NDTV Khabar

यूपी चुनाव : मुरादाबाद की इस मुस्लिम बहुल सीट पर सपा-कांग्रेस और बीजेपी में सीधी टक्‍कर

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपी चुनाव : मुरादाबाद की इस मुस्लिम बहुल सीट पर सपा-कांग्रेस और बीजेपी में सीधी टक्‍कर

ठाकुरद्वारा में चुनाव प्रचार जोर-शोर से चल रहा है.

मुरादाबाद : मुरादाबाद से 60 किमी दूर ठाकुरद्वारा एक अहम व्‍यापार केंद्र है. इस अहम मुस्लिम बाहुल्य चुनाव क्षेत्र में इस बार सपा-कांग्रेस और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर है. अगर 2014 के लोक सभा चुनावों को आधार माना जाए तो यहां सपा-कांग्रेस को सिर्फ 1.5% की बढ़त मिली थी, यानी वोटिंग में मामूली फेरबदल से तस्वीर बिलकुल बदल सकती है. ठाकुरद्वारा उत्तर प्रदेश के सबसे पिछड़े इलाकों में गिना जाता है. इस चुनाव क्षेत्र में कुल 3.42 लाख वोटर हैं, जिनमे 1.45 लाख मुस्लिम मतदाता हैं, यानी 40% से भी ज्यादा यहां इस बार मुस्लिम वोटर्स निर्णायक भूमिका निभा सकते हैं.

यहां की सड़कें खराब हैं और बिजली-पानी की समस्या भी बहुत ज्यादा हैं. इस इलाके में नोटबंदी का सबसे ज्यादा असर छोटे कारोबारियों पर पड़ा है. लोहे के कारोबार से जुड़े रुस्तम कहते हैं कि नोटबंदी का असर अब भी झेलना पड़ रहा है.

टिप्पणियां
सपा-कांग्रेस के साझा उम्मीदवार नवाब जान ने हमें बताया कि विकास और नोटबंदी उनके लिए सबसे अहम चुनावी मुद्दा है. नवाब जान कहते हैं, "मुस्लिम मतदाता यहां शांति, सुरक्षा और विकास चाहता है. नोटबंदी की वजह से यहां के कारोबारी, किसान और मजदूरों का विश्वास बीजेपी से टूट गया है." इस चुनाव क्षेत्र का एक बड़ा हिस्सा ग्रामीण इलाकों में पड़ता है.

यहां से बीजेपी के उम्मीदवार राजपाल सिंह चौहान का दावा है कि मोदी सरकार ने अच्छा काम किया है और नोटबंदी यहां मुद्दा नहीं है. राजपाल सिंह चौहान ने एनडीटीवी से कहा, "इस बार बीजेपी को यहां मुस्लिम कम्युनिटी का भी सपोर्ट मिलेगा." उन्होंने कहा, "मोदी सरकार ने सभी का विकास किया है. मुस्लिम का भी." अब देखना होगा इस बार ठाकुरद्वारा के वोटर्स किसका साथ देते हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement