NDTV Khabar
होम | चुनाव |   उम्मीदवार को जानिए 

वी.के. सिंह

जनरल वी. के. सिंह (V.K. Singh) 1 मार्च, 2014 को बीजेपी (BJP) में शामिल हुए थे. इस साल हुए लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2014) में वीके सिंह गाजियाबाद लोकसभा क्षेत्र (Ghaziabad Lok Sabha Constituency) से बीजेपी प्रत्‍याशी के रूप में मैदान में उतरे थे और विजयी रहे थे. लोकसभा चुनाव 2019 (Ghaziabad Lok Sabha Constituency 2019) में एक बाद फिर बीजेपी ने वीके सिंह को गाजियाबाद से ही अपना उम्‍मीदवार बनाया है. गाजियाबाद लोकसभा सीट 2008 में अस्तित्व में आई थी. चुनाव 2019 (Election 2019) के लिए वी के सिंह दमदार उम्‍मीदवार माने जा रहे हैं.

उत्‍तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटें आती हैं. इस चुनाव में जनरल वी के सिंह को 7.58 लाख से ज्यादा वोट मिले थे. दूसरे नंबर पर कांग्रेस थी जिसके उम्‍मीदवार राज बब्बर को 1.91 लाख वोट मिले थे. तीसरे नंबर पर 1.73 लाख वोटों के साथ बसपा प्रत्याशी और चौथे पर 1.06 लाख वोट के साथ सपा प्रत्याशी थे. इस बार उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के साथ बसपा और राष्ट्रीय लोकदल का महागठबंधन है. गठबंधन में यह सीट समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) को दी गई है.

गाजियाबाद लोकसभा संसदीय क्षेत्र में कुल 5 विधानसभा सीटें हैं. लोनी, मुरादनगर, साहिबाबाद, गाजियाबाद और धोलाना हैं. जिसमें 4 सीट पर बीजेपी का कब्जा है. धोलाना सीट पर बहुजन समाज पार्टी का कब्जा है. भारतीय जनता पार्टी ने 2014 में होने वाले लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2014) से पहले प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी के नाम की घोषणा कर दी थी. एनडीए के पुराने सहयोगी नीतीश कुमार ने पहले ही एनडीए से नाता तोड़ लिया था. कुछ मतभेद और विरोध के बीच नरेंद्र मोदी बीजेपी की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्‍मीदवार बना दिए गए थे. इससे पहले भारत की राजनीति में कई महत्‍वपूर्ण घटनाएं हुई थी. घोटालों और भ्रष्‍टाचार की खबरों पर चर्चा आम थीं. अन्‍ना हजारे के अनशन ने कई संभावनाओं को जन्‍म दिया उनमें से एक था दिल्‍ली की राजनीति में अरविंद केजरीवाल का उदय. 

गाजियाबाद से कौन है जनरल वीके सिंह के मुकाबले
और इसी आंदोलन के मंच पर भारतीय थल सेना के प्रमुख पद से 31 मई 2012 को सेवानिवृत्‍त होने के बाद जनरल विजय कुमार सिंह दिखे थे. बीजेपी में शामिल होने से पहले जनरल वीके सिंह हरियाणा की एक रैली में नरेंद्र मोदी के साथ मंच भी साझा किया. परम विशिष्‍ट सेवा मेडल, अति विशिष्‍ट सेवा मेडल, युद्ध सेवा मेडल प्राप्‍त करने वाले जनरल वीके सिंह पहले प्रशिक्ष‍ित कमांडो हैं जो सेना में जनरल के पद तक पहुंचे. वे पहले भारतीय थल सेना प्रमुख भी हैं जो सरकार को न्‍यायालय तक लेकर गए. जनरल वीके सिंह मूल रूप से राज्‍य हरियाणा के भिवानी जिले के बपोरा गांव से हैं. जनरल वीके सिंह की पढ़ाई बिड़ला पब्‍ल‍िक स्‍कूल, पिलानी, राजस्‍थान से हुई. उनकी नियुक्‍त‍ि राजपूत रेजीमेंट में हुई थी.

2008 में अस्तित्व में आने के बाद 2009 में गाजियाबाद में हुए चुनाव में बीजेपी के राजनाथ सिंह ने जीत दर्ज की थी. 2014 के लोकसभा चुनाव में राजनाथ सिंह लखनऊ लोकसभा सीट से चुनाव लड़े थे, जबकि गाजियाबाद से जनरल वीके सिंह को टिकट मिला था. जनरल वीके सिंह ने यहां से जीत दर्ज की. अब 2019 के लोकसभा चुनाव (Election 2019) के लिए गाजियाबाद से बीजेपी ने जनरल वीके सिंह को चुनाव मैदान में उतारा है. वह वर्तमान में यहां से सांसद हैं. सपा-बसपा-आरएलडी गठबंधन ने यहां से सुरेश बंसल को टिकट दिया है, जबकि कांग्रेस ने यहां से डॉली शर्मा को चुनाव मैदान में उतारने की घोषणा की है. ऐसे में इस सीट पर होने वाला चुनावी संघर्ष देखने लायक होगा.

वी.के. सिंह
गाज़ियाबाद
जीते944503 वोट*
बीजेपी
*Provisional
उम्र67
लिंगM
शैक्षिक योग्यताडॉक्टरेट
व्यवसाय-
आपराधिक मामले:
देनदारियां
चल संपत्ति:₹2.3 करोड़
अचल संपत्ति:₹3.4 करोड़
कुल संपत्ति:₹5.7 करोड़
कुल आय:₹26.1 लाख

व्यक्तिगत विवरण

निर्वाचन क्षेत्रगाज़ियाबाद (उत्तर प्रदेश)
दल का नामभारतीय जनता पार्टी ( भा.ज.पा.)
जन्म की तारीख10/05/1951
उच्चतम योग्यतापीएच.डी.
शैक्षिक और व्यावसायिक योग्यतापीएच.डी, मानव संसाधन प्रशिक्षण और विकास में स्नातकोत्तर डिप्लोमा, सामरिक अध्‍ययन में परास्‍नातक, बरकतुल्ला विश्‍वविद्यालय, भोपाल, आईएसटीडी, नई दिल्ली, आर्मी वार कॉलेज, महू और आर्मी वार कॉलेज, अमेरिका से शिक्षा ग्रहण की।
व्यवसायरक्षा सेवाएँ

Advertisement