अहमदाबाद : शराब के साथ पकड़े गए युवकों के मित्रों ने थाने में किया पुलिसकर्मियों पर हमला

अहमदाबाद : शराब के साथ पकड़े गए युवकों के मित्रों ने थाने में किया पुलिसकर्मियों पर हमला

प्रतीकात्मक फोटो

अहमदाबाद:

बुधवार देर रात अहमदाबाद के शहर कोटडा पुलिस थाने में हुए हमले में दो पुलिस कांस्टेबल जितेंद्र मेहता और मनु परमार जख्मी हो गये। गुजरात में शराबबंदी के बावजूद रमेश गोहेल और शैलेष मकवाणा नाम के दो युवकों को शराब की बोतल के साथ पकड़ा गया। इन्हें छुड़ाने को पहुंचे युवकों के दोस्तों का पुलिस के साथ विवाद हुआ। इसी दौरान युवकों की ओर से किए गए हमले में पुलिसकर्मी घायल हो गए।

पुलिस ने दो युवकों रमेश गोहेल और शैलेष मकवाणा को शराब की बोतल के साथ पकड़ा था। उसे छुड़ाने उनके मित्र रणजीतसिंह तथा कुछ अन्य साथी आए थे। ये मांग कर रहे थे कि इन्हें रात को ही ज़मानत मिल जानी चाहिए। पुलिसकर्मियों ने इन युवकों को समझाया और बताया कि सुबह कोर्ट में पेश करके जमानत की कार्यवाही हो पायेगी। जब इन युवकों को पुलिस स्टेशन से बाहर जाने को कहा गया तब वे भड़क गए और पुलिस वालों पर डंडों और छुरी से हमला कर दिया। हमले में एक पुलिस कांस्टेबल के सर पर 19 टांके आए हैं। हमला करके युवक भाग गये, लेकिन रणजीतसिंह को पुलिस ने दो घंटे में ही धर दबोचा।

दो सप्ताह में ऐसी दूसरी घटना
ये घटना इस लिहाज से भी गंभीर है कि पिछले सप्ताह सबसे सुरक्षित समझी जाने वाली अहमदाबाद क्राइम ब्रान्च के भीतर एक आरोपी पुलिस कांस्टेबल की हत्या कर भाग गया था। दो सप्ताह में ये दूसरी घटना है जिसमें पुलिस थाने के अंदर ही पुलिस पर हमला हुआ। इससे पूरे पुलिस महकमे में चिंता है। पुलिसकर्मियों पर हुए हमले की घटना को लेकर अहमदाबाद के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर राजीव रंजन भगत का कहना है कि जो घटनायें घटी हैं वे निश्चित रूप से गंभीर हैं। असामाजिक तत्‍वों के खिलाफ कार्रवाई के दौरान ऐसा जोखिम तो रहता ही है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com