यूपी के नए विधायकों में से 80 फीसदी करोड़पति, एक-चौथाई पर गंभीर आपराधिक मामले

यूपी के नए विधायकों में से 80 फीसदी करोड़पति, एक-चौथाई पर गंभीर आपराधिक मामले

भाजपा के 83 विधायकों ने अपने हलफनामे में गंभीर आपराधिक मामला होने की घोषणा की है

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए निवार्चित चार नए विधायकों में से एक हत्या या बलात्कार जैसे गंभीर आपराधिक मामलों में आरोपी है, जबकि 10 में से 8 विधायक करोड़पति हैं. यूपी इलेक्शन वॉच और एसोशिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की तरफ से जारी आंकड़े के मुताबिक विजयी उम्मीदवारों में 322 (80 फीसदी) करोड़पति हैं, जो 2012 में 271 या 67 फीसदी विधायकों की तुलना में ज्यादा है.

143 (36 फीसदी) विधायकों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं, जो 2012 के विधानसभा चुनावों की तुलना में कम है. 2012 विधानसभा चुनावों में 189 (47 फीसदी) विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले थे. इसके अलावा 107 विधायकों 26 (फीसदी) ने गंभीर आपराधिक मामलों की घोषणा की है और यह 2012 में 98 विधायक (24 फीसदी) की तुलना में बढ़ा है.

गंभीर आपराधिक मामलों में ऐसे अपराध शामिल हैं जिनमें अधिकतम पांच वर्ष या अधिक की सजा हो सकती है, गैर जमानती अपराध हैं, चुनाव से संबंधित अपराध हैं, राजस्व को नुकसान, हमला, हत्या, अपहरण, बलात्कार, भ्रष्टाचार और महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़े हुए मामले हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आठ विधायकों ने हत्या से जुड़े मामले घोषित किए हैं और 34 विधायकों ने हत्या के प्रयास से जुड़े मामले की जानकारी दी है. एक विधायक ने महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़ा मामला घोषित किया है. अध्ययन में कहा गया है कि भाजपा के 83, सपा के 11, बसपा के चार, कांग्रेस का एक और तीन निर्दलीय विधायकों ने अपने हलफनामे में गंभीर आपराधिक मामला होने की घोषणा की है. (इनपुट भाषा से)