Budget
Hindi news home page

संन्यास का साल 2015 : इन दिग्गज क्रिकेटरों ने कहा खेल को अलविदा

ईमेल करें
टिप्पणियां
संन्यास का साल 2015 :  इन दिग्गज क्रिकेटरों ने कहा खेल को अलविदा

वीरेंद्र सहवाग (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: इस साल फरवरी में न्यूज़ीलैंड के कप्तान ब्रेंडन मैक्कलम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे। उधर मार्च में भारत ने विश्व कप नहीं जीता तो एमएस धोनी के भविष्य पर भी सवाल उठ सकता है। एक नज़र उन खिलाड़ियों पर जिन्होंने साल 2015 में क्रिकेट को अलविदा कह दिया।

मिचेल जॉनसन
क्रिकेट में साल 2015 कई क्रिकेटरों के करियर का आखिरी साल साबित हुआ। ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिचेल जॉनसन ने खराब फ़ॉर्म से जूझने के बाद क्रिकेट को अलविदा कहा। जॉनसन ने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ पर्थ टेस्ट में संन्यास का एलान किया। 34 साल के जॉनसन ने पर्थ टेस्ट की पहली पारी में 157 रन देकर सिर्फ एक विकेट लिया। जानकार उनकी फिटनेस और फ़ॉर्म पर सवाल उठाने लगे तो 73 टेस्ट में 313 विकेट झटक चुके जॉनसन ने अपने करियर का अंत करना मुनासिब समझा।

जहीर खान
ऑस्ट्रेलिया के जॉनसन के संन्यास के बाद भारत के लिए भी बुरी खबर रही। लंबे समय तक टीम इंडिया से बाहर रहे जहीर खान ने क्रिकेट को अलविदा कहा। अपने 15 साल के करियर में जहीर ने 92 टेस्ट में 311 विकेट लिए। अपने करियर के आखिरी दिनों में चोट से परेशान रहे जहीर, कपिल देव के बाद भारत के सबसे सफल तेज गेंदबाज हैं।


माइकल क्लार्क
2015 में माइकल क्लार्क के करियर पर भी पर्दा गिर गया। अपने करियर में 115 टेस्ट और 245 वनडे में खेलते हुए क्लार्क ने 16 हजार से ज्यादा रन बनाए बटोरे और ऑस्ट्रेलिया के महान खिलाड़ियों में अपना नाम दर्ज़ किया। क्लार्क को एक शानदार खिलाड़ी और कप्तान के तौर पर हमेशा याद किया जाएगा।

वीरेंद्र सहवाग
धमाकेदार बल्लेबाजी से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी पहचान बनाने वाले वीरेंद्र सहवाग के लिए भी बीसीसीआई से मोहभंग हो गया। करीब दो साल तक अपनी विदाई टेस्ट के इंतजार में सहवाग ने बिताए लेकिन बीसीसीआई ने उन्हें तवज्जो नहीं दी। आखिरीकार नजफगढ़ के नवाब ने संन्यास ले लिया। तबाड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए मशहूर वीरू की कमी उनके फ़ैन्स को जरूर खलेगी।

कुमार संगाकारा
कुमार संगाकारा के संन्यास से भारतीय क्रिकेट को भले ही फर्क न पड़ा हो लेकिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से एक महान बल्लेबाज की विदाई हुई। संगा की गिनती उन चुनिंदा बल्लेबाजों में होती है जिनके बल्ले से रन हमेशा बरसते रहे। 404 वनडे में संगा ने 14 हजार से ज्यादा रन बटोरे और अपने आखिरी वर्ल्ड कप में चार शतक भी बनाए। 134 टेस्ट में 12 हजार से ज्यादा रन के साथ 37 साल की उम्र में संगा ने क्रिकेट को अलविदा कहा।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement