NDTV Khabar

जनता ने जातिवाद-परिवारवाद की राजनीति करने वालों को नकारा : केशव प्रसाद मौर्य

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जनता ने जातिवाद-परिवारवाद की राजनीति करने वालों को नकारा : केशव प्रसाद मौर्य

यूपी बीजेपी अध्‍यक्ष केशव प्रसाद मौर्य (फाइल फोटो)

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने राज्‍य में बीजेपी की जीत के बाद कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जादू बरकरार है और प्रदेश की जनता ने उनमें पूरा विश्वास व्यक्त किया है, तभी भाजपा ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की है. मौर्य ने संवाददाताओं से कहा, ‘उत्तर प्रदेश की जनता ने भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी को अस्वीकार कर दिया है. जातिवाद और परिवारवाद की राजनीति करने वालों को नकार दिया है.’ उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस ने केन्द्र में भ्रष्टाचार किया जबकि सपा और बसपा ने प्रदेश में भ्रष्टाचार किया.. एक्सप्रेसवे तो पसंद है लेकिन लोगों को भ्रष्टाचार, गुंडागर्दी, जमीन पर कब्जा नहीं पसंद है. अपराधी के साथ जाति और धर्म के आधार पर भेदभाव कर कार्रवाई नहीं पसंद है.’

मौर्य ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश की जनता के सामने अपने ‘लोक कल्याण संकल्प पत्र’ के माध्यम से सुशासन, विकास और रोजगार का विस्तृत रोडमैप रखा. भाजपा केन्द्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक रविवार को है, जिसमें आगे की रणनीति तय की जाएगी. उन्होंने कहा कि भाजपा ने चुनाव से पहले जनता से जो वायदे किये हैं, उन्हें पूरा करेगी. प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केन्द्र और भाजपा की उत्तर प्रदेश की सरकार के कार्यकाल में राज्य के विकास की गति और तेज होगी.

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा मुखिया अखिलेश यादव की ओर से उठाये गये सवाल पर मौर्य ने कहा, ‘उन्हें जनता के आदेश को स्वीकार करना चाहिए. सवाल उठाना जनादेश का अनादर और अपमान है. मायावती चार बार मुख्यमंत्री रहीं. उनकी घबराहट मैं समझ सकता हूं. मेरी उनसे पूरी सहानुभूति है. जिन्होंने दलितों और पिछड़ों के वोट बेचकर नोट एकत्र किया, उन्हें जनता ने नकार दिया.’

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सपा का शासन था और अखिलेश अभी भी मुख्यमंत्री हैं. ऐसे में इस तरह के सवाल उठाने का मतलब अखिलेश स्वयं पर सवाल उठा रहे हैं. ‘आपकी (मायावती और अखिलेश) पीड़ा समझ सकता हूं. भाजपा की जीत स्वीकार करें. सपा और बसपा की हार हुई है.’ मौर्य ने कहा कि भाजपा की जीत के पीछे चार कारण हैं. पहला यह कि मोदी के प्रति जनता का विश्वास कायम है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में भाजपा की चुनावी रणनीति बनी. उत्तर प्रदेश भाजपा की पूरी टीम, क्षेत्र के पदाधिकारी, जिलों और मंडल के पदाधिकारी, बूथ कार्यकर्ताओं ने पूरी ताकत लगायी और दस महीने मेहनत की, जिसके दम पर भाजपा ने ऐतिहासिक सफलता अर्जित की.

उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश का कोई ऐसा जिला नहीं है, जिसमें भाजपा ने जीत ना दर्ज की हो. लगभग सभी जिलों में जीत दर्ज की है.’ मौर्य ने कहा कि विपक्ष ने ‘नोटबंदी’ को चुनावी मुद्दा बनाया. ‘मैं मानता हूं कि नोटबंदी का विरोध करने वालों को उत्तर प्रदेश की जनता ने नकार दिया और मोदी जी के निर्णय का समर्थन किया है. जहां कहीं पर भी देश की जनता को अवसर मिला, नोटबंदी का विरोध करने वालों को ऐसी सजा दी कि कहीं भी भाजपा का मुकाबला करते नजर नहीं आये.’ प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता ने ‘अबकी बार 300 पार’ के नारे को यथार्थ में बदलकर दिखा दिया. भाजपा गठबंधन 325 सीटें मिली हैं.

मौर्य ने जानकारी दी कि 62 सीटों पर भाजपा उम्मीदवार 50 हजार से अधिक वोटों से जीते. चार प्रत्याशी एक लाख से ऊपर मतों से विजयी हुए. नोएडा से भाजपा प्रत्याशी पंकज सिंह एक लाख 50 हजार 685 मतों से जीते. ये जीत का सबसे बड़ा अंतर है. पंकज सिंह केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र हैं. उन्होंने बताया कि 42 प्रतिशत मतदाताओं ने गठबंधन के सहयोगियों सहित भाजपा को वोट दिये. मोदी का जादू और भाजपा के नेतृत्व में विश्वास तथा मोदी सरकार के कार्यों को उत्तर प्रदेश की जनता ने समर्थन दिया है. जो समर्थन 2014 में दिया था, वही 2017 में भी दिया और ‘‘मुझे पूर्ण विश्वास है कि 2019 में और बड़े अंतर से हम लोकसभा चुनाव जीतेंगे.’

टिप्पणियां
मौर्य ने मोदी, शाह के अलावा भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और उत्तर प्रदेश प्रभारी ओम माथुर का धन्यवाद किया. उन्होंने जीत का श्रेय मोदी, शाह के अलावा भाजपा कार्यकर्ताओं और प्रदेश के मतदाताओं को दिया. उन्होंने कहा कि ये उत्तर प्रदेश के गरीब और युवा की जीत है. मोदी सरकार ने जो योजनाएं चलायीं, उनकी जीत है. साथ ही शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने के लिए चुनाव आयोग और पुलिस प्रशासन को बधाई दी तथा मीडिया का धन्यवाद किया.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement