NDTV Khabar

कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर अमित शाह का बयान, कहा- नेहरू-गांधी परिवार से हुए तो ही मिलेगा यह पद 

अमित शाह (Amit Shah) ने बुंदेलखंड में जनसभाओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस के अन्य नेताओं पर भी हलमा किया. उन्होंने कहा कि देश में लोकतंत्र है और इसमें शासन करने का अधिकार किसी राजा-महाराजा को नहीं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर अमित शाह का बयान, कहा- नेहरू-गांधी परिवार से हुए तो ही मिलेगा यह पद 

अमित शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना

खास बातें

  1. अमित शाह ने कहा लोकतंत्र का मतलब ही लोग होते हैं
  2. एक परिवार चलाता है कांग्रेस को- अमित शाह
  3. मध्यप्रदेश चुनाव को लेकर कर रहे थे रैली
भोपाल:

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने एक बार फिर कांग्रेस पार्टी (Congress) पर हमला बोला है. उन्होंने मध्यप्रदेश में चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि अगर किसी को कांग्रेस अध्यक्ष बनना हो तो इसके लिए नेहरू-गांधी परिवार का सदस्य होना जरूरी है. इतना ही नहीं अमित शाह (Amit Shah) ने बुंदेलखंड में जनसभाओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस के अन्य नेताओं पर भी हलमा किया. उन्होंने कहा कि देश में लोकतंत्र है और इसमें शासन करने का अधिकार किसी राजा-महाराजा को नहीं, बल्कि जनता के दिलों पर राज करने वाले को होता है. कांग्रेस में अगर किसी को अध्यक्ष या प्रधानमंत्री बनना है, तो इसके लिए नेहरू-गांधी परिवार में जन्म लेना जरूरी है. वहीं भाजपा में कोई भी गरीब व्यक्ति यहां तक पहुंच सकता है.

यह भी पढ़ें: महाकाल की शरण में 'शिव भक्त' राहुल गांधी ने लगाई हाजिरी, की पूजा-अर्चना


भाजपा और कांग्रेस में यही अंतर है. उन्होंने कहा कि गरीब चाय बेचने वाले के घर जन्म लेने वाले मोदी आज प्रधानमंत्री हैं. गरीब किसान के घर जन्मे शिवराजसिह चौहान पिछले 15 वर्षो से प्रदेश को विकसित बनाने का काम कर रहे हैं. शाह ने कहा कि भाजपा में आगे बढ़ने के लिए सहारे की नहीं, योग्यता की जरूरत होती है, लोगों की सेवा के लिए दिल में तड़प होनी चाहिए. भाजपा प्रमुख ने कहा कि कांग्रेस एक राजा, एक महाराजा और एक उद्योगपति को लेकर चुनाव लड़ने चली है, लेकिन कांग्रेस में अभी कुछ भी तय नहीं है. हमारे सेनापति शिवराजसिह चौहान हैं, जिन्होंने 15 सालों में प्रदेश के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी.

यह भी पढ़ें: आगामी विधानसभा चुनावों की बंपर जीत को 2019 में 'सूनामी' में बदल देंगे: अमित शाह

इस दौरान उन्होंने महाराजा कह कर ज्योतिरादित्य सिंधिया की ओर इशारा किया. ज्योतिरादित्य की दादी विजयाराजे सिंधिया राजमाता कहलाती थीं, मगर भाजपा में थीं. ज्योतिरादित्य की एक बुआ यशोधरा शिवराज सरकार में मंत्री हैं और दूसरी बुआ वसुंधरा राजस्थान की मुख्यमंत्री हैं. यशोधरा व वसुंधरा 'महारानी' नहीं कहलातीं, क्योंकि दोनों भाजपा में हैं. शाह ने आगे कहा कि कांग्रेस और मिस्टर बंटाढार के शासनकाल में बुंदेलखंड और पूरे प्रदेश में कुछ घंटों के लिए ही बिजली मिलती थी, प्रदेश अंधेरे में डूबा रहता था. माताएं-बहनें अंधेरे में काम करती थीं, बच्चे पढ़ाई नहीं कर पाते थे. शिवराजसिह की सरकार ने प्रदेश में 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराई.

यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश में तो भाजपा की सरकार अंगद का पैर : अमित शाह

टिप्पणियां

गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है कि जब अमित शाह ने कांग्रेस पार्टी पर हमला बोला हो. इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने महागठबंधन' को विपक्षी दलों का ढकोसला करार दिया था. उन्होंने कांग्रेस पर भारत तोड़ने' का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि उसके विपरीत नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार भारत निर्माण' के लिए काम कर रही है. उन्होंने यहां भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के राष्ट्रीय कन्वेंशन को संबोधित करते हुए कहा कि एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत निर्माण पर ध्यान दे रहे हैं तो दूसरी तरफ महागठबंधन के नेता भारत तोड़ना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि मोदीजी कहते हैं कि गरीबी, बेरोजगारी और असुरक्षा हटाओ. लेकिन महागठबंधन के नेता कहते हैं कि मोदी हटाओ.

VIDEO: क्या कांग्रेस के विधायक टूटेंगे? 

महागठबंधन की आलोचना करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा था कि उनके पास न तो नीति, न नेता और न ही कोई सिद्धांत है. माओवादियों के साथ कथित संबंधों को लेकर महाराष्ट्र सरकार द्वारा हाल ही में सामाजिक कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर उन पर प्रहार करते हुए शाह ने कहा कि मैं राहुल गांधी को बताना चाहता हूं कि जो कोई भी भारत तोड़ो का नारा लगाएगा, वह सलाखों के पीछे होगा और उसे कभी माफ नहीं किया जाएगा. (इनपुट भाषा से) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement