नरोदा पाटिया नरसंहार : आजीवन कारावास काट रहे बाबू बजरंगी ने हाईकोर्ट से जमानत अर्जी वापस ली

नरोदा पाटिया नरसंहार : आजीवन कारावास काट रहे बाबू बजरंगी ने हाईकोर्ट से जमानत अर्जी वापस ली

अपनी जमानत याचिका में बजरंगी ने अपने खराब स्वास्थ्य को आधार बनाया था (फाइल फोटो)

अहमदाबाद:

बजरंग दल के पूर्व नेता बाबू बजरंगी ने गुजरात हाईकोर्ट न्यायालय से सोमवार को अपनी जमानत याचिका वापस ले ली. वह 2002 के नरोदा पाटिया नरसंहार मामले में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहा है.

फिलहाल साबरमती केंद्रीय कारागार में बंद बजरंगी ने जमानत याचिका वापस लेने का निर्णय किया, जिसकी सुनवाई न्यायमूर्ति हषर्दा देवानी और न्यायमूर्ति ए एस सुपेहिया की खंडपीठ के समक्ष चल रही है.

अपनी जमानत याचिका में बजरंगी ने अपने खराब स्वास्थ्य को आधार बनाया था, जिसमें 'अंधापन और एक कान में बहरापन' को कारण बताया था.

Newsbeep

अपनी पहली ही सुनवाई में हाईकोर्ट ने जेल अधिकारियों से कहा था कि अंधेपन के बाद वह जेल में कैसी जिंदगी बिता रहा है, इस बारे में विस्तृत ब्योरा दिया जाए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)