NDTV Khabar

कैथल विधानसभा सीट: क्या एक बार फिर कांग्रेस का बना रहेगा दबदबा? या विपक्ष पार्टी खेलेगी नया दांव

हरियाणा विधानसभा चुनाव में कैथल सीट से कांग्रेस उम्मीदवार रणदीप सुरजेवाला ही रहेंगे, जो वर्तमान में कैथल विधानसभा सीट से विधायक भी हैं. हरियाणा राज्य में कैथल विधानसभा सीट काफी अहम माना जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैथल विधानसभा सीट: क्या एक बार फिर कांग्रेस का बना रहेगा दबदबा? या विपक्ष पार्टी खेलेगी नया दांव

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

हरियाणा विधानसभा चुनाव में कैथल सीट से कांग्रेस उम्मीदवार रणदीप सुरजेवाला ही रहेंगे, जो वर्तमान में कैथल विधानसभा सीट से विधायक भी हैं. हरियाणा राज्य में कैथल विधानसभा सीट काफी अहम माना जाता है. ऐसा इसलिए क्योंकि इस सीट पर साल 2005 से कांग्रेस का कब्जा है. पिछले दो विधानसभा चुनाव से रणदीप सिंह सुरजेवाला कैथल से विधायक है, जबकि उससे पहले उनके पिता शमशेर सिंह सुरजेवाला यहां से विधायक रहे. कैथल विधानसभा सीट कुरुक्षेत्र संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आता है. कैथल पहले कुरुक्षेत्र जिले का हिस्सा था. इस शहर को पहले कपिस्थल के रूप में जाना जाता था, जिसका अर्थ है "कपोदी का निवास". ऐसा माना जाता है कि इसकी स्थापना पांडव राजा युधिष्ठिर ने की थी.

रणदीप सिंह सुरजेवाला: जिंद उपचुनाव में हारने के बाद नई चुनौती के लिए रहना होगा तैयार


कैथल में 1967 से लेकर 2014 तक हुए कुल 12 विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस 6 बार जीती है. साल 2005 में इंडियन नेशनल लोकदल के विधायक लीला राम थे, उसी साल हुए विधानसभा चुनाव में शमशेर सिंह सुरजेवाला ने जीत हासिल करके कांग्रेस का कब्जा जमाया और अभी तक कांग्रेस का ही वर्चस्व बना हुआ है. 2014 के चुनाव में रणदीप सुरजेवाला ने इंडियन नेशनल लोकदल के नेता कैलाश भगत को मात दी थी. कैलाश भगत पिछले तीन बार से यह सीट हारते हुए आ रहे हैं. यहां पर रणदीप को 65524 वोट मिले थे, जबकि कैलाश को 41849 वोट मिले.

आदित्य ठाकरे: पहली बार चुनाव मैदान में ठाकरे परिवार का कोई भी सदस्य, जानें उनके जीवन से जुड़ी खास बातें

टिप्पणियां

हरियाणा के कैथल जिले में कुल 181246 मतदाता हैं और यहां का सेक्स रेसियो 863 है. ऐसा इसलिए क्योंकि कैथल में पुरुष 53.66 प्रतिशत और महिलाएं 46.34 प्रतिशत हैं. इस सीट की सबसे खास बात यह है कि यहां महिलाएं मतदान के लिए बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेती हैं. जिसकी वजह से पिछली बार करीब 83 प्रतिशत लोगों ने वोट डाला था. 15 अक्टूबर 2014 को हुए कैथल विधानसभा चुनाव के दौरान कुल 166 पोलिंग स्टेशन थे, जिसमें 151716 वोट पड़े थे. रणदीप सुरजेवाला ने 23675 वोटों से कैलाश भगत को हराया था.

Video:'प्रकाश जावड़ेकर अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement