये न्यूनतम मजदूरी की मांग जायज नहीं है?

    प्राइम टाइम इंट्रो : क्या 18,000 रुपये न्यूनतम मजदूरी की मांग जायज नहीं है?

    दुनिया भर में न्यूनतम मज़दूरी बढ़ाने की बात हो रही है. इसके बढ़ाने से उद्योग और रोज़गार पर क्या असर पड़ेगा, अलग-अलग रिसर्च के अलग-अलग दावे हैं. कोई कहता है कि 10 फीसदी न्यूनमत मज़दूरी बढ़े तो 2 फीसदी रोज़गार कम हो जाता है.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : तो क्या सच में भारत-अमरीका का करीब आना ऐतिहासिक है?

    प्राइम टाइम इंट्रो : तो क्या सच में भारत-अमरीका का करीब आना ऐतिहासिक है?

    भारत और अमरीका के बीच प्रगाढ़ होती दोस्ती से चीन और पाकिस्तान परेशान है ये तो एक बात हुई, लेकिन इस दोस्ती में ऐसा क्या ख़ास है कि हम बिल्कुल परेशान नहीं हैं. भारत और अमरीका अब मानसिक और राजनीतिक रूप से एक-दूसरे के करीब आ चुके हैं.

Advertisement

 

Advertisement