पश्चिम तमिलनाडु में वामपंथी संगठन चला रहे लोगों को चुनाव से दूर रखने का अभियान

पश्चिम तमिलनाडु में वामपंथी संगठन चला रहे लोगों को चुनाव से दूर रखने का अभियान

प्रतीकात्मक तस्वीर

धर्मपुरी (तमिलनाडु):

एक ओर जहां चुनाव आयोग 100 प्रतिशत मतदान सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है वहीं दूसरी ओर धुर वामपंथी संगठन एक गंभीर अभियान चला रहे हैं और धर्मपुरी एवं कृष्णागिरी जिलों के गांवों में लोगों को मतदान से दूर रहने के लिए कह रहे हैं।

दूधिया उजले रंग की पृष्ठभूमि में चटक लाल रंग में लिखे पोस्टरों में कहा गया है कि, ‘‘चुनाव से समाधान मृगतृष्णा है, सच्ची लोकतांत्रिक क्रांति के लिए लोग हमारे साथ खड़े हों।’’ कृषि और कामगारों के कल्याण जैसे विशेष क्षेत्रों में काम कर रहे अलग-अलग धुर वामपंथी संगठनों ने ऐसे पोस्टर लगाए हैं।

इन संगठनों में विवासयीगल विदुथलई मुन्नानी (फार्मस लिबरेशन फ्रंट) और पुथिया जननायगा थोजिलालर मुन्नानी (न्यू डेमोक्रेटिक फ्रंट) शामिल है। वे अलग-अलग संगठनों के एक बड़े समूह के हिस्सा हैं जो लेनिन और माओ त्सेतुंग के राजनीतिक दर्शन से प्रेरित हैं।

Newsbeep

श्रमिकों की रिहायशी बस्तियों के आगे लगाए गये एक पोस्टर में हाल में बेंगलुरु में भविष्य निधि निकालने के नियमों के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों का हवाला दिया गया है और कामगार समाज से इससे ‘सबक सीखने’ को कहा गया है। मई दिवस के उपलक्ष्य में संगठन ने पेन्नाग्राम शहर के मुख्य बस टर्मिनल पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया था और कम्युनिस्ट नेता लेनिन के चित्र पर माल्यार्पण कर मजदूरों के कष्टों को समाप्त करने की कसमें खाई थी।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)