NDTV Khabar

मणिपुर चुनाव परिणाम : किसी को स्‍पष्‍ट बहुमत नहीं, सहयोगियों के साथ मिलकर सरकार बना सकती है कांग्रेस

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मणिपुर चुनाव परिणाम : किसी को स्‍पष्‍ट बहुमत नहीं, सहयोगियों के साथ मिलकर सरकार बना सकती है कांग्रेस

मणिपुर चुनाव परिणाम 2017 : 60 सीटों पर आना है फैसला (फाइल फोटो, इबोबी सिंह)

नई दिल्ली:

ज्यादातर सीटों के परिणाम आने के बाद त्रिशंकु विधानसभा की ओर बढ़ रहे मणिपुर में प्रांतीय कांग्रेस प्रमुख टीएन हाओकिप का कहना है कि उनकी पार्टी ‘‘समान विचारों वाले और क्षेत्रीय दलों के साथ मिलकर’’ प्रदेश में अगली सरकार बनायेगी. मणिपुर के 60 सदस्यीय विधानसभा चुनाव के अबतक आये परिणाम के अनुसार, किसी दल को 31 सीटों के साथ स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने वाला. अब तक घोषित नतीजों के अनुसार कांग्रेस को 26 सीटें मिली हैं जबकि बीजेपी के खाते में 20 सीटें गई हैं.

मणिपुर प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख हाओकिप ने कहा, ‘हमें विश्वास है कि मणिपुर में हम अगली सरकार बनाएंगे. हमने समान विचारों वाले और क्षेत्रीय दलों के साथ बातचीत शुरू कर दी है.’ नेशनल पीपुल्स पार्टी और नगा पीपुल्स फ्रंट दोनों को चार-वार सीटें मिली हैं. लोजपा और ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस को एक-एक सीट मिली है.

यह पूछने पर कि क्या कांग्रेस एनपीएफ के साथ गठबंधन करेगी, प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, ‘कांग्रेस कभी भी एनपीएफ और भाजपा के साथ गठबंधन नहीं करेगी. हालांकि अन्य दलों के साथ गठबंधन के रास्ते खुले हैं.’
 

Manipur Assembly Election Results 2017: मणिपुर विधानसभा चुनाव के सबसे तेज़, सबसे सटीक परिणाम पाने के लिए यहां क्लिक करें...


@3:31 बीजेपी 18 सीटों पर जीती, कांग्रेस 16 पर, एनपीएफ 3 और अन्य 3

@2:51 बीजेपी 15 सीटों पर जीती, कांग्रेस 14 पर, एनपीएफ 3 और अन्य 4

@2:29 मणिपुर में बीजेपी सरकार के आसार, सहयोगियों की मदद से सरकार बनाएगी BJP- सूत्र

@2:04 एएनआई के मुताबिक, बीजेपी 13 सीटों पर जीती, कांग्रेस 13 पर, NPF- 3, अन्य 3

@1:26 बजे इबोबी समर्थक मना रहे जश्न...

 
manipur
@1:17 बजे-  60 सीटों पर नतीजे आने शुरू, कांग्रेस 10 सीटों पर जीती, बीजेपी 7 पर, एनपीएफ 3 और अन्य को 4 सीटें मिलीं

@ 01:00 बजे- मणिपुर विधानसभा चुनाव 2017 : सीएम इबोबी सिंह से बुरी तरह से हारीं 'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने क्या कहा था...

@12:54 बजे- 50 सीटों के रुझान आ चुके, कांग्रेस 22, बीजेपी 15 और लेफ्ट को 1 सीट

@11: 40 बजे-  मणिपुर से आए चुनावी नतीजों में बीजेपी के सापम रंजन सिंह ने कांग्रेस के कोनथौजम को हराया

@11: 20 बजे- 43 सीटों के रुझानों में 24 कांग्रेस, बीजेपी 14 और अन्य को 5 पर बढ़त मिलता दिख रहा है

@10: 38 बजे- हमारे रिपोर्टर रत्नदीप चौधरी के मुताबिक, इरोम को थौबल में महज 51 सीटें मिलीं हैं

@10: 30 बजे- 36 सीटों पर रुझान आए, कांग्रेस 18 बीजेपी 13 और लेफ्ट 1 पर आगे

@10: 15 बजे-  थौबल से इरोम शर्मिला हार गई हैं जबकि सीएम इबोबी सिंह जीतगए हैं

@10: 10 बजे- 30 सीटों पर रुझान आए, कांग्रेस 16 बीजेपी 10 और अन्य 4 पर आगे

@9: 54 बजे- 23 सीटों पर रुझान आए, कांग्रेस 12 बीजेपी 7 और अन्य 4 पर आगे

@9: 35 बजे- 18 के रुझान सामने आए, 10 पर कांग्रेस आगे, 5 पर बीजेपी और अन्य 3 सीटों पर आगे

@9: 05 बजे- 7 सीटों के रुझानों में कांग्रेस को 5, बीजेपी 1, अन्य 1 पर आगे

@8: 52 बजे- दो रुझान कांग्रेस के खाते में, 1 बीजेपी और 1 अन्य के खाते में 

@8: 37 बजे-  न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक थौबल से सीएम ओकराम इबोबी चल आगे चले रहे हैं.

@8: 27 बजे- मणिपुर से पहला रुझान आया. यह कांग्रेस के खाते में गया. जबकि दूसरा रुझान अन्य के खाते में गया.

@8: 25 बजे-  इरोम शर्मिला ने कहा, यदि वह इस बार हार गईं तो अगली बार 2019 में फिर से चुनाव लड़ेंगी. वह मुख्यमंत्री इबोबी सिंह के खिलाफ थौबल से चुनाव लड़ी हैं.

irom sharmila manipur elections 2017

@8:15 बजे- एएनआई के मुताबिक इरोम शर्मिला ने कहा, राजनीतिक पार्टियों ने धन बल शक्ति का खुला इस्तेमाल किया

टिप्पणियां

@8:00 बजे- न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक 54 मतगणना केंद्रों पर 117 सीटों के लिए वोटों की गिनती शुरू हो चुकी है.

@7:30 बजे- मुख्यमंत्री इबोबी सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस ने चुनाव लड़ा है लेकिन पिछले 6 माह से असम की तर्ज पर कांग्रेस के नेताओं के कांग्रेस छोड़कर बीजेपी का दामन थामा है. इस चरण में सभी की नजरें थौबल निर्वाचन क्षेत्र में मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह और मानवाधिकार कार्यकर्ता इरोम शर्मिला के बीच मुकाबले पर टिकी हुई हैं. इरोम ने सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम, 1958 के खिलाफ बीते साल अपने 16 साल लंबे अनशन को तोड़कर अब इस कानून को निरस्त करने के लिए राजनीति में प्रवेश किया है. उन्होंने कानून को संवैधानिक तरीके से खत्म करने का वादा किया है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement