आप यहां हैं : होम »   वीडियो 

छोटे शहरों की नब्ज पकड़ती फिल्में...

हिन्दी फिल्मों में कहानियां कभी किसी बड़े शहर की होती है, तो कभी गांवों-कस्बों की। कभी फिल्मकार अलग-अलग प्रांतों और प्रदेशों की आम बोलचाल की भाषाओं को अपनी फिल्मों में इस्तेमाल करते हैं। इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए रिलीज हुई है विशाल भारद्वाज की फिल्म 'मटरू की बिजली का मंडोला'...





Advertisement

 
 
जम्मू-कश्मीर चुनाव : एक ही सदन के सदस्यों की सैलरी अलग!

चुनाव लड़ रहे मौजूदा विधायकों की ओर से दायर शपथपत्रों पर यकीन किया जाए, तो विधायकों को उनके कामों के लिए समान रकम नहीं मिलती।

Advertisement