आप यहां हैं : होम » विषय »Ravish Kumar »

'Ravish Kumar' - 712 video result(s)

'Ravish Kumar' - 67 news result(s)

प्राइम टाइम इंट्रो : भारत का इजराइल के खिलाफ वोटसंयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार परिषद में भारत ने इज़राइल के खिलाफ वोट किया है। क्या भारत ने ऐसा कर उन लोगों को चौंका दिया है जो इज़राइल का साथ दे रहे थे और सरकार से कह रहे थे कि उसे 2014 के चुनावों में अस्वीकार कर दिए गए सेकुलरवादियों के बहकावे में नहीं आना चाहिए।
प्राइम टाइम इंट्रो : क्या शिवसेना सांसद का तरीका जायज है?एक सांसद एक कर्मचारी के मुंह में रोटी ठूंस रहे हैं। ये जनाब ठाणे से शिवसेना के सांसद हैं, राजन विचारे और जिसके मुंह में रोटी ठूंसी जा रही है, वो हैं अरशद ज़ुबैर, महाराष्ट्र सदन में आईआरसीटीसी के रेसिडेंट मैनेजर। अरशद का कहना है कि ऐसा करने से उसका रोज़ा समय से पहले टूट गया।
प्राइम टाइम इंट्रो : न्यायपालिका की निष्पक्षता पर बहससत्ता संतुलन में नैतिक बल जिसका प्रधान होता है, वही उस वक्त तक प्रधान होता है। अब जजों की नियुक्ति के मामले में पारदर्शिता को लेकर न्यायपालिका की जगह सरकार बयान दे रही है कि वह चिंतित है।
प्राइम टाइम इंट्रो : गुरुद्वारों के प्रबंधन को लेकर विवादकभी-कभी कोई राजनीतिक विवाद अपनी प्रकृति में दिशाहीन और चुनावी होते हुए भी हम सबको उसके ज़रिये इतिहास के एक ऐसे दौर में जाने का मौका देता है, जहां पहुंचकर आपको खुद से सवाल करना पड़ता है कि क्या हम उन कुर्बानियों की भावनाओं को जी रहे हैं।
प्राइम टाइम इंट्रो : सिविल सर्विस परीक्षा पर विवादअगर भारतीय सिविल सेवा में भारतीय भाषाओं के छात्रों की संख्या कम हो जाए तो क्या इससे किसी को फर्क पड़ना चाहिए? अगर किसी को फर्क नहीं पड़ता है तो उन्हें प्रधानमंत्री या किसी मंत्री के यहां वहां हिन्दी बोल देने से खुश भी नहीं होना चाहिए।
प्राइम टाइम इंट्रो : गाजा पर इजराइली हमले पर उदासीनताग्लोबल और गूगल काल ने हमारी जागरूकता को किस हद तक बेहतर किया है या बदतर किया है इसकी एक मिसाल है गाज़ा पर इज़राइली हमले को लेकर हमारी उदासीनता। चैनल अभी-अभी वैदिक काल से निकल अशोक सिंघल के मुस्लिम विरोधी बयान काल में प्रवेश कर गए हैं।
प्राइम टाइम इंट्रो : दिल्ली में सरकार बनाने का दांवपेंचराजनीति में नैतिकता चुनाव सापेक्षिकहोती है और व्यावहारिकता सत्ता सापेक्षिक होती है। राजनीति के इस गुणसूत्र यानी डीएनए की खोज मैंने नहीं की है। इसकी खोज आप जनता ने की है जिस पर जमी धूल को झाड़ कर मैं फिर से पेश कर रहा हूं। तो दिल्ली में सरकार बनने के आसार फिर से मंडराने लगे हैं।
प्राइम टाइम इंट्रो : जाति व्यवस्था का सवाल!भारतीय इतिहास शोध संस्थान यानी आईसीएचआर के निदेशक वाई सुदर्शन राव अपने एक लेख में लिखते हैं कि प्राचीन काल में जाति व्यवस्था बहुत अच्छा काम कर रही थी और हमें इसके ख़िलाफ किसी पक्ष से कोई शिकायत भी नहीं मिलती है।
प्राइम टाइम इंट्रो : प्रधानमंत्री को अपनी टीम चुनने का हककिसी भी प्रधानमंत्री को अपने हिसाब से टीम बनाने की छूट होनी चाहिए। पूरी तरह से यह उनके विवेक पर निभर्र करता है कि किस व्यक्ति को वे किस काम के योग्य समझें। यहां तक किसी को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव के मामले में एतराज़ नहीं होना चाहिए और विपक्ष ने अपनी प्रतिक्रिया में यह बात साफ-साफ कही भी।
प्राइम टाइम इंट्रो : क्या मोदी सरकार ने संभावनाओं की नई लकीर खींची?यह बजट मनमोहन काल से किन मायनों में एक नया मोड़ लेती है और किन मायनों में उन्हीं रास्तों पर चलती नज़र आई। क्या जेटली या मोदी ने इस बजट के ज़रिये कोई नया या बड़ा आर्थिक आइडिया पेश किया जिसका इंतज़ार ढुलमुल चल रही भारतीय अर्थव्यवस्था को था। सीमाएं तो ज़ाहिर हैं, मगर उन्होंने संभावनाओं की नई लकीर क्या खींचीं।
प्राइम टाइम इंट्रो : अमित शाह के बीजेपी अध्यक्ष बनने पर विवाद क्यों?बलिहारी उस मीडिया की जो अमित शाह के नाम से शाह उठाकर उनके अध्यक्ष बनने को ऐसे पेश कर रही है मानो बीजेपी का नहीं किसी मुग़लिया जागीर का कोई मनसबदार बना हो।
प्राइम टाइम इंट्रो : बुलेट ट्रेन से ही चमकेगा भारतीय रेल?भारतीय रेल की ज़रूर कई कमियां हैं, मगर एक बुलेट ट्रेन के न होने से यह इतनी भी गई गुज़री नहीं है कि कल से आप सामान्य ट्रेनों में चलते हुए कोफ्त करने लगे और प्लग में चाजर्र ऐसे ठूंस मारे कि टूट ही जाए।
प्राइम टाइम इंट्रो : कांग्रेस को मिलेगा नेता विपक्ष का पद?कायदे से तो इन दौ सौ सांसदों को मिलकर नेता विपक्ष के लिए आवाज उठानी चाहिए थी और नियम धारा का समर्थन न मिलने की स्थिति में अपने भीतर आम सहमति बनाकर नेता विपक्ष चुनकर प्रतीकात्मक रूप से लोकतांत्रिक भावना का साहसिक प्रदर्शन करना चाहिए था, मगर ऐसा नहीं हो रहा है।
प्राइम टाइम इंट्रो : मनरेगा को लेकर खींचतानमोदी सरकार ने औपचारिक स्तर पर कभी मनरेगा को बदलने या खत्म करने की बात नहीं की है, मगर फिर आज राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की चिट्ठी से आशंकाओं को यकीन होने लगा कि कहीं सरकार के निशाने पर मनरेगा तो नहीं है।
प्राइम टाइम इंट्रो : दहेज प्रताड़ना, कौन प्रताड़ित?सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सीआरपीसी के सेक्शन 41 के तहत बिना वारंट और मजिस्ट्रेट के आदेश के पुलिस को गिरफ्तार करने के अधिकार का गलत इस्तमाल हो रहा है।
प्राइम टाइम इंट्रो : न्यायपालिका की आज़ादी में दखलंदाज़ी हुई?कोई सरकार अपनी संस्थाओं के बीच किस तरह का संतुलन बनाती है और उनकी स्वायत्तता को कितनी जगह देती है। मैं सीबीआई की बात नहीं कर रहा हूं। वरिष्ठ वकील गोपाल सुब्रमण्यम जज नहीं बने तो जनता को क्यों तकलीफ होनी चाहिए।
प्राइम टाइम इंट्रो : महंगाई की मार कब तक?महंगाई राजनीतिक दलों को क्रिएटिव बना देती है। जो बीजेपी मनमोहन सरकार के खिलाफ भारत बंद किया करती थी, वह आज-कल भारत सरकार चला रही है। इसके बाद भी अंतरराष्ट्रीय परिस्थिति का बाल बांका नहीं कर पा रही है। फर्क सिर्फ इतना आया है कि जो बातें मनमोहन सिंह बोला करते थे, वही बातें बीजेपी कहने लगी है।
प्राइम टाइम इंट्रो : सेकुलरिज़्म की परिभाषा क्या हो?यह सवाल तो खुद से पूछिये कि आप सेकुलर हैं या नहीं? होना ज़रूरी भी है या नहीं? क्या सेकुलर होना एक सामान्य नागरिक आचरण है, जिसके तहत हम और आप एक दूसरे की मान्यताओं, आस्थाओं की सीमाओं का आदर करते हैं? क्या सत्ता बदलने से सेकुलर होने की कोई समझ बदल जाती है?
प्राइम टाइम इंट्रो : सरकारी भर्तियों में भारी घोटालामध्य प्रदेश के व्यापम घोटाले की व्यापकता की चपेट में बीजेपी के नेताओं के साथ-साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेताओं के भी नाम आने लगे हैं। पिछले एक साल से यह घोटाला जांच के स्तर पर ही है और आए दिन किसी न किसी नए मोड़ पर पहुंच जाता है।
प्राइम टाइम इंट्रो : मोदी सरकार के तीस दिनअच्छे दिन आने वाले हैं से लेकर अच्छे दिन आ गए हैं और कहां हैं अच्छे दिन। रेडियो, एफएम, टीवी चैनल लतीफों के तमाम कार्यक्रम अखबार राजनीतिक बहसबाज़ी इन सबमें अच्छे दिन आ गए हैं को लेकर इतने प्रयोग हो रहे हैं कि एक दिन यह स्लोगन ही मुद्दा न बन जाए।

Ravish Kumar से जुड़े अन्य समाचार »

Advertisement

भारत पहले से ही हिन्दू राष्ट्र : गोवा के उप-मुख्यमंत्री

उपमुख्यमंत्री ने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगी दीपक धवलीकर की उस टिप्पणी का बचाव किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि मोदी देश को हिन्दू राष्ट्र बना सकते हैं।

Advertisement