NDTV Khabar
होम | चुनाव |   बस्तर 

बस्तर लोकसभा सीट परिणाम

लोकसभा चुनाव 2019: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की बस्तर संसदीय सीट (Bastar Lok Sabha Election Results 2019) के सभी प्रत्याशियों और परिणाम के साथ-साथ इतिहास और पूर्व सांसदों के बारे में जानिए. इसके अलावा छत्तीसगढ़ की अन्य लोकसभा सीटों के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए स्क्रॉल करें.

  • पार्टी
  • उम्मीदवार

  • वोट*
  • स्थिति
*प्रोविजनल डेटा

2014 विजेतादिनेश कश्यप

  • बीजेपी

2019 विजेतादीपक बैज

  • कांग्रेस

छत्तीसगढ़: अन्य चुनाव क्षेत्र

चुनाव क्षेत्रअग्रणी पार्टीस्थिति
बस्तरदीपक बैजकांग्रेसजीते
बिलासपुरअरुण सावबीजेपीजीते
दुर्गविजय बघेलबीजेपीजीते
जांजगीर-चम्पागुहाराम अजगलेबीजेपीजीते
कांकेरमोहन मांडवीबीजेपीजीते
कोरबाज्योत्सना चरणदास महंतकांग्रेसजीते
महासमुंदचुन्नी लाल साहूबीजेपीजीते
रायगढ़गोमती साईंबीजेपीजीते
रायपुरसुनील कुमार सोनीबीजेपीजीते
राजनंदगांवसंतोष पांडेबीजेपीजीते
सरगुजारेणुका सिंह सरूताबीजेपीजीते

छत्तीसगढ़ के बारे में

छत्तीसगढ़ की बस्तर लोकसभा सीट (Bastar Lok Sabha Election Results 2019) पर 2014 के चुनाव में BJP के दिनेश कश्यप ने जीत हासिल की थी. उन्हें 3,85,829 वोट मिले थे. वहीं कांग्रेस के दीपक कर्मा 2,61,470 वोटों के साथ दूसरे नंबर पर रहे थे.

अगर यहां के इतिहास पर नजर डालें, तो सन् 1951 में यह सीट निर्दलीय उम्मीदवार मुचाकी कोसा के हाथ में थी. 1957 में कांग्रेस के सुरति किस्तैया, 1962 में निर्दलीय उम्मीदवार लखमू भवानी, 1967 में निर्दलीय उम्मीदवार जे. सुंरहे दरलाल, 1971 में निर्दलीय उम्मीदवार लम्बोदर बलियार और 1977 में BLD के दिगपाल शाह सांसद थे. उसके बाद 1980 में कांग्रेस के लक्ष्मण कर्मा, 1984, 1989 व 1991 में कांग्रेस के मानकू राम सोढ़ी, 1996 में निर्दलीय उम्मीदवार महेंद्र कर्मा, 1998, 1999, 2004 व 2009 में BJP के बलिराम कश्यप जीते थे. 2011 के उपचुनाव में BJP के ही दिनेश कश्यप इस सीट पर जीते.

दिनेश कश्‍यप का जन्‍म 18 नवंबर, 1962 को हुआ था. इन्‍होंने स्‍नातकोत्तर (राजनीति शास्‍त्र), रविशंकर विश्‍वविद्यालय, रायपुर, छत्‍तीसगढ़ से शिक्षा प्राप्‍त की हुई है. यह पेशे से किसान हैं.

इस निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत विधानसभा की 8 सीटें आती हैं, जिनमें कोंडागांव, जगदलपुर, बीजापुर, नारायणपुर, चित्रकूट, कोंटा, बस्तर व दंतेवाड़ा शामिल हैं.

नक्सल समस्या से जूझ रही इस सीट से दो बार सांसद रह चुके दिनेश कश्यप का टिकट BJP ने इस बार काट दिया है, और पूर्व विधायक बैदूराम कश्यप को प्रत्याशी बनाया है, जबकि हालिया विधानसभा चुनाव में मिली शानदार जीत से उत्साहित कांग्रेस ने सीट को BJP से छीनने का जिम्मा जनजातीय विधायक दीपक बैज को दिया है. इस सीट पर नक्सलियों की समस्या काफी भयावह रूप धारण किए रही है, और हाल ही में इसके अंतर्गत आने वाली दंतेवाड़ा विधानसभा सीट के BJP विधायक भीमा मंडावी के साथ-साथ चार पुलिसकर्मी भी नक्सली हमले में मारे गए, जिसके बाद चुनाव के लिए सेना के साथ-साथ ड्रोन भी तैनात किए गए हैं.

फोटो सौजन्‍य: loksabha.nic.in
ख़बर
फोटो
वीडियो

Advertisement