NDTV Khabar

मोदी ने कहा, 'शहजादे' बताएं पैसा उनके 'मामा' ने दिए; कांग्रेस ने की माफी की मांग

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोदी ने कहा, 'शहजादे' बताएं पैसा उनके 'मामा' ने दिए; कांग्रेस ने की माफी की मांग
बेमेतरा (छत्तीसगढ़): भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद प्रत्याशी नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को छत्तीसगढ़ में पांच जनसभाओं को संबोधित किया जिसमें उन्होंने कांग्रेस और समाजवादी पार्टी (सपा) पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि कांग्रेस और केंद्र में उसे समर्थन दे रही सपा के लिए गरीब सिर्फ वोट का एक टुकड़ा है। दूसरी ओर कांग्रेस ने कहा कि नरेंद्र मोदी के भाषणों के स्तर में लगातार गिरावट आ रही है।

बेमेतरा के बेसिक स्कूल ग्राउंड में आयोजित जनसभा उन्होंने कहा कि कांग्रेस व सोनिया गांधी के नेतृत्व वाली संप्रग सरकार की नजर में गरीब सिर्फ एक वोट का टुकड़ा है। इस पार्टी को गरीबों की याद सिर्फ चुनाव के समय ही आती है।

वहीं, दुर्ग की रैली में उन्होंने सपा नेता नरेश अग्रवाल के इस बयान पर आपत्ति जताई कि 'चाय बेचने वाला कभी प्रधानमंत्री नहीं बन सकता।' मोदी ने कहा कि जूते पालिस करने वाले किसी व्यक्ति में भी यदि ऊर्जा और क्षमता हो तो शीर्ष पद पर पहुंच सकता है। अग्रवाल के इस बयान से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता, मगर सपा की सोच उजागर हो गई है। उन्होंने कहा, "मैंने अपना अतीत कभी किसी से नहीं छिपाया, हां छोटी उम्र में दो वक्त की रोटी जुटाने के लिए मैं ट्रेनों में चाय बेचा करता था।"    

मोदी ने कहा कि कांग्रेस के पास अब सत्ता में आने के लिए कोई रास्ता नहीं बचा तो अब वह आपके साथ धोखा कर सत्ता में आने की सोच रही है। इस बार के चुनाव को कांग्रेस ने जनता की आंखों में धूल झोंकने वाला चुनाव बना दिया है।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर अप्रत्यक्ष रूप से प्रहार करते हुए मोदी ने कहा, "दिल्ली से आए शहजादे कहते हैं कि केंद्र ने राज्य के विकास के लिए बहुत पैसे दिए, वह बताएं कि यह पैसा केंद्र के पास कहां से आया, क्या उनके मामा ने दिए हैं?" उन्होंने कहा कि कांग्रेस बताए कि उनका मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार कौन है? जब कांग्रेस के लोगों से पूछा जाता है तो वे दबे-छिपे रूप में अजीत जोगी का ही नाम लेते हैं, ऐसे में वह जोगी का नाम घोषित क्यों नहीं करती? उन्होंने कहा, "लगता है, जोगी से कांग्रेस को हार का खतरा है। हो भी क्यों न, एक तरफ छत्तीसगढ़ी हैं तो दूसरी तरफ धोखाधड़ी है।"
 
मोदी ने सीधे तौर पर नाम न लेते हुए सोनिया व राहुल पर कटाक्ष करते हुए कहा कि आजकल दिल्ली से लोग आकर आपसे वादे कर रहे हैं कि हम छत्तीसगढ़ को ये देंगे और वो देंगे। लेकिन उन्होंने आज तक क्या दिया। वे कहते रहते हैं कि हमने छत्तीसगढ़ को हजार करोड़ रुपये दिए।

मोदी ने प्रश्न किया, "क्या छत्तीसगढ़ की जनता कटोरा लेकर खड़ी है और दिल्ली से जो आ रहे हैं उसमें पैसे डालकर जा रहे हैं? ऐसा कहकर वे छत्तीसगढ़ की जनता का अपमान कर रहे हैं।"

मोदी ने टीवी पर व अखबार पर छप रहे विज्ञापन 'कांग्रेस लाओ छत्तीसगढ़ बचाओ' पर चुटकी लेते हुए कहा कि क्या छत्तीसगढ़ हिंदुस्तान में नहीं है? एक तरफ कांग्रेस कह रही है कि उसे पूरे देश की फ्रिक है और यहां छत्तीसगढ़ के साथ पराये जैसा व्यवहार कर रही है। उन्होंने कहा, "आप ही बताइए कि जहां भी कांग्रेस की सरकार है वो मुफ्त में चावल देती है? नहीं देती है..लेकिन यहां की भाजपा सरकार ने दिया है।"

मोदी यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि केंद्र में बैठीं मैडम सोनिया गांधी, और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि हम 100 दिनों में महंगाई कम करेंगे, लेकिन क्या हुए उनके वादे का? उन्हें सिर्फ जनता के साथ वादाखिलाफी करने आता है। उन्होंने कहा कि मैडम सोनिया छत्तीसगढ़ सरकार पर उंगली उठा रही हैं, मगर बोलने से पहले उन्हें इस पर भी गौर करना चाहिए कि छत्तीसगढ़ की तारीफ उनके नेता व प्रधानमंत्री भी कर चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण में 72 सीटों के लिए मतदान 19 नवंबर को होना है, पहले चरण में 11 नवंबर को 70 फीसदी से अधिक मतदान हुआ था।

टिप्पणियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement