NDTV Khabar

वाराणसी की जनसभा में जब पीएम मोदी ने उतारी खुद की नकल- 'प्यारे देशवासियो...'

10 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. 'नोटबंदी की घोषणा होते ही सारा विपक्ष एक साथ आ गया'
  2. 'जिन्होंने इस देश को लूटा है वो अब परेशान होंगे'
  3. 'अब ईमानदारों का सम्मान होगा, उनकी जय-जयकार होगी'
वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को वाराणसी में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि जिन्होंने इस देश को लूटा है वो अब परेशान होंगे. प्रधानमंत्री ने पिछले साल 8 नवंबर की रात 8 बजे को नोटबंदी की घोषणा का जिक्र करते हुए खुद की नकल उतारी और कहा- 'मेरे प्यारे देशवासियो'...पीएम मोदी ने आगे कहा कि नोटबंदी की घोषणा होते ही सारा विपक्ष एक साथ आ गया और वो कहने लगे कि आम लोगों को परेशान किया जाएगा. यही नहीं हमेशा एक-दूसरे की धज्जियां उड़ाते रहने वाली सपा, कांग्रेस और बसपा इस मुद्दे पर तुरंत एक सुर में बोलने लगीं.

प्रधानमंत्री ने कहा, मैं ये साफ-साफ कह रहा हूं कि ईमानदारों को परेशान करने की कोई हिम्मत नहीं करेगा, देश में अब ईमानदारों का सम्मान होगा, उनकी जय-जयकार होगी. लोगों ने मुझे इस देश को ठीक करने के लिए चुना है. उन्होंने कहा, गया वो जमाना जब सिर्फ जाता ही जाता था, अब ऐसी सरकार आई है, जहां सिर्फ आ रहा है. हमारे आने के बाद घोटाले बंद हुए, पैसा आना शुरू हुआ. हर बनारसवासी को यह गर्व होगा कि आपके सांसद पर कोई दाग नहीं लगा है.

पीएम मोदी ने अखिलेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी में विकास में भेदभाव किया जा रहा है. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि विपक्ष का नारा है 'कुछ का साथ, कुछ का विकास'. प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वांचल को विकास की ऊंचाई पर ले जाना मेरा सपना और इस इलाके के विकास से यूपी नंबर-1 बनेगा.

पीएम मोदी ने कहा, बनारस कोई शहर नहीं है, बल्कि एक जीती जागती विरासत है. भारत के हर नागरिक को बनारस अपना शहर लगता है. पिछली सरकारें बनारस के विकास को लेकर सिर्फ तिकड़म करती रही हैं और उनका उद्देश्य सिर्फ चुनाव जीतना रहा है, लेकिन इन तिकड़मों से बनारस का कुछ नहीं हो सका. बनारस का आधुनिकीकरण, इसके कायाकल्प की जरूरत है और मेरा सपना है कि बनारस को एक विश्वस्तरीय आधुनिक शहर में तब्दील करूं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement