NDTV Khabar
होम | चुनाव |   अरुणाचल पश्चिम 

अरुणाचल पश्चिम लोकसभा सीट परिणाम

लोकसभा चुनाव 2019: अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) की अरुणाचल पश्चिम संसदीय सीट (Arunachal West Lok Sabha Election Results 2019) के सभी प्रत्याशियों और परिणाम के साथ-साथ इतिहास और पूर्व सांसदों के बारे में जानिए. इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश की अन्य लोकसभा सीटों के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए स्क्रॉल करें.

  • पार्टी
  • उम्मीदवार

  • वोट*
  • स्थिति
*प्रोविजनल डेटा

2014 विजेताकिरेन रिजिजू

  • बीजेपी

2019 विजेताकिरेन रिजिजू

  • बीजेपी

अरुणाचल प्रदेश: अन्य चुनाव क्षेत्र

चुनाव क्षेत्रअग्रणी पार्टीस्थिति
अरुणाचल पूर्वश्री तापिर गावबीजेपीजीते
अरुणाचल पश्चिमकिरेन रिजिजूबीजेपीजीते

अरुणाचल प्रदेश के बारे में

अरुणाचल प्रदेश की अरुणाचल पश्चिम लोकसभा सीट (Arunachal West Lok Sabha Election Results 2019) पर 2014 के चुनाव में BJP के किरेन रिजिजू ने जीत हासिल की थी. उन्हें 1,69,367 वोट मिले थे, जबकि कांग्रेस के तमक संजोय 1,27,629 वोटों के साथ दूसरे नंबर पर रहे थे.

अगर यहां के इतिहास की बात करें, तो सन् 1977 में यह सीट कांग्रेस के रिंचिन खांडू के हाथ में थी. 1980, 1984, 1989 व 1991 में कांग्रेस के प्रेम खांडू, 1996 में निर्दलीय उम्मीदवार तोमो रिबा, 1998 में AC के ओमक अपंग, 1999 में कांग्रेस के जरबॉम गैमलिन, 2004 में BJP के किरेन रिजिजू, 2009 में कांग्रेस के तकम संजोय ने यहां कब्जा किया था.

किरेन रिजिजू का जन्म 19 नवंबर, 1971 को हुआ था. वह पेशे से सामाजिक कार्यकर्ता हैं.

इस निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत विधानसभा की 33 सीटें आती हैं, जिनमें लुंबला, तवांग, मुक्तों, दिरांग, कलाकटंग, थ्रीजिनो-बुरागओं, बोमडिला, बामेंग, च्यांगताजो, सेप्पा ईस्ट, सेपा वेस्ट, पक्के-कसांग, इटानगर, दोइमुख, सागले, यछुली, जाइरो-हपोली, पालिन, न्यापिन, ताली, कोलोरिआंग, नाचो, तिलिहा, दपोरिजो, राग, दुमपोरिजो, लिरोमोबा, लिकाबाली, बसर, लॉंग वेस्ट, लॉंग ईस्ट, रमॉन्ग व मेचुका शामिल हैं.

वर्ष 2014 में आधे से ज़्यादा वोट हासिल कर कांग्रेस के संजय टकम को हराकर सांसद बनने वाले केंद्रीय गृहराज्य मंत्री किरेन रिजिजू का निर्वाचन क्षेत्र होने की वजह से अहम माने जा रहे इस संसदीय क्षेत्र का महत्व लोकसभा चुनाव 2019 में और भी बढ़ गया है, क्योंकि इस बार उनका मुकाबला कांग्रेस के दिग्गज और पूर्व मुख्यमंत्री नबम टुकी से है. आम चुनाव 2019 के दौरान इस सीट पर एक और इतिहास भी बना है, और यहां से पहली बार किसी पार्टी ने एक महिला प्रत्याशी को टिकट दिया है. 

जनता दल सेक्युलर (JDS) की उम्मीदवार के रूप में सामाजिक कार्यकर्ता जारजुम एते यहां से चुनाव लड़ रही हैं, और सबसे दिलचस्प तथ्य यह है कि इस सीट पर महिला मतदाताओं की तादाद पुरुषों के मुकाबले ज़्यादा है. सिटिज़नशिप बिल को लेकर जारी विवाद के बीच BJP की सहयोगी NPP ने भी इस सीट पर ख्योदा अपिक को चुनावी संघर्ष में उतार दिया है, जिससे मुकाबला बहुकोणीय हो गया है.

फोटो सौजन्‍य: loksabha.nic.in
ख़बर
फोटो
वीडियो

Advertisement