NDTV Khabar
होम | चुनाव |   मध्य प्रदेश 

कुल सीटें- 29

मध्य प्रदेश लोकसभा चुनाव परिणाम 2019

2014 के चुनाव में बीजेपी ने मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh Lok Sabha Election Results 2019) की 29 में से 27 सीटें पर जीती थी,पर इस बार उसकी राह आसान नहीं है. क्या बीजेपी मप्र लोकसभा चुनाव 2019 में फिर इतिहास रच पाएगी. मध्य प्रदेश की सभी लोकसभा सीटों के बारे में विस्तार से जानकारी के लिए स्क्रॉल करें.

चुनाव क्षेत्रअग्रणी प्रत्याशीपार्टीस्थिति
बालाघाटढाल सिंह बिसेनबीजेपीजीते
बैतूलदुर्गा दास (डी.डी.) उइकेबीजेपीजीते
भिंडसंध्या रेबीजेपीजीते
भोपालप्रज्ञा सिंह ठाकुरबीजेपीजीते
छिंदवाड़ानकुल नाथकांग्रेसजीते
दमोहप्रह्लाद सिंह पटेलबीजेपीजीते
देवासमहेंद्र सिंह सोलंकीबीजेपीजीते
धारछत्तरसिंह दरबारबीजेपीजीते
गुनाकृष्ण पाल सिंह डॉ के.पी. यादवबीजेपीजीते
ग्वालियरविवेक नारायण शेजवलकरबीजेपीजीते
होशंगाबादउदय प्रताप सिंहबीजेपीजीते
इंदौरशंकर लालवानीबीजेपीजीते
जबलपुरराकेश सिंहबीजेपीजीते
खजुराहोवी.डी. शर्मा (विष्णु दत्त शर्मा)बीजेपीजीते
खंडवानंदकुमार सिंह चौहान (नंदू भैया)बीजेपीजीते
खरगोनगजेंद्र उमराव सिंह पटेलबीजेपीजीते
मांडलाफग्गन सिंह कुलस्तेबीजेपीजीते
मंदसौरसुधीर गुप्ताबीजेपीजीते
मुरैनानरेंद्र सिंह तोमरबीजेपीजीते
राजगढ़रोडमल नागरबीजेपीजीते
रतलामगुमान सिंह दामोरबीजेपीजीते
रीवाजनार्दन मिश्राबीजेपीजीते
सागरराजबहादुर सिंहबीजेपीजीते
सतनागणेश सिंहबीजेपीजीते
शहडोलहिमाद्रि सिंहबीजेपीजीते
सीधीरीति पाठकबीजेपीजीते
टीकमगढ़डॉ वीरेंद्र कुमारबीजेपीजीते
उज्जैनअनिल फिरोजियाबीजेपीजीते
विदिशारमाकांत भार्गवबीजेपीजीते

मध्य प्रदेश के बारे में

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh Lok Sabha Election Results 2019) में हुए 2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा और इसलिए मध्यप्रदेश लोकसभा चुनाव 2019 में उसकी राह आसान नहीं दिख रही है. भले ही उसने 2014 में 29 में से 27 सीटों पर जीत दर्ज की हो, लेकिन ऐसा दोबारा करना इस बार मुश्किल नजर आ रहा है. मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh elections 2019) साल 2000 तक यह क्षेत्रफल के आधार पर देश का सबसे बड़ा राज्य था. इस राज्य की सीमाएं पांच राज्यों से सटी हुईं हैं, जिसमें पूर्व में छत्तीसगढ़, दक्षिण में महाराष्ट्र, पश्चिम में गुजरात, उत्तर-पश्चिम में राजस्थान और उत्तर में उत्तर-प्रदेश है. मध्यप्रदेश का 30 फीसदी हिस्सा वन से घिरा हुआ है और यहां हीरे, ताबें और खनिज संसाधनों के समृद्ध भंडार हैं. राजनीतिक इतिहास की बात जाए तो इस राज्य के अब तक 31 मुख्यमंत्री रह चुके हैं. बता दें कि मध्यप्रदेश चुनाव 2019 में बीजेपी-कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है.

दरअसल, पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा. बीजेपी यहां डेढ़ दशक से सत्ता में थी. 29 नवंबर 2005 से लेकर 16 दिसंबर 2018 तक शिवराज सिंह चौहान राज्य के मुख्यमंत्री रहे. राज्य में कांग्रेस सरकार बनने के बाद 17 दिसंबर 2018 से कमलनाथ मुख्यमंत्री हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को कुल 29 में से 27 सीटों पर जीत मिली थी. जबकि दो सीटें कांग्रेस के खाते में आई थी. गूना से ज्योतिरादित्य सिंधिया, छिंदवाड़ा से कमलनाथ सांसद हैं. इस बार बीजेपी ने जनता के बीच नाराजगी देखते हुए शहडोल , भिंड सहित कुल पांच सीटों के मौजूदा सांसदों का टिकट काट दिया है.

बीजेपी और कांग्रेस के बीच हुआ कांटे का मुकाबला
दिसंबर, 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे का मुकाबला हुआ, जिसमें आखिरकार कांग्रेस जीतने में सफल रही. कांटे की टक्कर की वजह से यहां कांग्रेस बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई. कांग्रेस 2 सीट दूर रह गई. कुल 230 सीटों में से कांग्रेस ने 114, भाजपा ने 109, बसपा ने दो, सपा ने एक और निर्दलीय ने चार सीटों पर जीत दर्ज की. कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव जीतकर लगातार तीन बार से जीतती रही बीजेपी की सत्ता से विदाई सुनिश्चित कर दी. 

मध्यप्रदेश 
वर्तमान मुख्यमंत्री- कमलनाथ
राज्यपाल - आनंदीबेन पटेल
राज्य में सत्ता पक्ष- कांग्रेस
प्रमुख विपक्षी दल- बीजेपी 

मध्यप्रदेश में लोकसभा सीटें- 29 
सामान्य -19
एससी- 4 
एसटी - 6 

मतदान के चरण- 4
मतदान की तारीखें- 29 अप्रैल, 6 मई, 12 मई, 19 मई

कुल मतदाताओं की संख्या (2018) - 50394086 
पुरुष मतदाता - 26314957 
महिला मतदाता - 24077719
ट्रांसजेंडर मतदाता- 1410

लोकसभा क्षेत्र- इंदौर, उज्जैन, खंडवा, खजुराहो, खरगोन, गुना , ग्वालियर, छिंदवाड़ा, जबलपुर, टीकमगढ़, दमोह, देवास, धार, बालाघाट, बैतूल, भिंड, भोपाल, मंदसौर, मंडला, मुरैना, रतलाम, राजगढ़, रीवा, विदिशा, शहडोल, सतना, सागर, सीधी, होशंगाबाद

विधानसभा सीटें - 231
राज्यसभा सीटें-  11

राज्य का क्षेत्रफल-  3,08,252 वर्ग किलोमीटर  
जिले -     52 

जनसंख्या (2011 की जनगणना)- 7,26,26,809 
पुरुष-  37611370 (51.8%)
महिला- 34984645 (48.2%)
लिंगानुपात- 1000 पुरुषों पर 930 महिलाएं

साक्षरता दर (2011 की जनगणना)- 70.60%, 
पुरुष साक्षरता - 80.5% 
महिला साक्षरता- 60.0% 

धर्म आधारित जनसंख्या (2011 की जनगणना) 
हिंदू-  90.9%
मुस्लिम- 6.6% 
जैन - 1% 
ईसाई - 0.3%
बौद्ध- 0.3% 
सिख-  0.2%

जाति आधारित जनसंख्या
सवर्ण-  15%
ओबीसी-37%
एससी-  16%
एसटी-  23%
अन्य-   9%

सांस्कृतिक क्षेत्र- 5 - निमाड़, मालवा, बुंदेलखंड, बघेलखंड, चंबल

भाषाएं और बोलियां-  हिंदी, उर्दू, मराठी, मालवी, निमाड़ी, बुंदेली, बघेली, भिलोड़ी (भीली), गोंडी, कोरकू

कुल सीटें- 29

ख़बर
फोटो
वीडियो

Advertisement