जीत के लिए BJP मंत्री का अनोखा कारनामा: पहले अगरबत्ती जलाई, EVM को किया प्रणाम, फिर नारियल फोड़ डाला वोट

मतदान केंद्र पर पर मंत्री के साथ बड़ी संख्या में उनके समर्थक भी पहुंचे थे.

जीत के लिए BJP मंत्री का अनोखा कारनामा: पहले अगरबत्ती जलाई, EVM को किया प्रणाम, फिर नारियल फोड़ डाला वोट

ईवीएम की पूजा करते मंत्री दयालदास बघेल.

खास बातें

  • मंत्री के साथ मंतदान केंद्र पर बड़ी संख्या में समर्थक पहुंचे.
  • दूसरे चरण का मतदान मंगलवार को खत्म हो गया.
  • मंत्री ने की ईवीएम की पूजा.
रायपुर:

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (Chhattisgarh Assembly Elections 2018) के दूसरे चरण का मतदान मंगलवार को संपन्न हो गया. इस दौरान उम्मीदवार जीत के लिए अजीबो-गरीब कारनामे करते दिखाई दिए. बेमेतरा जिले के नवागढ़ विधानसभा के भाजपा उम्मीदवार और रमन सरकार के मंत्री दयालदास बघेल अगरबत्ती जलाकर मतदान केंद्र पहुंचे. इतना ही नहीं उन्होंने अगरबत्ती जलाकर पूरे बूथ का चक्कर काटा. इसके बाद नारियल हाथ में लेकर उन्होंने बकायदा ईवीएम मशीन को प्रणाम किया और मतदान केंद्र से बाहर आकर नारियल फोड़ा. 

यह सब करने के बाद बघेल ने अपना वोट डाला. मतदान केंद्र पर उनके साथ बड़ी संख्या में उनके समर्थक भी पहुंचे थे. पीठासीन अधिकारी ने मंत्री के इस तरह के कारनामों पर कोई भी आपत्ति नहीं की.


दूसरे और अंतिम चरण के लिए 76.34 फीसदी लोगों ने मतदान किया. मंगलवार को 19 जिलों के 72 विधानसभा सीटों के लिए मतदान हुआ. दूसरे चरण में 1079 उम्मीदवार मैदान में थे. इनमें से 113 अनुसूचित जाति और 176 अनुसूचित जनजाति वर्ग के उम्मीदवार थे. वहीं 119 महिला उम्मीदवार भी मैदान में थीं. दूसरे चरण की 72 सीटों में से 17 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए तथा नौ अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं. छत्तीसगढ़ में पहले चरण में राज्य के नक्सल प्रभावित बस्तर क्षेत्र के सात जिले और राजनांदगांव जिले की 18 सीटों के लिए इस महीने की 12 तारीख को मतदान हुआ था. इस दौरान इस क्षेत्र के 76 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने मतदान में भाग लिया था. राजस्थान, मध्य प्रदेश, मिजोरम और तेलंगाना के साथ 11 दिसंबर को मतों की गिनती की जाएगी.

छत्तीसगढ़: चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस, टीचर के पास EVM मिलने और कैश बांटने के सौंपे वीडियो

बता दें, साल 2013 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने दूसरे चरण की इन 72 सीटों में से 43 सीटों में जीत हासिल की थी. वहीं कांग्रेस को 27 तथा बहुजन समाज पार्टी को एक सीट में जीत मिली थी जबकि एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार की जीत हुई थी. राज्य में भारतीय जनता पार्टी पिछले 15 वर्षों से सत्ता में है. इस बार भाजपा 65 से अधिक सीटों पर जीत हासिल करके चौथी बार सरकार बनाने का लक्ष्य लेकर चुनाव मैदान में है. वहीं लंबे समय से सत्ता से दूर कांग्रेस को उम्मीद है कि जनता ने इस बार बदलाव के लिए वोट दिया है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मायावती-जोगी ने दिलचस्प बनाया चुनाव...

2019 का सेमीफाइनल: छत्तीसगढ़ में किसकी सरकार?