मध्य प्रदेश में अंदर ही अंदर उबल रही है कांग्रेस? ज्योतिरादित्य सिंधिया को घेरकर समर्थकों ने कहा- हंसी उड़ाते हैं 'वो' लोग

एनडीटीवी को मिली जानकारी के मुताबिक चंबल और ग्वालियर इलाके के करीब 12 विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं.

मध्य प्रदेश में अंदर ही अंदर उबल रही है कांग्रेस? ज्योतिरादित्य सिंधिया को घेरकर समर्थकों ने कहा- हंसी उड़ाते हैं 'वो' लोग

ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों के बीच खड़े हैं

नई दिल्ली:

मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने कमलनाथ  को सीएम घोषित किया है और अब 17 दिसंबर को दोपहर करीब 1.30 बजे लाल परेड ग्राउंड में शपथ लेंगे. ऊपर से तो ऐसा लग रहा है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ज्योतिरादित्य  सिंधिया को मना लिया है. लेकिन एक ऐसा  वीडियो सामने आया है जिसको देखकर लगता है कि सिंधिया के खेमे के विधायक और समर्थक इसे अपनी हार मान रहे हैं. इस वीडियो में ज्योतिरादित्य को घेरकर उनके समर्थक कर रहे हैं कि 'वो' हमारी हंसी उड़ा रहे हैं. अब यह 'वो' कौन हो सकता है इसका अंदाजा लगाया जा सकता है. दरअसल सिंधिया के समर्थकों को लगता है कि जब राजस्थान में सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है तो मध्य प्रदेश में ऐसा प्रयोग क्यों नहीं किया जा सकता है.
 


कर्नाटक के बाद एक बार फिर दिखेगी विपक्षी एकता, जानें- राजस्थान, MP और छत्तीसगढ़ में शपथ ग्रहण में कौन-कौन होगा शामिल

एनडीटीवी को मिली जानकारी के मुताबिक चंबल और ग्वालियर इलाके के करीब 12 विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं. हालांकि ज्योतिरादित्य  सिंधिया ने भी उनको समझाने की कोशिश की है. गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने चुनाव से पहले किसी को भी सीएम पद का उम्मीदवार घोषित नहीं किया था क्योंकि इससे पार्टी के खेमों में बंटने की आशंका थी. लेकिन ऐसा लग रहा है कि पार्टी भले ही चुनाव के समय यह संकट टालने में कामयाब रही लेकिन अब फिर वही मुश्किल सामने आते दिख रही है.
 


सचिन के पक्ष में सड़कों पर उतरा गुर्जर समुदाय, सीएम नहीं बनाने पर कांग्रेस को बर्बाद करने की धमकी

अगर यही हाल रहा तो मध्य प्रदेश में कांग्रेस को सरकार चलाना मुश्किल हो जाएगा. कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में 114 सीटें मिली हैं, जबकि बीजेपी को 109 सीटें. बहुमत के लिए 116 सीटें चाहिए. कांग्रेस को बीएसपी ने बहुमत देने का ऐलान किया है. लेकिन अगर पार्टी दो खेमों बंटी तो विपक्ष के तौर पर राज्य में शिवराज सिंह चौहान जैसे कद्दावर नेता का सामना करना मुश्किल हो जाएगा. 

'पार्टी में मनमुटाव नहीं, सरकार चलाना हमें आता है'

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com