NDTV Khabar

दिलचस्प मुकाबले के लिए तैयार है सिलीगुड़ी, बाइचुंग भी हैं दौड़ में

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिलचस्प मुकाबले के लिए तैयार है सिलीगुड़ी, बाइचुंग भी हैं दौड़ में

भाईचुंग भूटिया (फाइल फोटो)

सिलीगुड़ी:

सिलीगुड़ी के महापौर और पूर्व मंत्री अशोक भट्टाचार्य के लिए वर्ष 2011 में संपन्न विधानसभा चुनाव में मिली औचक हार के बाद वापसी के लिए मंच तैयार है। इन चुनाव में भट्टाचार्य पूर्व भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी बाइचुंग भूटिया के खिलाफ मैदान में हैं। बाइचुंग तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार हैं।

माकपा के भट्टाचार्य ने पिछले साल सिलीगुड़ी के नगर निगम चुनाव में विपक्षी दलों को एकजुट करके तृणमूल कांग्रेस को हराया था। इसे अब ‘सिलीगुड़ी मॉडल’ के नाम से जाना जाने लगा है।

विधानसभा चुनाव में भी यह क्रम दोहराया जा रहा है। इस बार वाम और कांग्रेस ने तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ हाथ मिला लिए हैं। बाइचुंग की लोकप्रियता को ध्यान में रखते हुए 66 वर्षीय भट्टाचार्य कोई कसर नहीं छोड़ रहे।

उन्होंने कहा, ‘‘वर्ष 2011 के चुनाव हारने के बाद मैं भागा नहीं। मैं लोगों के साथ खड़ा रहा और उनके लिए लड़ाई लड़ी।’’ तृणमूल कांग्रेस ने इस बार नॉर्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज के डीन रूद्रनाथ भट्टाचार्य के स्थान पर बाइचुंग को उतारा है। रूद्रनाथ भट्टाचार्य ने वर्ष 2011 में माकपा के वरिष्ठ नेता को हराया था। बाइचुंग को उतारकर तृणमूल कांग्रेस उनकी लोकप्रियता को भुनाना और युवा मतदाताओं का समर्थन जुटाना चाहती है।


वर्ष 2011 में भट्टाचार्य के लिए प्रचार अभियान चलाने वाले बाइचुंग इस बार एक नई भूमिका में हैं और वह लोगों के साथ मिलजुलकर अपना जनसंपर्क मजबूत कर रहे हैं। कई युवा मतदाता उनके साथ सेल्फी खिंचवाते नजर आ रहे हैं। बाइचुंग ने विश्वास जताते हुए कहा, ‘‘हम एकजुट होकर काम कर रहे हैं। मेरी टीम अच्छा काम कर रही है। उम्मीद करता हूं कि लोग मेरे लिए वोट डालेंगे।’’
सिलीगु़ड़ी नगर निगम के 47 वार्डों में से 33 वार्ड इस विधानसभा क्षेत्र में शामिल हैं। इनमें से 15 पर वाम मोर्चे का और 11 पर तृणमूल कांग्रेस का अधिकार है। वाम के साथ गठबंधन करने वाली कांग्रेस के पास चार और भाजपा के पास दो वार्ड हैं।

राजनीतिक पर्यवेक्षकों का कहना है कि हालांकि भट्टाचार्य के पास थोड़ी बढ़त है लेकिन उनकी प्रमुख राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी तृणमूल कांग्रेस भी सीट बचाए रखने में कोई कसर नहीं छोड़ रही।

टिप्पणियां

पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने इस निर्वाचनक्षेत्र में प्रचार करके ‘सिलीगुड़ी मॉडल’ का मजाक उड़ाते हुए कहा था, ‘‘कॉमरेडों से पूछो कि उन्होंने लोगों को क्या दिया है?’’ उत्तर बंगाल का दौरा करने वाली ममता ने कहा कि उनकी सरकार ने क्षेत्र में विकास कार्य शुरू कराया। उन्होंने जनता से अपील की कि वे भट्टाचार्य को हराएं।

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement