कलेक्टर साहब को थी EVM की सुरक्षा की चिंता, तो 'सलीम-अनारकली' की तरह मशीन को दीवार में चुनवा दिया

मुगल बादशाह अकबर के बेटे सलीम और अनारकली की प्रेमकथा पर बनी फिल्म 'मुगल-ए-आजम' का किस्सा अब छत्तीसगढ़ में चुनावी हिस्सा हो हो गए हैं.

कलेक्टर साहब को थी EVM की सुरक्षा की चिंता, तो 'सलीम-अनारकली' की तरह मशीन को दीवार में चुनवा दिया

छत्तीसगढ़ के बेमेतरा में ईवीएम को दीवार में चुनवाया गया.

नई दिल्ली:

चुनावी राज्य छत्तीसगढ़ में बीते दिनों एक ऐसा नजारा देखने को मिला, जिससे एक बार फिर से 'मुगल-ए-आजम' की अनारकली और सलीम को दीवार में चुनवाने की यादें ताजा हो गईं. मुगल बादशाह अकबर के बेटे सलीम और अनारकली की प्रेमकथा पर बनी फिल्म 'मुगल-ए-आजम' का किस्सा अब छत्तीसगढ़ में चुनावी हिस्सा हो हो गए हैं. दरअसल हुआ कुछ यूं कि बेमेतरा जिले में सुरक्षा के लिहाज से मतदान के बाद ईवीएम मशीन को दीवार में ही चुनवा दिया गया. 

ओवररेटेड चुनाव आयोग का औसत काम, सांप्रदायिक बहसों पर क्यों नहीं लगाता लगाम

छत्तीसगढ़ में हुए दूसरे दौर के मतदान के बाद बेमेतरा में ईवीएम की सुरक्षा के लिए अनोखा तरीका निकाला गया. यहां मुगल-ए-आजम की अनारकली की तरह ईवीएम मशीन को भी दीवार में चुनवा दिया गया है. जिला निर्वाचन अधिकारी ने स्ट्रांग रूम के मुख्यद्वार पर दीवार चुनवा दी है, ताकि ईवीएम को गिनती के दिन तक सुरक्षित रखा जा सके. ऐसा माना जा रहा है कि ईवीएम की सुरक्षा के लिए ऐसा पहली बार किया गया है. 

जीत के लिए BJP मंत्री का अनोखा कारनामा: पहले अगरबत्ती जलाई, EVM को किया प्रणाम, फिर नारियल फोड़ डाला वोट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि बेमेतरा जिले के तीन विधानसभा क्षेत्र में कुछ मतदान केंद्रों को छोड़कर शेष स्थानों पर शांतिपूर्वक मतदान हुआ. देर रात तक ईवीएम मशीन बेमेतरा के स्ट्रांग रूम में पहुंचे. जहां बुधवार सुबह मंडी परिसर में कलेक्टर महादेव कावरे ने इवीएम मशीनों को सुरक्षित रखवाने के बाद दीवार में चुनवा दिया. बेमेतरा जिले में यह पहली बार हो रहा जब इवीएम मशीनों को दीवार पर चुनवाया गया है. अब 11 दिसंबर को मतगणना के दिन इवीएम मशीनों को निकाला जाएगा. 

VIDEO: 2019 का सेमीफाइनल इंट्रो: छत्तीसगढ़ का चुनावी संग्राम ख़त्म