MP में लोगों से बोले कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष- आप मेरा ध्यान रखना, पार्टी जाए तेल लेने, देखें- VIDEO

यह पहला मौका नही था कि जब जीतू यूं अपने क्षेत्र में लोगों से मिलने पहुंचे हो. इसके पहले भी वे कई बार लोगों से सीधा रूबरू हो चुके हैं. 

MP में लोगों से बोले कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष- आप मेरा ध्यान रखना, पार्टी जाए तेल लेने, देखें- VIDEO

राऊ से विधायक हैं जीतू पटवारी

खास बातें

  • वीडियो हो रहा है वायरल
  • राऊ से विधायक हैं जीतू पटवारी
  • बयान से हो रही है फजीहत
भोपाल:

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव  के सियासी रण में सत्ता वापसी का पूरा जोर लगा रही कांग्रेस के इरादों को उनके अपने नेता ही कमजोर कर रहे हैं. अपना वोटबैंक उनके साथ हो पार्टी को भले ही वोट न मिले. कुछ इसी तरह के बाते करते हुए कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी करते हुए दिखाई दिए. राउ से कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी सोमवार को सुबह मार्निंग वॉक के दौरान ही अपने क्षेत्र की जनता से मिलने पहुंचे. यहां पटवारी ने अपने विधानसभा क्षेत्र के परिवारजनों से मुलाकात कर वोट देने की अपील की और बड़े बुजुर्गों से आशीर्वाद लिया. हालांकि यह पहला मौका नही था कि जब जीतू यूं अपने क्षेत्र में लोगों से मिलने पहुंचे हो. इसके पहले भी वे कई बार लोगों से सीधा रूबरू हो चुके हैं. लेकिन इस मुलाकात के दौरान उनकी जुबान फिसल गई और उन्होंने लोगों से कह दिया कि 'आप मेरा ध्यान रखना, आपको मेरी इज्जत रखनी है पार्टी जाए तेल लेने'. जीतू का अब ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, हालांकि वीडियो खुद जीतू द्वारा ही फेसबुक पर पोस्ट किया गया है. लेकिन वीडियो के आखिरी में की गई उनकी इस बात को उन्होंने ध्यान नहीं दिया और अब यह बोल सोशल मीडिया पर उन्हें ट्रोल कर रहे हैं.


देखें VIDEO

आखिर सामने आया दिग्विजय सिंह का दर्द, बताया क्यों नहीं जाते कांग्रेस की रैलियों में, देखें VIDEO


वहीं इस मामले में जीतू पटवारी का कहना है कि मेरे शब्दों का ग़लत प्रचार किया जा रहा है. क्षेत्र के वरिष्ठ सदस्य भी मेरे परिवार के सदस्य हैं. बीजेपी मेरी छवि धूमिल कर रही है, जनसंपर्क के दौरान मैंने बीजेपी के लिये ये शब्द कहे थे.

मध्य प्रदेश में कांग्रेस दरअसल अपने ही नेताओं के बयानों से परेशान है. कुछ दिन पहले ही पार्टी के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने कहा था कि वह इसलिए कांग्रेस की रैलियों में नहीं जाते हैं क्योंकि उनके बोलने से कांग्रेस के वोट कट जाते हैं. उनके इस बयान के बाद से पार्टी सकते में आ गई थी क्योंकि मध्य प्रदेश में दिग्विजय सिंह का अच्छा प्रभाव है और उनका यह बयान पार्टी को नुकसान पहुंचा सकता था. आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव  नवंबर में होंगे और कांग्रेस पूरी कोशिश कर रही है कि 15 सालों से सत्ता में काबिज बीजेपी को हराया जा सके.

MP, राजस्थान, छत्तीसगढ़ से भाजपा की विदाई, कांग्रेस की हो सकती है सत्ता में वापसी​

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com