NDTV Khabar

UP elections 2017: छठे चरण में 25 फीसदी करोड़पति, 126 दागी चुनावी मैदान में

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
UP elections 2017: छठे चरण में 25 फीसदी करोड़पति, 126 दागी चुनावी मैदान में

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

खास बातें

  1. 20 फीसदी यानी 126 प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले दर्ज
  2. बसपा की तरफ से सबसे ज्‍यादा दागी छवि वाले प्रत्‍याशी
  3. करोड़पतियों को टिकट देने के मामले में भाजपा अव्वल
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के महासमर में दागियों, आपराधिक छवि वालों और करोड़पति नेताओं के प्रति राजनीतिक दलों का प्रेम कम नहीं हो रहा है. पहले बीते पांच चरणों की तरह ही छठे चरण में भी 635 उम्मीदवारों में से 20 फीसदी यानी 126 प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं. वहीं 25 फीसदी करोड़पति चुनाव मैदान में उतरे हैं.

यह आंकड़े उत्तर प्रदेश इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्‍स (एडीआर) ने अपनी रिपोर्ट जारी करते हुए दिए हैं. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के छठे चरण में पूर्वांचल के सात जिलों की 49 सीटों पर चार मार्च को मतदान हो रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, छठे चरण में सभी राजनीतिक दलों से 635 उम्‍मीदवार चुनावी मैदान में है. सभी 635 प्रत्याशियों के नामांकन के समय दाखिल शपथ पत्रों के आकलन के बाद यह रिपोर्ट तैयार की गई है.

दागी छवि वालों को टिकट देने के मामले में इस चरण में बसपा 24 यानी 49 फीसदी प्रत्‍याशियों के साथ सबसे आगे हैं जबकि भाजपा के 18 यानी 40 फीसदी के साथ दूसरे नंबर पर है. छठे चरण में 15 यानी 38 फीसदी दागी सपा के टिकट से तो तीन यानी 30 फीसदी कांग्रेस की तरफ से चुनाव लड़ रहे हैं. रालोद के पांच यानी 14 फीसदी प्रत्याशी आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं.


छठे चरण में 17 फीसदी प्रत्याशियों पर हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण और महिला हिंसा जैसे गंभीर मामले दर्ज हैं. वहीं सबसे ज्यादा 73 फीसदी करोड़पति प्रत्याशी भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. बसपा ने 71 फीसदी तो सपा ने 70 फीसदी करोड़पतियों को मैदान में उतारा है.

छठे चरण के उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 1.58 करोड़ रुपये है. इस चरण में भी महज नौ फीसदी महिला प्रत्याशी मैदान में हैं. छठे चरण में सात जिलों आजमगढ़, बलिया, देवरिया, गोरखपुर, कुशीनगर, महराजगंज और मऊ की 49 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है.

एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, गंभीर अपराधियों को टिकट देने के मामले में बसपा 41 फीसदी के साथ सबसे आगे है. वहीं करोड़पतियों को टिकट देने के मामले में भाजपा अव्वल रही है. वहीं बसपा व सपा भी उससे ज्यादा पीछे नहीं हैं. छठे चरण के प्रत्याशियों में टॉप तीन अमीर बसपा के टिकट पर ही लड़ रहे हैं.

नामांकन के समय दिए गए शपथपत्र के मुताबिक, छठे चरण के सभी प्रत्याशियों में सबसे अमीर आजमगढ़ जिले की मुबारकपुर से बसपा के शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली 118 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ हैं. जबकि चिल्लूपार से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे विनयशंकर तिवारी के पास कुल 67 करोड़ की संपत्ति है.

टिप्पणियां

तीसरे सबसे अमीर प्रत्याशी नौतनवां, महराजगंज के बसपा प्रत्याशी एजाज अहमद हैं जिनकी कुल संपत्ति 52 करोड़ रुपये है. वहीं मऊ के बसपा प्रत्याशी मुख्तार अंसारी पर सबसे ज्यादा छह करोड़ का तो मुबारकपुर के बसपा प्रत्याशी गुड्डू जमाली पर दो करोड़ का कर्ज है.

जहां तक शैक्षिक योग्यता का सवाल है तो छठे चरण में मैदान में उतरे 53 फीसदी प्रत्याशी स्नातक या इससे ऊपर की शिक्षा प्राप्त है. इसके अलावा छठे चरण का चुनाव लड़ रहे सभी प्रत्याशियों में 67 फीसदी की आयु 25 से 50 साल के बीच है. इस चरण में दागी निर्वाचन क्षेत्रों की संख्या भी बढ़ गई है. इस चरण में 49 फीसदी निर्वाचन क्षेत्र दागी हैं. दागी या संवेदनशील ऐसे निर्वाचन क्षेत्र हैं जहां तीन या तीन से ज्यादा प्रत्याशी दागी हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement