NDTV Khabar

कांग्रेस-JDS गठबंधन में देवेगौड़ा की वजह से फंसा पेंच, बड़े बेटे को डिप्टी CM बनाने की मांग: सूत्र

चुनाव नतीजे आते ही कर्नाटक की राजनीति में उथल-पुथल मची हुई है. चुनाव बाद बने कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन में एक पेंच फंस गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस-JDS गठबंधन में देवेगौड़ा की वजह से फंसा पेंच, बड़े बेटे को डिप्टी CM बनाने की मांग: सूत्र

कांग्रेस-जेडीएस नेताओं ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा ठोका था

खास बातें

  1. एचडी देवेगौड़ा अपने बड़े बेटे रावन्ना को डिप्टी सीएम बनाना चाहते हैं
  2. कांग्रेस ने जेडीएस को बिना शर्त सरकार बनाने के लिए समर्थन दिया है
  3. कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों में से 222 पर चुनाव हुए थे
नई दिल्ली: चुनाव नतीजे आते ही कर्नाटक की राजनीति में उथल-पुथल मची हुई है. चुनाव बाद बने कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन में एक पेंच फंस गया है. सूत्रों के हवाले से ख़बर है कि कुमारस्वामी के पिता एचडी देवेगौड़ा अपने बड़े बेटे रावन्ना को डिप्टी सीएम बनाना चाहते हैं. इधर बहुमत से महज़ सात सीट दूर रही बीजेपी की विधायक दल की सुबह 10:30 बजे बैठक है, जिसमें येदियुरप्पा को पार्टी का नेता चुना जाएगा. उसके बाद सभी विधायक गर्वनर से मिलकर उनसे बीजेपी को सरकार बनाने का मौका देने का आग्रह करेंगे. 

कर्नाटक: AAP के सभी उम्‍मीदवारों की जमानत जब्‍त, BJP को फायदा, कांग्रेस को नुकसान

कांग्रेस विधायक दल की बैठक भी सुबह साढ़े आठ बजे होगी. अभी ये तय नहीं है कि सिद्धारमैया को ही पार्टी का नेता चुना जाएगा या फिर कोई और चेहरा आगे आएगा. कांग्रेस ने जेडीएस को बिना शर्त सरकार बनाने के लिए समर्थन दिया है.

कर्नाटक में JDS-कांग्रेस को मौका नहीं दिया गया, तो असर संसद में दिखेगा : शिवसेना

इससे पहले कल अंतिम नतीजे आने से पहले ही बीजेपी और फिर कांग्रेस-जेडीएस नेताओं ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा ठोका. दोनों पक्षों का कहना है कि पहले उन्हें सरकार बनाने का न्योता मिलना चाहिए. कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों में से 222 पर चुनाव हुए थे, जिसमें बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78, जेडीएस को 38 और अन्य को दो सीटें मिली हैं. 

कर्नाटक में BJP को बहुमत नहीं मिला, इसलिए PM मोदी हताश हैं: TMC

वहीं कर्नाटक के हुबली धारवाड़ सेंट्रल से देर रात BJP के जगदीश शेट्टर को विजयी घोषित किया गया. एक पोलिंग स्टेशन के EVM और VVPAT काउंट में मिसमैच होने की शिकायत के बाद परिणाम रोक दिया गया था. इधर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हुबली धारवाड़ में फिर से वोटिंग कराए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया. कर्नाटक में बेहतर प्रदर्शन के बाद दिल्ली में बीजेपी मुख्यालय पर हुए कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि कर्नाटक के नतीजों ने एक बार फिर बता दिया कि बीजेपी हिंदी भाषी या सिर्फ़ उत्तर भारत की पार्टी नहीं है. 

टिप्पणियां

इस मौक़े पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस इस बात से खुश है कि BJP को कर्नाटक में बहुमत नहीं मिला. शाह ने कहा कि कांग्रेस 122 से 77 सीटों पर आ गई लेकिन उन्हें अपनी हार नहीं दिख रही. BJP अध्यक्ष ने ये भी कहा कि पार्टी आने वाले सारे चुनाव जीतेगी और 2019 में मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनाएगी. 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement