NDTV Khabar

पहली प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बोले सीएम योगी आदित्‍यनाथ, 'हमारी सरकार बिना भेदभाव के काम करेगी'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पहली प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बोले सीएम योगी आदित्‍यनाथ, 'हमारी सरकार बिना भेदभाव के काम करेगी'

मीडिया से रूबरू यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ

खास बातें

  1. मुख्‍यमंत्री ने कहा, 'यूपी की व्‍यवस्‍था चाकचौबंद रखने के लिए हम सजग हैं'
  2. 'सरकारी नौकरियों में नियुक्तियों को भ्रष्‍टाचार मुक्‍त बनाया जाएगा'
  3. खेती को उत्तर प्रदेश के विकास का आधार बनाया जाएगा
लखनऊ: यूपी के मुख्‍यमंत्री का कार्यभार संभालने के बाद योगी आदित्‍यनाथ पहली बार मीडिया से रूबरू हुए. शपथ ग्रहण के बाद मुख्यमंत्री ने कैबिनेट सहयोगियों के साथ बैठक की. बैठक के बाद अपनी पहली प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि यूपी के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है और राज्‍य के विकास के लिए हमारी सरकार पूरी तरह कृतसंकल्पित है. उन्‍होंने कहा, 'हम प्रदेश की जनता को पूरी तरह आश्‍वस्‍त करना चाहते हैं कि राज्‍य सरकार उत्तर प्रदेश को विकास और खुशहाली के रास्‍ते पर तेजी से आगे बढ़ाने के लिए जो भी कदम उठाने की जरूरत होगी उसमें कोई कसर नहीं छोड़ेगी.'

उन्होंने विकास और सुशासन के लिए भाजपा को भारी समर्थन देने के लिए प्रदेश की जनता के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा, ‘लोक कल्याण के प्रति समर्पित ये सरकार बिना किसी भेदभाव के समाज के सभी वर्गों के लिए समान रूप से कार्य करेगी. शासन और प्रशासन को संवेदनशील एवं जवाबदेह बनाया जाएगा.’ योगी ने कहा, ‘‘15 वर्षों में उत्तर प्रदेश विकास की दौड़ में काफी पिछड़ गया है. इस अवधि में यहां सत्ता पर काबिज रही सरकारों ने भ्रष्टाचार और परिवारवाद के साथ साथ कानून व्यवस्था की बदहाल स्थिति से जनता को भारी नुकसान पहुंचाया है, इसलिए हमारी सरकार आम जनता के कल्याण के लिए और उनके उत्थान के लिए अविलंब प्रभावी कार्रवाई शुरू करेगी.’ योगी ने मुख्यमंत्री बनने के बाद अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उत्तर प्रदेश ‘एकात्म मानववाद’ के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्मभूमि और कर्मभूमि रही है. उनके ‘अंत्योदय’ के सपने को साकार करने के लिए हमारी सरकार कृत संकल्प है.

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार भाजपा के लोक कल्याण संकल्प पत्र 2017 के सभी वायदों को पूरा करने के लिए कृतसंकल्प है. ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में केन्द्र में भाजपा की सरकार ने विकास और सुशासन के माध्यम से ‘सबका साथ सबका विकास’ का जो संकल्प लिया है, उसका पूरी तरह अनुसरण करते हुए प्रदेश सरकार राज्य की जनता की सेवा करेगी.’’ योगी ने कहा कि आवास, भोजन, पेयजल और शौचालय जैसी बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति के साथ साथ कानून व्यवस्था चाक-चौबंद रखने के लिए सरकार निरंतर सजग तरीके से कार्य करेगी. प्रदेश में शिक्षा का उन्नयन, युवाओं के लिए रोजगार के अवसरों में वृद्धि, आम जनता को स्वास्थ्य और परिवहन की अच्छी सुविधा प्राप्त हो, भाजपा सरकार इस दिशा में ठोस प्रयास करेगी.

मुख्‍यमंत्री ने कहा, 'यूपी की व्‍यवस्‍था चाकचौबंद रखने के लिए हम सजग हैं. प्रदेश में शिक्षा का उन्‍नयन, युवाओं के लिए रोजगार के अवसरों में वृद्धि, आम लोगों को परिवहन की अच्‍छी सुविधा प्राप्‍त हो इसके लिए सरकार काम करेगी. युवाओं को कौशल विकास के आधार पर रोजगार के अवसर प्राप्‍त हों इसके लिए भी संवेदनशील तरीके से काम किया जाएगा.'

सरकारी नौकरियों का जिक्र करते हुए योगी ने कहा, 'सरकारी नौकरियों में नियुक्तियों को भ्रष्‍टाचार मुक्‍त और पारदर्शी बनाया जाएगा.' उन्‍होंने कहा कि राज्‍य की कानून व्‍यवस्‍था को दुरुस्‍त करने पर भी काम किया जाएगा और महिलाओं की सुरक्षा पर विशेष ध्‍यान दिया जाएगा. खेती के विकास की बात करते हुए उन्‍होंने कहा कि खेती को यूपी के विकास का आधार बनाया जाएगा और यूपी के ग्रामीण इलाकों के उत्‍थान पर विशेष ध्‍यान दिया जाएगा. गरीब, दलित और पिछड़ों के लिए काम करने की बात भी नए मुख्‍यमंत्री ने की. हालांकि छोटे किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे पर योगी आदित्‍यनाथ ने कुछ भी नहीं कहा, जबकि चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि यूपी में बीजेपी की सरकार बनने पर कैबिनेट की पहली बैठक में ही छोटे किसनों का कर्ज माफ करने संबंधी फैसला ले लिया जाएगा.

उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में परिवर्तन लाने का जो जनादेश भाजपा की सरकार को प्राप्त हुआ है, उसके सकारात्मक परिणाम जल्द दिखने लगेंगे. भाजपा ने चुनाव के पूर्व संकल्प पत्र रखा था और उसमें जो वायदे किये हैं, उनको पूरा करने के लिए हम कृतसंकल्प हैं.’

(इनपुट भाषा से...)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement