आप यहां हैं : होम »   वीडियो 

'ऐ मेरे वतन के लोगों...' के 50 साल

27 जनवरी, 1963 की शाम को दिल्ली में जब लता मंगेशकर ने कवि प्रदीप द्वारा लिखे गए इस गीत को गाया था, तो जवाहर लाल नेहरू की आंखें नम हो गई थीं। यह गीत दरअसल युद्ध के नायकों और शहीदों को एक श्रद्धांजलि है और आज 50 साल बाद भी जब यह गीत कहीं सुनाई देता है, तो हमारी संवेदनाओं को छू जाता है।





Advertisement

 
मध्य प्रदेश : दरगाह पर हिंदू मनाते हैं ईद

खास बात यह है कि आठ हजार की आबादी वाले इस गांव में एक भी मुस्लिम परिवार नहीं है। बाबा मुक्कनशाह की दरगाह सागर जिले के बसाहरी गांव में है।

Advertisement