NDTV Khabar

गोवा,मणिपुर में दूसरे नंबर की पार्टी कैसे बना रही सरकार? चिदंबरम ने बीजेपी पर लगाया जोड़तोड़ का आरोप

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गोवा,मणिपुर में दूसरे नंबर की पार्टी कैसे बना रही सरकार? चिदंबरम ने बीजेपी पर लगाया जोड़तोड़ का आरोप

पी चिदंबरम ने कहा है कि मणिपुर और गोवा में सरकार के गठन के लिए बीजेपी जोड़तोड़ कर रही है.

खास बातें

  1. चिदंबरम ने कहा, भाजपा को गोवा और मणिपुर में सरकार गठन का हक नहीं
  2. ट्वीट किया, बीजेपी ने गोवा और मणिपुर में सरकार बनाने के लिए जोड़तोड़ की
  3. दोनों राज्यों में गठित होने वालीं सरकारों की तस्वीरें जल्द साफ होंगी
नई दिल्ली: गोवा में सरकार बनाने को लेकर असमंजस में फंसी रही कांग्रेस अब बीजेपी की सरकार के गठन की कवायद पर जोड़तोड़ का आरोप लगा रही है. कांग्रेस ने कहा है कि बीजेपी को सरकार बनाने का अधिकार नहीं है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने सोमवार को कहा कि दूसरे नंबर पर आने वाली पार्टी को सरकार बनाने का कोई हक नहीं है.

चिदंबरम ने आरोप लगाया है कि मणिपुर और गोवा में जोड़तोड़ करके सरकार बनाई जा रही है. पी चिदंबरम ने अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट के माध्यम से ट्वीट किया कि "दूसरे नंबर पर आने वाली पार्टी को सरकार बनाने का कोई अधिकार नहीं है. बीजेपी ने गोवा और मणिपुर में सरकार बनाने के लिए जोड़तोड़ की है."

टिप्पणियां
रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने रविवार को गोवा का नया मुख्यमंत्री नियुक्त किया है. उन्होंने पर्रिकर से गोवा विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए कहा है. गोवा विधानसभा में 40 सदस्य हैं. पर्रिकर को इनमें से 21 विधायकों का समर्थन प्राप्त है. बीजेपी के 13 विधायक है. इसके अलावा गोवा फॉरवर्ड पार्टी व महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के तीन-तीन विधायकों और दो निर्दलीय विधायकों का समर्थन बीजेपी को मिल रहा है.

उधर मणिपुर में राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला द्वारा सरकार गठन के लिए बीजेपी नेताओं को आमंत्रित किए जाने की संभावना है. मणिपुर में कुल 60 विधानसभा सीटें हैं. बताया जाता है कि बीजेपी को 32 विधायकों का समर्थन मिल रहा है. बीजेपी ने रविवार को राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश किया था. यहां बीजेपी ने विधानसभा की 21 सीटें जीती हैं. बताया जाता है कि नागा पीपुल्स फ्रंट और नेशनल पीपल्स फ्रंट के चार-चार विधायकों तथा एआईटीसी, लोजपा के एक-एक और एक निर्दलीय विधायक का समर्थन बीजेपी को मिलने की आशा है. अगले एक-दो दिनों में इन दोनों राज्यों में गठित होने वालीं सरकारों की तस्वीरें साफ होने की उम्मीद है.
(इनपुट एजेंसी से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement